सनराइजर्स हैदराबाद के सहायक कोच पद के लिए कैटिच की जगह साइमन हेलमट ने ली

सनराइजर्स हैदराबाद के सहायक कोच पद के लिए कैटिच की जगह साइमन हेलमट ने ली
सनराइजर्स हैदराबाद के सहायक कोच पद के लिए कैटिच की जगह साइमन हेलमट ने ली

सनराइजर्स हैदराबाद (Sunrisers Hyderabad) ने पुष्टि कर दी है कि सहायक कोच साइमन कैटिच (Simon Katich) ने फ्रेंचाइजी से अपना नाता तोड़ लिया है। हैदराबाद फ्रेंचाइजी ने कहा कि कैटिच ने पारिवारिक कारणों और बायो-सुरक्षा पाबंदियों के कारण खुद को उपलब्‍ध नहीं बताया है।

फ्रेंचाइजी के प्रवक्‍ता ने शुक्रवार को क्रिकबज से बातचीज में कहा, 'साइमन कैटिच को प्री आईपीएल शिविर सहित नियंत्रित बायो-बबल में दो से तीन महीने गुजारने की जरूरत थी। कैटिच का मानना है कि नियंत्रित बायो-बबल में यह लंबा समय हो जाता। उन्‍होंने अपने पारिवारिक कारणों का उल्‍लेख किया और हम उन्‍हें रिलीज करने पर सहमत हो गए हैं।'

सनराइजर्स हैदराबाद ने साइमन हेलमट को कैटिच की जिम्‍मेदारी लेने के लिए नियुक्‍त किया था। 50 साल के हेलमट पहले 2012 से 2019 तक हैदराबाद टीम के कोचिंग स्‍टाफ का हिस्‍सा रहे हैं। उन्‍होंने हाल ही में सीपीएल में ट्रिनबागो नाइटराइडर्स की कोचिंग की थी।

दो महीने से कम समय के पहले कैटिच को सनराइजर्स हैदराबाद का सहायक कोच नियुक्‍त किया था। वह इससे पहले केकेआर और आरसीबी के साथ काम कर चुके हैं। पिछले साल, पारिवारिक कारणों से कैटिच ने यूएई चरण में आरसीबी के साथ अपना कार्यकाल छोटा किया था।

साइमन कैटिच और सनराइजर्स हैदराबाद के हेड कोच टॉम मूडी की इस मामले पर अब तक कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है जबकि ऑस्‍ट्रेलियाई मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक कैटिच जिस तरह टीम का प्रबंधन किया जा रहा था, उससे सहमत नहीं थे और उनका मानना था कि नीलामी के पहले की योजना का सम्‍मान नहीं किया गया।

कैटिच ने बेंगलुरु में संपन्‍न दो दिवसीय नीलामी में हिस्‍सा लिया था, जहां टॉम मूडी सहित सपोर्ट स्‍टाफ के अन्‍य सदस्‍य ब्रायन लारा, मुथैया मुरलीधरन और हेमंग बदानी भी शामिल थे। फ्रेंचाइजी के प्रतिनिधियों को फोन पर नीलामी प्रक्रिया के दौरान किसी से बातचीत करते हुए देखा गया और बात में पता चला कि वह केन विलियमसन से बात कर रहे थे जो अगले सीजन में फ्रेंचाइजी की कमान संभालेंगे।

सनराइजर्स हैदराबाद की टीम का आईपीएल 2021 में प्रदर्शन बेहद खराब रहा था। पांच सीजन के बाद वह प्‍लेऑफ में पहुंचने में नाकाम रही थी।

Quick Links

Edited by Vivek Goel