Create
Notifications

इन 5 वजहों के चलते रोनाल्डो को हमेशा बतौर 'सेंटर फॉर्वर्ड' खेलना चाहिए

आभास शर्मा
visit

अपने करियर का चौथा बैलन डी’ओर खिताब जीतने के साथ ही क्रिस्टियानो रोनाल्डो ने ये साबित कर दिया है कि वो मौजूदा समय में यूरोप के सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी हैं। उनकी इस उपलब्धि के पीछे कई बड़े कारण भी रहे हैं। रियाल मैड्रिड को UEFA चैंपियंस लीग कप जिताना और पुर्तगाल को 2016 में यूरो कप जिताने जैसी उपलब्धियों के चलते ही वो आज दुनिया में पर्वोपरि हैं। रोनाल्डो की कई खूबियों में से एक ये है कि वो हर वक्त और हर हालात में, मैच में डूबे रहते हैं। चाहे फील्ड पर अपनी शानदार फुर्ती से गोल दागना हो, या फिर गोल का जश्न मनाना हो या फील्ड के बाहर रहकर टीम को गाइड करना हो। रोनाल्डो किसी काम में कोई कसर नहीं छोड़ते। हां, उन्हें जो बात फुटबॉल का इतना बड़ा दिग्गज खिलाड़ी बनाती है वो है उनका सेंटर फॉर्वर्ड पोजिशन पर धाक जमाए रखना। इस बात में कोई शक नहीं है कि रोनाल्डो स्ट्राइकर के तौर पर इस पोजिशन में दुनिया के सबसे बेहतरीन खिलाड़ियों में से एक हैं। तो आइए जानते हैं वो कारण जिनके चलते इस दिग्गज खिलाड़ी को सेंटर फॉर्वर्ड पोजिशन कभी नहीं छोड़नी चाहिए।


#1 बढ़ती उम्र के साथ उन्हें अपनी शारीरिक ऊर्जा बचानी चाहिए

रोनाल्डो उन खिलाड़ियों में से हैं जिनके खेल पर उम्र का कोई खास असर नहीं दिखता है। लेकिन ये बात भी सच है कि एक उम्र बढ़ने के साथ एक फुटबॉलर के शरीर में कुछ बदलाव जरूर होते हैं। इसलिए उन्हें समझकर आगे बढ़ना ही सही कहा जाता हे। रोनाल्डो एक युवा फुटबॉलर रहते हुए ‘विंगर’ के तौर पर काफी शानदार खेले। लेकिन कुछ समय से उन्होंने अब सेंटर फॉर्वर्ड पोजिशन खेलना शुरू किया है जो उनके लिए काफी अच्छा है। इस पोजिशन पर वो विपक्षी टीम के लिए सबसे घातक तो साबित होंगे ही, साथ ही वो अपने करियर को लंबा भी ले जा पाएंगे। रोनाल्डो पहले ही साफ कर चुके हैं कि वो 40 की उम्र से पहले रिटायरमेंट नहीं लेंगे। ऐसे में उस वक्त तक अपने दमदार खेल को बरकरार रखने के लिए ये उन्हें अब इसी पोजिशन पर खेलते रहना चाहिए। क्योंकि, अगर वो अब एक विंगर को तौर पर खेलते हैं तो उनकी शारीरिक ऊर्जा ज्यादा खर्च होगी और फिटनेस पर असर पड़ेगा। लेकिन सेंटर फॉर्वर्ड रहकर वो अपनी तेज गति, ड्रिब्लिंग की कला और खास अनुभव का बेहतर प्रयोग कर सकेंगे। #2 वो दुनिया के सबसे प्रभावशाली गोल स्कोरर हैं

Real Madrid CF v Borussia Dortmund - UEFA Champions League

इस बात में कोई दो राय नहीं है कि क्रिस्टियानो रोनाल्डो इस समय दुनिया के सबसे प्रभावशाली गोल स्कोरर हैं। उन्होंने हाल ही में क्लब फुटबॉल में अपने 500 गोल पूरे किए। ये अपने आप में बताता है कि वो गोल के कितने भूखे हैं। हालांकि 2016-17 का उनका शुरुआती सीजन गोल के लिहाज़ से इतना अच्छा नहीं रहा है। लेकिन उनकी गोल पोस्ट के करीब किसी भी कोने से दमदार गोल दागने की क्षमता से हर कोई वाकिफ है। हालांकि सेंटर फॉर्वर्ड के तौर पर उनकी गोल करने की इस क्षमता को और बल मिला है। रोनाल्डो को बस आप अच्छी बॉल बनाकर दे दीजिए और वो गोल करने में कोई मौका नहीं छोड़ते। चाहे विपक्ष का डिफेंस कितना भी भारी हो, रोनाल्डो अपनी स्पीड और बेहतरीन स्किल्स से गोल मारने के चांस हमेशा खोज लेते हैं। ऐसे में अगर वो सेंटर पोजिशन पर बरकरार रहते हैं तो उनकी ये काबीलियत और घातक बन सकती है। #3 चैंपियंस लीग का कामयाबी उन्हें प्रोत्साहित करेगी

