Create

शेन बॉन्ड ने 2003 वर्ल्ड कप में भारत के खिलाफ डाली गई करियर की सबसे तेज गेंद के बारे में किया बड़ा खुलासा

शेन बॉन्ड
शेन बॉन्ड
reaction-emoji
Nitesh

वर्ल्ड क्रिकेट के दिग्गज तेज गेंदबाजों में से एक शेन बॉन्ड (Shane Bond) ने 2003 वर्ल्ड कप में भारत के खिलाफ डाली गई अपने करियर की सबसे तेज गेंद के बारे में बड़ा खुलासा किया है। शेन बॉन्ड ने कहा है कि वो उस मुकाबले में जितना हो सके उतनी तेज बॉलिंग करना चाहते थे।

2003 के वर्ल्ड कप में शेन बॉन्ड ने अपने करियर की सबसे तेज गेंद डाली थी। उन्होंने भारत के खिलाफ मुकाबले में 156.4 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से बॉलिंग की थी।

ये भी पढ़ें: डेल स्टेन के मुताबिक WTC Final के लिए भारतीय टीम अपने प्लेइंग इलेवन में बदलाव कर सकती है

शेन बॉन्ड के मुताबिक राहुल द्रविड़ को उन्होंने वर्ल्ड कप में सबसे तेज गेंद डाली थी

टाइम्स ऑफ इंडिया के हालिया स्पोर्ट्सकास्ट में शेन बॉन्ड से एक सवाल पूछा गया। उनसे पूछा गया कि किस बल्लेबाज के खिलाफ उन्होंने अपने करियर की सबसे तेज गेंद डाली थी।

इस सवाल के जवाब में शेन बॉन्ड ने कहा "मुझे लग रहा है कि राहुल द्रविड़ होने चाहिए। मुझे याद है कि हम लोग सिर्फ 146 रन पर आउट हो गए थे। टूर्नामेंट में बने रहने के लिए हमें वो मुकाबला हर हाल में जीतना था नहीं तो हम वर्ल्ड कप से बाहर हो जाते। वो विकेट काफी फ्लैट था लेकिन गर्मी ज्यादा पड़ रही थी। मैंने सोचा कि जितना तेज हो सके मैं उतनी तेज बॉलिंग करूंगा। मैंने उस मुकाबले में काफी तेज बॉलिंग की थी।"

शेन बॉन्ड ने बताया कि उस मुकाबले को कीवी टीम के वर्तमान तेज गेंदबाज नील वैगनर भी बैठकर देख रहे थे और उनकी गेंदबाजी से काफी ज्यादा प्रभावित हुए थे।

उन्होंने आगे कहा "इस मैच से जुड़ा एक और मजेदार वाकया ये है कि नील वैगनर उस वक्त इस मुकाबले को देख रहे थे और उनकी उम्र महज 15 साल थी। जब वैगनर ने न्यूजीलैंड के लिए अपने करियर की शुरूआत की तो मैं उनका पहला कोच था। वैगनर ने मुझे बताया कि उस दिन वो मेरा स्पेल बैठकर देख रहे थे और वो वाकई में शानदार था।"

ये भी पढ़ें: सरफराज अहमद को ओपनिंग करना चाहिए, पूर्व क्रिकेटर का बयान


Edited by Nitesh
reaction-emoji

Comments

Quick Links

More from Sportskeeda
Fetching more content...