पीसीबी ने पीएसएल फ्रेंचाइजियों को नीलामी मॉडल प्रस्‍ताव भेजा

पाकिस्‍तान क्रिकेट बोर्ड आईपीएल स्‍टाइल में नीलामी कराना चाहता है ताकि बड़े नामों को आकर्षित कर सके
पाकिस्‍तान क्रिकेट बोर्ड आईपीएल स्‍टाइल में नीलामी कराना चाहता है ताकि बड़े नामों को आकर्षित कर सके

पाकिस्‍तान क्रिकेट बोर्ड (PCB) ने फ्रेंचाइजियों को पाकिस्‍तान सुपर लीग (Pakistan Super League) में प्‍लेयर नीलामी मॉडल अपनाने का एक प्रस्‍ताव भेजा है। जानकारी के मुताबिक पाकिस्‍तान क्रिकेट बोर्ड चाहता है कि आईपीएल (IPL) की स्‍टाइल में नीलामी प्रक्रिया कराए क्‍योंकि इससे बड़े नामों को आकर्षित करने में मदद मिलेगी।

इस संबंध में सलाह तैयार करके फ्रेंचाइजियों को भेज दी गई हैं। अधिकारियों का मानना है कि नीलामी मॉडल अपनाने से कई नए सितारे इवेंट में शामिल हो सकेंगे।

टीम मालिकों ने हालांकि, इस पर कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है। वो चेयरमैन रमीज राजा से बैठक करने के बाद ही अपना जवाब देंगे। पिछले कुछ दिनों में ऑपरेशनल बैठक में इस प्रस्‍ताव पर विचार किया गया था। इस मौके पर दो फ्रेंचाइजी ने सवाल किया कि नई लीगों का अनुबंधन करना जारी है। क्‍या पीसीबी ने पाकिस्‍तान सुपर लीग के लिए 10 से 12 स्‍टार्स से संपर्क किया।

इस पर अब तक कोई जवाब नहीं आया है। फ्रेंचाइजी ने साथ ही कहा कि लीग की परंपरा है कि जब भी बदलाव होता है तो अगले संस्‍करण में वो लागू नहीं होता क्‍योंकि इससे किसी टीम को ज्‍यादा फायदा मिल सकता है।

अगर किसी समय प्रस्‍ताव पर सहमति बनती है तो यह पीएसएल 2024 में लागू होगा। दिलचस्‍प बात है कि एक अधिकारी बैठक में शामिल हुआ जो पीएसएल का शीर्ष पद हासिल करना चाहता है, उन्‍हें भी इस महत्‍वपूर्ण मामले की जानकारी नहीं थी।

उन्‍हें सातवें संस्‍करण की प्रोडक्शन कॉस्ट के बारे में भी जानकारी नहीं थी और कहा कि यह काफी कम है। फ्रेंचाइजी अधिकारियों ने उन्‍हें सही किया और कहा कि अपेक्षित रकम काफी ज्‍यादा है।

फ्रेंचाइजियों ने पांच महीने से ई-मेल भेजे, लेकिन अब तक सातवें संस्‍करण में खर्चे नहीं बताए गए हैं। ऐसे में वो नीलामी मॉडल का बड़ा कदम कैसे उठा सकते हैं? इन्‍हें इस बात की भी चिंता है कि पिछले 10 महीने से पीएसएल गवर्निंग काउंसिल की बैठक नहीं हुई। वहीं बोर्ड ने कहा कि राजा क्रिकेट संबंधित बैठकों के कारण लंदन में ज्‍यादा समय रुकेंगे।

Quick Links