ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कोच के कड़े शब्दों से मिचेल स्टार्क को मिली प्रेरणा, तेज गेंदबाज ने किया खुलासा

New Zealand v Australia - Men
ऑस्ट्रेलिया के दिग्गज तेज गेंदबाज हैं मिचेल स्टार्क

न्यूजीलैंड और ऑस्ट्रेलिया (New Zealand vs Australia) के बीच 2 मैचों की टेस्ट सीरीज खेली जा रही है। इस सीरीज के पहले मैच में ऑस्ट्रेलियाई टीम ने कमाल का प्रदर्शन करते हुए जीत हासिल की थी और 1-0 की बढ़त बना ली है। वहीं इस सीरीज के बीच ऑस्ट्रेलिया के स्टार तेज गेंदबाज मिचले स्टार्क (Mitcell Starc) ने कहा कि कैसे पूर्व ऑस्ट्रेलियाई कोट टिम नीलसन के कड़े शब्दों ने उन्हें प्रेरित किया और उनके वह कड़ी बातें उनके कानों में आज भी गूंजते हैं।

मिचेल स्टार्क न्यूजीलैंड के खिलाफ दूसरे टेस्ट में दो विकेट लेने में कामयाब होते हैं तो वह ऑस्ट्रेलिया के पूर्व महान तेज गेंदबाज डेनिस लिली को पछाड़कर ऑस्ट्रेलिया के चौथे सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाज बन जाएंगे। इस उपलब्धि के पहले उन्होंने टिम नीलसन के साथ साल 2010 की बातों को याद करते हुए कहा कि ‘मैं अभी भी सीख रहा हूं कि वे सभी दर्द क्या थे रिपोर्ट्स फिजियो और सभी कोच के पास घूम रहे थे और मुझे थोड़ा सख्त रहने के लिए कहा गया। टिम ने मुझे इस बात से अवगत कराया कि मुझे जल्दी ही आ जाना चाहिए। आपके पास मेडिकल स्टाफ के साथ ईमानदार होने के लिए बहुत वक्त होता है लेकिन कई बार आपको यह पता चल जाता है कि चीजों को कब आगे बढ़ाना है।’

मिचेल स्टार्क वर्ल्ड कप के पहले भी पूरी तरह से फिट नहीं थे। उन्होंने वर्ल्ड कप के लिए बड़ी मुश्किल से थोड़ी बहुत ट्रेनिंग की थी और उन्हें इंजरी से बचने के लिए रनअप में भी बदलाव करना पड़ा था। मिचेल स्टार्क ने आगे कहा कि ‘इसमें बहुत सारा काम होता है लोग बहुत सारे काम को नहीं देख पाते हैं चाहे वह रिहैब हो या छोटी-मोटी चोटों से उबरना हो। खिलाड़ियों के लिए इस दौरान कई सुबह काफी दर्द भरी होती है।’ आपको बता दें कि मिचेल स्टार्क ने अपने टेस्ट करियर में अब तक 88 मैच खेले हैं। इस दौरान उन्होंने 354 विकेट अपने नाम किए हैं।

Quick Links

Edited by Rahul