Create
Notifications

आईपीएल 2021 के आगे के मैचों को लेकर बड़ा फैसला लिया जा सकता है

आईपीएल ट्रॉफी
आईपीएल ट्रॉफी
Vivek Goel

कोरोना वायरस की दूसरी लहर ने आईपीएल 2021 (IPL 2021) में भी दस्‍तक दे दी है। कोलकाता नाइटराइडर्स (Kolkata Knight Riders) के दो खिलाड़ी कोविड-19 संक्रमित पाए गए, जिसके बाद सोमवार को रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर (Royal Challengers Bangalore) के खिलाफ उसके मुकाबले को स्‍थगित करने का फैसला किया गया। अब बीसीसीआई योजना बना रहा है कि आईपीएल के शेष मैचों का आयोजन सिर्फ मुंबई में हो।

इससे कोविड-19 संबंधित मामलों में कमी आएगी क्‍योंकि जिन दो स्‍थानों (दिल्‍ली और अहमदाबाद) पर इस समय मुकाबलों का आयोजन हो रहा है, वहां कई कोविड-19 मामले सामने आए हैं। अगर सभी चीजें योजना के मुताबिक हुई तो मुंबई आगामी सप्‍ताह से बाकी के मैचों की मेजबानी करता हुआ नजर आ सकता है।

अगर मुंबई को मैचों की मेजबानी सौंपी जाती है तो टूर्नामेंट के कार्यक्रम को दोबारा बनाना पड़ेगा क्‍योंकि आगे कई डबल हेडर मुकाबले होने हैं। एक और संभावना यह भी है कि आईपीएल के फाइनल की तारीख 30 मई से आगे बढ़ सकती है। जून के शुरूआती समय में आईपीएल 2021 का आयोजन किया जा सकता है।

बीसीसीआई के लिए सबसे बड़ी चुनौती उसकी मुंबई योजना में होगी आईपीएल बबल को तैयार करना, जिसमें आठों टीमों के लिए होटल खोजना और स्‍टेडियम को तैयार रखना शामिल होगा। मैच फिटनेस की बात करें तो खुशी की बात यह है कि मुंबई के तीनों स्‍टेडियम डीवाय पाटिल, वानखेड़े और ब्रेबोर्न का उपयोग आईपीएल के पहले चरण में किया गया था। जहां वानखेड़े ने 10 आईपीएल मैचों की मेजबानी की। वहीं अन्‍य दो मैचों और एमसीए के बांद्रा कुर्ला कॉम्‍प्‍लेक्‍स का टीमों ने ट्रेनिंग के लिए इस्‍तेमाल किया।

यह समझा जा सकता है कि बीसीसीआई टीम ने सोमवार को मुंबई में विभिन्‍न बड़े होटलों में कॉल करके स्‍पष्‍टीकरण लिया होगा कि अगर वह टीम बबल बनाने के लिए विभिन्‍न एसओपी की जरूरत को पूरा करने में सक्षम हैं। बीसीसीअई, आईपीएल और फ्रेंचाइजी के किसी अधिकारी से इस पर टिप्‍पणी नहीं मिली है। किसी ने औपचारिक रूप से ऐसी योजना नहीं सुनी है, लेकिन कुछ लोगों का कहना है कि उन्‍हें आश्‍चर्य नहीं होगा कि मुंबई की योजना पर काम किया जाए।

अगर ऐसा होता है तो कोलकाता और बेंगलुरु को झटका लगेगा क्‍योंकि बीसीसीआई के वास्‍तिवक कार्यक्रम के मुताबिक अगले चरण के मुकाबले इन दो शहरों में होना है। 7 मार्च को जो कार्यक्रम रिलीज किया गया था , उसमें 6 स्‍थानों- अहमदाबाद, बेंगलुरु, चेन्‍नई, कोलकाता, दिल्‍ली और मुंबई को चुना गया था। चेन्‍नई और मुंबई में पहले चरण के मुकाबले खेले गए। दूसरे चरण के मुकाबले इस समय अहमदाबाद और दिल्‍ली में खेले जा रहे हैं। अब कोलकाता और बेंगलुरु बचे हैं, जहां अगले सप्‍ताह से मैच शुरू होना हैं।

हालांकि, भारत इस समय कोविड-19 महामारी की दूसरी लहर से जूझ रहा है और आईपीएल बबल का उल्‍लंघन भी हो गया जहां दो खिलाड़ी, फ्रेंचाइजी के सदस्‍य और स्‍टाफ व ग्राउंड्समैन कोविड-19 से संक्रमित हुए। बीसीसीआई इस बात से चिंतित है कि यात्रा के दौरान क्‍या खामी हुई। जब आईपीएल शुरू हुआ तब मुंबई का सबसे बुरा हाल था, जहां रोजाना 10, 000 से अधिक मामले सामने आ रहे थे। अब जानकारी मिली है कि एक हिस्‍से में 17 मार्च के बाद सबसे कम मामले 2,662 सामने आए।

डब्‍ल्‍यूटीसी फाइनल पर पड़ेगा असर

अगर आईपीएल 30 मई से आगे खिचेगा तो भारत और न्‍यूजीलैंड के बीच साउथैम्‍प्‍टन में 18-22 जून तक होने वाले विश्‍व टेस्‍ट चैंपियनशिप के फाइनल पर भी असर पड़ेगा। ब्रिटेन ने भारत से यात्रियों का प्रवेश बंद कर रखा है। डब्‍ल्‍यूटीसी फाइनल का आयोजन कराने वाली आईसीसी इस समय ब्रिटिश सरकार से पृथकवास नियमों में बदलाव की गुजारिश में जुटी हुई है। बीसीसीआई अधिकारी ने कहा कि मुंबई में आईपीएल को आयोजित करने से भारत और न्‍यूजीलैंड के खिलाड़‍ियों को फायदा मिलेगा, जो इंग्‍लैंड के लिए एकसाथ रवाना हो सकते हैं।


Edited by Vivek Goel

Comments

Quick Links:

More from Sportskeeda
Fetching more content...