"टीम इंडिया में वो बात नहीं, जो विराट कोहली की कप्‍तानी में थी", पूर्व चयनकर्ता का बड़ा बयान

कोहली की कप्‍तानी में भारतीय टीम आक्रामक होकर खेलती थी, जिसकी सरनदीप के मुताबिक कमी खल रही है
कोहली की कप्‍तानी में भारतीय टीम आक्रामक होकर खेलती थी, जिसकी सरनदीप के मुताबिक कमी खल रही है

पूर्व चयनकर्ता सरनदीप सिंह (Sarandeep Singh) का मानना है कि भारतीय टीम (India Cricket team) को उस चिंगारी और आक्रमकता की कमी खल रही है, जो विराट कोहली (Virat Kohli) की कप्‍तानी में थी।

भारतीय टीम को दक्षिण अफ्रीका के हाथों वनडे सीरीज में 0-2 की शिकस्‍त मिलने के बाद सरनदीप सिंह का बयान आया है। प्रोटियाज टीम ने तीन मैचों की सीरीज में अजेय बढ़त हासिल कर ली है रविवार को तीसरा व आखिरी मुकाबला केपटाउन में खेला जाएगा।

सरनदीप सिंह ने एएनआई से बातचीत में कहा, 'भारतीय टीम पहले दिन से सीरीज जीत की पहली पसंद थी, फिर चाहे वो टेस्‍ट सीरीज हो या वनडे। जिस तरह वो टेस्‍ट मैच हारी। दूसरे टेस्‍ट में भारत बुरी तरह हारा, लेकिन एक चीज थी कि ये खिलाड़‍ियों के बारे में नहीं थी। तब कप्‍तानी की भी बात थी। राहुल बहुत शांत थे, लेकिन आप कोहली की कप्‍तानी देखें तो वो बहुत ऊर्जावान और जोशीले रहते थे।'

सिंह ने आगे कहा, 'इसी प्रकार पूरी टीम जोश के साथ मैदान संभालती थी। मगर अब बाहर बैठकर मुझे जो महसूस हो रहा है, वो ये है कि भारतीय टीम को उस स्‍पार्क की कमी खल रही है। उनमें वो स्‍पार्क और ऊर्जा नहीं दिखी।'

सरनदीप सिंह ने आगे कहा, 'भारत ने बड़ा स्‍कोर बनाया क्‍योंकि 287 रन विशाल लक्ष्‍य था। मगर दक्षिण अफ्रीका ने चैंपियन की तरह क्रिकेट खेली। उन्‍होंने अनुशासन के साथ क्रिकेट खेली और वो जीत के लिए खेल रहे थे। अगर आप वेंकटेश अय्यर की बात करें तो वो उतना तेज गति का गेंदबाज नहीं है और साथ ही वो ओपनर है। उसने टी20 में अच्‍छा किया। वो बड़े शॉट लगाने वाला खिलाड़ी है। अब वो छठे नंबर पर बल्‍लेबाजी कर रहा है। वो बड़े शॉट नहीं लगा पा रहा क्‍योंकि फील्‍ड खुली हुई है। वो बल्‍ले से संघर्ष कर रहा है और गेंदबाजी में विकेट नहीं ले पा रहा।'

प्‍लेइंग 11 में बदलाव की जरूरत: सरनदीप सिंह

सरनदीप सिंह ने साथ ही कहा कि तेज गेंदबाज प्रसिद्ध कृष्‍णा को प्‍लेइंग 11 में शामिल करना चाहिए और जसप्रीत बुमराह को आराम देना चाहिए ताकि भारतीय टीम क्‍लीन स्‍वीप को नजरअंदाज कर सके।

उन्‍होंने कहा, 'मोहम्‍मद सिराज अभी भी चोटिल हैं, लेकिन मैं प्रसिद्ध कृष्‍णा का पक्षधर हूं। युवा तेज गेंदबाज को मौका मिलना चाहिए। आपकी कोशिश क्‍लीन स्‍वीप को नजरअंदाज करने की होनी चाहिए। इसलिए प्रसिद्ध कृष्‍णा को आजमाना चाहिए।'

सरनदीप सिंह ने आगे कहा, 'मेरे ख्‍याल से भारतीय टीम की फील्डिंग खराब रही। आपने देखा कि कितनी आसानी से सिंगल दिए गए। घेरे में फील्‍डर नहीं दिख रहे और आश्‍चर्यजनक रूप से कोहली पूरे समय मैदान में नजर नहीं आ रहे थे। वो बाउंड्री पर फील्डिंग कर रहे थे, घेरे में नहीं। तो ऐसी कुछ चीजें हैं, जिसकी कमी खल रही है।'

पूर्व चयनकर्ता ने कहा कि टीम इंडिया रवि शास्‍त्री और कोहली के नेतृत्‍व में अच्‍छा प्रदर्शन कर रही थी क्‍योंकि ये खेल में आक्रमकता लेकर आए थे। सरनदीप सिंह ने कहा, 'आपने देखा कि रवि शास्‍त्री ने टीम के साथ क्‍या किया। कैसे रवि शास्‍त्री टीम में जोश भरते थे। यह टीम पिछले सात सालों में रवि शास्‍त्री और विराट कोहली के नेतृत्‍व में शानदार प्रदर्शन कर रही थी क्‍योंकि दोनों ही आक्रामक थे और आधुनिक क्रिकेट को इस तरह की जरूरत है। उन्‍हें आक्रामक होने की जरूरत है। देखिए दक्षिण अफ्रीका किस तरह खेल रही है। वो आक्रामक हुए और मुकाबले जीते।'

Quick Links