Create
Notifications

वर्ल्ड कप 2019 : ये 3 खिलाड़ी जीत सकते हैं प्लेयर ऑफ द टूर्नामेंट का खिताब

Devid Warner Australia
akhilesh.tiwari19

क्रिकेट के खेल में विश्वकप से बड़ी कोई प्रतियोगिता नहीं है। हर चार साल में आयोजित होने वाले क्रिकेट के इस महाकुंभ में जो भी टीम शानदार प्रदर्शन करती है और खिताब जीतती है, वो ही असली चैंपियन कहलाती है। यही वजह है कि टूर्नामेंट में शामिल होने वाली हर टीम और प्रत्येक क्रिकेटर प्रतियोगिता के दौरान यादगार प्रदर्शन करना चाहता है। यही नहीं पूर्व में कई खिलाड़ियों ने विश्वकप के दौरान लाजवाब प्रदर्शन किया है, इसके कुछ उदाहरण भी हमारे सामने हैं।

ऑस्ट्रेलिया के पूर्व क्रिकेटर एडम गिलक्रिस्ट को 2007 के विश्वकप में बनाई गई उनकी 149 रनों की पारी के लिए हमेशा याद किया जाता है। क्योंकि यह पारी उन्होंने विश्वकप के फाइनल मुकाबले में खेली थी और अपनी टीम को लगातार तीसरी बार विश्व विजेता बनाने में अहम भूमिका निभाई थी। इसके अलावा 2011 के विश्वकप फाइनल मुकाबले में पूर्व भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी को उनकी 91 रनों की नाबाद पारी के लिए याद किया जाता है। उन्होंने अपनी इसी पारी और टीम के अन्य खिलाड़ियों के सहयोग से भारत को दूसरी बार विश्वकप का खिताब दिलाया था।

2019 के विश्वकप में भी हर टीम के पास कुछ ऐसे ही खिलाड़ी हैं, जो अपनी टीम को चैंपियन बनाने में अहम भूमिका निभा सकते हैं। आज हम ऐसे ही तीन खिलाड़ियों के बारे में बताने जा रहे हैं, जो 2019 के विश्वकप में बेहतरीन प्रदर्शन के दम पर बड़ा प्रभाव डाल सकते हैं और प्लेयर ऑफ द टूर्नामेंट के प्रबल दावेदार के रूप में भी उभर सकते हैं। जानिए कौन हैं वो तीन खिलाड़ी –

#3 डेविड वॉर्नर

Devid Warner

इस बार के विश्वकप में प्लेयर ऑफ द टूर्नामेंट खिताब के संभावित दावेदारों में तीसरा नाम है ऑस्ट्रेलिया के डेविड वॉर्नर का। डेविड वॉर्नर की सबसे बड़ी ताकत है उनकी आक्रामक बल्लेबाजी। अपनी इसी शैली से खेलते हुए उन्होंने आईपीएल के बीते सीजन में सबसे ज्यादा रन बनाते हुए ऑरेंज कैप पर कब्जा जमाया था।

बाएं हाथ के इस बल्लेबाज ने 2019 के आईपीएल में 69.20 की औसत से 692 रन बनाए थे। जिसमें वॉर्नर ने 1 शतक और 8 अर्धशतक भी बनाए थे। वॉर्नर का यह प्रदर्शन इसलिए भी काबिलेतारीफ है, क्योंकि वह आईपीएल के बीच में ही विश्वकप की तैयारी के लिए अपने वतन वापस लौट गए थे। ऐसे में यह कयास लगाए जा रहे हैं, कि अगर वॉर्नर की यही फॉर्म विश्वकप में भी जारी रहती है, तो वह प्लेयर ऑफ द टूर्नामेंट के खिताब पर कब्जा कर सकते हैं।

#2 आंद्रे रसेल

Andre Russell

इस खिलाड़ी की जितनी तारीफ की जाए, कम ही होगी। 2019 के आईपीएल में कोलकाता नाइट राइडर्स की ओर से खेलते हुए वेस्टइंडीज के आंद्रे रसेल ने शानदार प्रदर्शन किया था और अकेले दम पर टीम को कई मैचों में जीत दिलाई थी। रसेल के पास इतनी पावर है कि वह बड़े-बड़े छक्के खड़े-खड़े ही मार सकते हैं और गेंदबाजी में भी आंद्रे रसेल कमाल का प्रदर्शन कर सकते हैं, जिसका नजारा उन्होंने आईपीएल के 12वें सीजन मेें पेश किया था।

उन्होंने इंडियन प्रीमियर लीग के 12वें सीजन में केकेआर के लिए 204.81 की स्ट्राइक रेट से 510 रन बनाए थे और 11 विकेट भी चटकाए थे। उनके इन रनों में कुल 52 छक्के शामिल थे। रसेल ने जिस तरह का प्रदर्शन आईपीएल में किया था, अगर वह ऐसा ही प्रदर्शन वेस्टइंडीज की ओर से विश्वकप में भी करते हैं, तो इसमें कोई शक नहीं कि उनसे प्लेयर ऑफ द टूर्नामेंट का खिताब कोई अन्य खिलाड़ी छीन सके।

#1 विराट कोहली

Virat Kohli

अगर आपसे पूछा जाए, कि वर्तमान समय में क्रिकेट जगत का सबसे महान बल्लेबाज कौन है, तो इसमें कोई शक नहीं कि आपका उत्तर विराट कोहली ही होगा। कोहली एक ऐसे बल्लेबाज हैं, जो क्रिकेट के हर प्रारूप में आसानी से फिट हो जाते हैं। उन्होंने अपने अभी तक अपने वनडे करियर में लगभग 11000 रन बनाए हैं, जिसे देखकर लगता है कि वह बड़ी आसानी से सचिन तेंदुलकर के वनडे क्रिकेट के सर्वाधिक रनों के रिकॉर्ड को पीछे छोड़ देंगे।

कोहली ने अपनी पिछली 50 वनडे पारियों में 3151 रन बनाए है। जिसमें उनके 14 शतक और 11 अर्धशतक शामिल हैं। कोहली की सबसे खास बात यह है कि उनका प्रदर्शन नियमित रहा है, जिसकी वजह से वह कभी भी अपनी टीम को संकट की परिस्थिति से उबारने में सक्षम हैं। ऐसे में यह कहा जा सकता है कि भारतीय टीम के कप्तान अपनी शानदार बल्लेबीज और टीम नेतृत्व से प्लेयर ऑफ द टूर्नामेंट का खिताब अपने नाम कर सकते हैं।

Edited by सावन गुप्ता

Comments

Quick Links:

More from Sportskeeda
Fetching more content...