UEFA Champions League final - "Real Madrid v Atletico Madrid"

पिछला चैंपियंस लीग खिताब जीतने के साथ ही रोनाल्डो अब फील्ड पर और आत्मविश्वासी दिख रहे हैं। इसी के चलते उन्होंने अपने देश को पहला यूरो कप भी दिलवाया। इसके साथ ही UEFA में चैंपियंस लीग के सबसे ज्यादा गोल करने वाले खिलाड़ी बनने के बाद उन्हें काफी प्रोत्साहन मिला है। अभी तक चैंपियंस लीग में 95 गोल कर चुके रोनाल्डो ऐसा करने वाले लीग के इतिहास के पहले खिलाड़ी बन गए हैं। इस बात में कोई शक नहीं है कि अब उनकी नजर 100 गोल का लक्ष्य पूरा करने पर होगी और वो उस कीर्तिमान को भी हासिल कर लेंगे। साथ ही उनका लक्ष्य है लगातार दूसरा चैंपियंस लीग खिताब अपने नाम करना । अभी तक कोई भी यूरोपियन टीम लगातार दो बार चैंपियन नहीं बनी है, लेकिन भरपूर ऊर्जा से सराबोर रोनाल्डो ऐसा करने के लिए तैयार हैं। ऐसे में उनका सेंटर फॉर्वर्ड पोजिशन पर बना रहना जरूरी है। #4 रियाल मैड्रिड, टीम की दूसरी पोजिशंस को स्ट्रॉन्ग करने की ओर सोच सकता है

Club America v Real Madrid - FIFA Club World Cup Semi Final

रोनाल्डो सेंटर फॉर्वर्ड पर ऐसे खिलाड़ी हैं जिनको लेकर टीम मैनेजमेंट को ज्यादा सोचने की जरूरत नहीं है। वो बेहतरीन फॉर्म में हैं, स्ट्राइकर के तौर पर काफी अनुभवी हैं और सभी साथी खिलाड़ियों के खेल को अच्छे से समझते भी हैं। इसके चलते रियाल मैड्रिड के मैनेजमेंट को टीम के फॉर्वर्ड को लेकर किसी तरह के खास बदलाव करने की जरूरत नहीं है। ऐसे में क्लब दूसरी पोजिशंस पर खेलने वाले अन्य खिलाड़ियों पर काम कर सकता है। जैसे कि अपने डिफेंस या सेंटर बैक के लिए नए खिलाड़ियों को साइन करने की योजना बना सकता है। ऐसे में अगर ‘मेसुत ओज़िल’ जैसा बेहतरीन मिड फील्डर और विंगर मैड्रिड साइन कर लेती है तो टीम को काफी ताकत मिलेगी। #5 शानदार 'हेडर' मारकर बॉल को गोल पोस्ट के अंदर दागने की रोनाल्डो की खास कला

FC Barcelona v Real Madrid CF - La Liga

इस बात में तो कोई शक नहीं है कि रोनाल्डो शानदार पास मिली हुई गेंद को किसी भी तरह गोल में डालने में माहिर हैं। लेकिन वो हवा में भी कमाल के खिलाड़ी हैं। यानी उनके ‘हेडर’ काफी तेज, जोरदार और सटीक रहते हैं। रोनाल्डो अक्सर गोल पोस्ट के करीब हवा में मिली गेंद से गोलकीपर को चकमा देकर शानदार हेडर करते देखे गए हैं। अब सेंटर फॉर्वर्ड पोजिशन पर खेलते हुए वो अपना ये हुनर औप भी शानदार रूप में दिखाएंगे। विपक्षी टीम के खिलाड़ियों को उनके सटीक हेडर को रोकने की योजना बनानी होगी।

Edited by Staff Editor
Article image

Go to article
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now