Create

महान बल्‍लेबाज ने WTC Final खत्‍म होने से पहले ही कर दी बड़ी भविष्‍यवाणी

भारतीय क्रिकेट टीम
भारतीय क्रिकेट टीम

महान बल्‍लेबाज सुनील गावस्‍कर का मानना है कि पहला विश्‍व टेस्‍ट चैंपियनशिप फाइनल ड्रॉ पर समाप्‍त होगा। भारत और न्‍यूजीलैंड के बीच साउथैम्‍प्‍टन में जारी डब्‍ल्‍यूटीसी फाइनल के चौथे दिन का खेल बारिश की भेंट चढ़ गया। गावस्‍कर ने अनुमान लगाया कि भारत और न्‍यूजीलैंड ट्रॉफी साझा करेंगे।

सुनील गावस्‍कर ने आज तक से बातचीत में स्‍वीकार किया कि डब्‍ल्‍यूटीसी फाइनल ड्रॉ पर समाप्‍त होगा जबकि सिर्फ दो दिन का खेल बाकी है। महान बल्‍लेबाज ने कहा, 'ऐसा लग रहा है कि विश्‍व टेस्‍ट चैंपियनशिप फाइनल ड्रॉ पर समाप्‍त होगा और ट्रॉफी साझा की जाएगी। यह पहला मौका होगा जब ट्रॉफी शेयर की जाएगी। फुटबॉल में पेनल्‍टी शूटआउट या अन्‍य खेल में विभिन्‍न तरीके से एक विजेता का फैसला होता ह।'

उन्‍होंने आगे कहा, 'टेनिस में पांच सेट होते हैं और फिर टाईब्रेकर के जरिये विजेता का पता किया जाता है। टेस्‍ट में हमारे पास ऐसी घटना में केवल ड्रॉ होता है और यहां भी ड्रॉ की बड़ी संभावना है।'

सुनील गावस्‍कर ने कहा कि आईसीसी को एक विजेता का फैसला करने के लिए कुछ करना चाहिए था।

गावस्‍कर ने कहा, 'विजेता का फैसला करने के लिए कुछ हल निकालना चाहिए था। 2019 विश्‍व कप में हमने देखा कि जिस टीम ने ज्‍यादा बाउंड्री लगाई, उसे विजेता घोषित किया गया। महामारी के कारण अंक तालिका प्रतिशत के आधार पर निर्धारित की गई। विश्‍व टेस्‍ट चैंपियनशिप के दौरान लक्ष्‍य बार-बार भटका जो किसी भी टीम के लिए उचित नहीं था। उन्‍हें एक विजेता का फैसला करने के लिए कुछ करना चाहिए था।'

इंग्‍लैंड में डब्‍ल्‍यूटीसी फाइनल की मेजबानी ने सभी तरफ से आलोचनाओं को बुलावा दिया है। आईसीसी को यह इवेंट आयोजित कराने पर खरी-खरी सुनना पड़ रही है।

सहवाग ने लिए आईसीसी के मजे

टीम इंडिया और न्‍यूजीलैंड के बीच विश्‍व टेस्‍ट चैंपियनशिप फाइनल पर पूर्व विस्‍फोटक ओपनर वीरेंदर सहवाग ने तंज कसा है। सहवाग ने ट्वीट करके आईसीसी और बल्‍लेबाजों को एकसाथ लपेट दिया है।

टीम इंडिया के पूर्व ओपनर वीरेंदर सहवाग ने ट्वीट किया, 'बल्लेबाजों को भी टाइमिंग नहीं मिली ढंग की और आईसीसी को भी।' बारिश के कारण आईसीसी की टाइमिंग भी खराब रही और बल्‍लेबाज अपना जलवा नहीं दिखा पाए, तो सहवाग ने एक तीर से दो निशाने किए।

Quick Links

Edited by Vivek Goel
Be the first one to comment