Create
Notifications

फुटबॉल - चुनौतियों के बीच अगले सप्‍ताह शुरू होगा एशियाई चैंपियंस लीग

एशियाई चैंपियंस लीग
एशियाई चैंपियंस लीग
Vivek Goel

जब 2013 में एशियाई चैंपियंस लीग फुटबॉल टूर्नामेंट को भौगोलिक क्षेत्रों के आधार पर पूर्व और पश्चिम क्षेत्रों में विभाजित करने का फैसला किया गया था तब यह शायद ही किसी ने सोचा होगा कि एक क्षेत्र की टीम 'ग्रैंड फाइनल' में पहुंच भी जाएगी। वहीं दूसरे क्षेत्र के कुछ क्लबों ने ग्रुप चरण के मुकाबले भी शुरू नहीं किए हैं। इस तरह का अजीब दृश्‍य 2020 में असलियत बनता दिखा।

एशिया की शीर्ष 32 टीमों के बीच होने वाले इस मुकाबले की शुरूआत फरवरी में हुई थी लेकिन कोविड-19 के कारण टूर्नामेंट को निलंबित कर दिया गया था। एशिया में ज्‍यादा दूरी और कोरोना वायरस के लिए इंफेक्‍शंस व पाबंदी को लेकर कई विभिन्‍न अनुभव के कारण, यह नामुमकिन था अंतरराष्‍ट्रीय स्‍तर के मुकाबले आयोजित कराए जा सकें।

6 महीने की देरी के बाद एशियाई चैंपियंस लीग अगले सप्ताह से एक बार फिर शुरू हो रहा है। अगले सप्‍ताह कम से कम आधी लीग एक्‍शन में नजर आएगी। सोमवार से शुरू होने वाले पश्चिमी क्षेत्र के मुकाबले कतर में खेले जाएंगे। जहां सऊदी अरब, ईरान, संयुक्त अरब अमीरात और उज्बेकिस्तान के क्लबों के बीच ग्रुप चरण और पहले दो प्ले ऑफ दौर के मुकाबले होंगे। सितंबर के अंत तक क्षेत्र के फाइनल में जगह पक्की करने वाली टीमों का फैसला हो जाएगा। पश्चिमी क्षेत्र का फाइनल तीन अक्टूबर को होगा।

फुटबॉल की वापसी का जश्‍न मनाएं

वहीं पूर्वी क्षेत्र के मुकाबले 15 नवंबर से खेले जाएंगे। कोविड-19 के कारण मौजूदा यात्रा प्रतिबंध को देखते हुए एशियाई फुटबॉल परिसंघ इससे पहले मैच कराने में असमर्थ है। इसका फाइनल 10 दिसंबर से पहले नहीं होने की संभावना नहीं है। चीन से क्वालीफाई करने वाली चार में तीन टीमों ने अभी अपने ग्रुप चरण के छह मैच में से एक भी मुकाबला नहीं खेला है। जापान, दक्षिण कोरिया, ऑस्ट्रेलिया और मलेशिया के क्लबों के भी भी चार-पांच मैच बाकी हैं।

एएफसी के अध्यक्ष शेख सलमान बिन इब्राहिम अल-खलीफा ने कहा, 'फुटबॉल या किसी भी खेल से जुड़े हर किसी के लिए यह कठिन समय हैं। मैं आश्वस्त हूं कि हम इस चुनौती का सफलतापूर्वक सामना करेंगे।'

शेख असलम ने कहा कि बड़े स्‍तर पर काम किया गया है ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि सोमवार से सुरक्षित और स्‍वस्‍थ माहौल में वेस्‍टर्न जोन के मुकाबले शुरू किए जा सके। उन्‍होंने फ्रंटलाइन स्‍वस्‍थ और केयर वर्कस को राउंड समर्पित किया, जो पिछले महीनों में असली स्‍टार रहे। उन्‍होंने कहा, 'फुटबॉल की वापसी और फ्रंटलाइन कर्मचारियों के योगदान का जश्‍न मनाना चाहिए। फुटबॉल की वापसी से कुछ उम्‍मीदें मिली। हमने पहले कदम उठाया है। हम एशिया और फीफा के साथ नजदीकी रूप से काम करेंगे ताकि फुटबॉल जारी रख सकें।'


Edited by निशांत द्रविड़

Comments

Fetching more content...