Create
Notifications

"जिम्बाब्वे को टेस्ट मैच नहीं खेलना चाहिए और केवल वनडे और टी20 पर फोकस करना चाहिए"

Photo Credit - IPL
Photo Credit - IPL
सावन गुप्ता

पाकिस्तान के पूर्व क्रिकेटर रमीज राजा (Ramiz Raja) ने जिम्बाब्वे (Zimbabwe Cricket Team) को पाकिस्तान के खिलाफ टेस्ट सीरीज में मिली हार के बाद बड़ी प्रतिक्रिया दी है। जिम्बाब्वे को पाकिस्तान के खिलाफ टेस्ट सीरीज में 2-0 से हार का सामना करना पड़ा और इसके बाद रमीज राजा ने कहा है कि जिम्बाब्वे को टेस्ट मैच नहीं खेलना चाहिए।

पाकिस्तान ने जिम्बाब्वे को दोनों ही टेस्ट मैचों में पारी के अंतर से हराया और जिम्बाब्वे की टीम बिल्कुल भी मुकाबला नहीं कर सकी। अपने यू-ट्यूब चैनल पर रमीज राजा ने कहा कि अब जिम्बाब्वे को टेस्ट क्रिकेट से दूर रहना चाहिए। उन्होंने कहा,

उनके सिस्टम में कुछ खामियां हैं और क्रिकेट बोर्ड में भी करप्शन है। पिछले 15-20 सालों के दौरान जो भी कमियां उनके अंदर हैं ये परफॉर्मेंस उसका ही नतीजा है। मैं उम्मीद करता हूं कि वो फ्यूचर में अच्छा प्रदर्शन करें लेकिन अभी के लिए उन्हें टेस्ट क्रिकेट नहीं खेलना चाहिए और केवल सफेद गेंद की क्रिकेट पर ध्यान देना चाहिए।

ये भी पढ़ें: "भारतीय टीम अगर अपने पोटेंशियल से खेले तो वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप में जीत हासिल कर सकती है"

जिम्बाब्वे का प्रदर्शन पिछले पांच साल में टेस्ट मैचों में काफी खराब रहा है

पिछले पांच साल में जिम्बाब्वे ने कुल 17 टेस्ट मैच खेले और इस दौरान केवल दो ही मुकाबलों में उन्होंने जीत हासिल की। उनके जीत का प्रतिशत केवल 11.76 रहा। 13 हार में से पांच में उन्हें पारी की हार का सामना करना पड़ा, जबकि चार मैचों में 200 प्लस के अंतर से हार झेलनी पड़ी। एक टेस्ट मैच में उन्हें 10 विकेटों से भी हार मिली थी।

इससे पहले रमीज राजा ने ये भी कहा था कि पाकिस्तान के खिलाफ मिली हार से जिम्बाब्वे टीम को कुछ सीखने को नहीं मिलेगा। यह सभी मुकाबले एकतरफा रहे, जो किसी मजाक से कम नहीं है। उन्होंने कहा कि जिम्बाब्वे ने पिछले मुकाबले से कुछ नहीं सीखा और एकतरफा हार का सामना किया। मुझे नहीं लगता कि यह टीम इस सीरीज से कुछ सीख पायेगी।

ये भी पढ़ें: आवेश खान का बड़ा बयान, कहा इंग्लैंड दौरे पर पूरी तैयारी के साथ जाउंगा और मौका मिलने पर बेहतरीन प्रदर्शन करुंगा


Edited by निशांत द्रविड़

Comments

Quick Links:

More from Sportskeeda
Fetching more content...