बाबर आजम के कमेंट पर शान मसूद ने दिया बड़ा बयान

शान मसूद को वेस्‍टइंडीज के खिलाफ तीन वनडे मैचों में खेलने का मौका नहीं मिला
शान मसूद को वेस्‍टइंडीज के खिलाफ तीन वनडे मैचों में खेलने का मौका नहीं मिला

पाकिस्‍तान (Pakistan Cricket team) ने हाल ही में अपने घर में वेस्‍टइंडीज (West Indies Cricket team) का तीन मैचों की वनडे सीरीज में 3-0 से क्‍लीन स्‍वीप किया। बाबर आजम (Babar Azam) के नेतृत्‍व वाली पाकिस्‍तान ने तीसरे व अंतिम वनडे में डकवर्थ लुईस पद्यति के आधार पर कैरेबियाई टीम को 53 रन से मात दी।

शानदार सीरीज के बावजूद पाकिस्‍तान की वनडे टीम में एक खिलाड़ी की गैरमौजूदगी चर्चा का विषय बनी हुई है। शान मसूद को काउंटी क्रिकेट में शानदार प्रदर्शन के बावजूद भी राष्‍ट्रीय टीम की तरफ से खेलने का मौका नहीं मिला। मसूद ने कप्‍तान बाबर आजम द्वारा उनके टीम से बाहर रहने के कमेंट पर अपनी प्रतिक्रिया दी है।

याद दिला दें कि बाबर आजम ने कहा था कि शान मसूद को मिडिल ऑर्डर में खिलाना अन्‍याय होगा क्‍योंकि वो टॉप ऑर्डर बल्‍लेबाज हैं। 32 साल के मसूद ने काउंटी चैंपियनशिप और टी20 ब्‍लास्‍ट में डर्बीशायर के लिए खेलते हुए शानदार प्रदर्शन किया। पाकिस्‍तान टीम में उन्‍हें शामिल करने के लिए पूर्व कप्‍तान इंजमाम उल हक और राशिद लतीफ ने समर्थन दिया था। मगर इसके बाद भी मसूद बेंच गर्म करते रहे।

क्रिकेट पाकिस्‍तान के साथ इंटरव्‍यू में शान मसूद ने कहा, 'मैंने पहले भी यह कहा है कि मुझे बल्‍लेबाजी क्रम से कोई समस्‍या नहीं है। एक ओपनर सभी चरणों में क्रिकेट खेलता है। उसे नई और पुरानी गेंद, तेज गेंदबाज और स्पिनर का सामना करना पड़ता है। अगर वो अंत तक क्रीज पर रहता है तो लंबे शॉट भी लगाता है। तो आप यह नहीं कह सकते कि उसे नहीं पता कि विभिन्‍न भूमिकाओं में कैसे बल्‍लेबाजी करनी है। जब मैंने घरेलू क्रिकेट खेलना शुरू किया तो नंबर-4 पर काफी खेला। पाकिस्‍तान सुपर लीग में मैंने टीम की जरूरत के मुताबिक तीसरे नंबर पर खेला। मैंने टेस्‍ट में भी नंबर-3 पर खेला है।'

मसूद का मानना है कि खेल में उनके प्रदर्शन का आकलन बल्‍लेबाजी क्रम के अनुसार नहीं होना चाहिए। उन्‍होंने साथ ही कहा कि वो किसी भी क्रम पर खेलने को तैयार हैं।

मसूद ने कहा, 'मैंने मोहम्‍मद वसीम और मोहम्‍मद यूसुफ से बातचीत की। मुझे पता है कि किसी अन्‍य क्रम पर मेरे बल्‍लेबाजी करने के सबूत नहीं हैं। मगर मुझे नहीं लगता कि बल्‍लेबाजी क्रम आपको बयां कर सकता है। जब आप पूर्व में देखें तो विभिन्‍न बल्‍लेबाजों ने विभिन्‍न भूमिकाओं में खेला। आप इंग्‍लैंड को देखें, जहां बल्‍लेबाज अपने बल्‍लेबाजी क्रम में बदलाव करते रहते हैं।'

शान मसूद ने आगे कहा, 'मैं किसी प्रारूप या बल्‍लेबाजी क्रम में खुद को सीमित नहीं करना चाहता हूं। अगर कोई मुझे कहे कि पाकिस्‍तान आपको किसी निश्चित क्रम पर खेलते हुए देखना चाहता है तो मैं खेलूंगा। मैं किसी पर आरोप नहीं लगाऊंगा। पाकिस्‍तान के लिए खेलना सबसे बड़ी चीज है।'

Quick Links

Edited by Vivek Goel