ब्लूज कॉर्नर: पीटर ओसगुड

Peter Osgood
Peter Osgood

इंग्लिश फुटबॉल में चेल्सी की सफलता के पीछे कई दिग्गजों का प्रभाव रहा है। हालाँकि शताब्दी के बदलते-बदलते चेल्सी की टीम ने लगातार अच्छे प्रदर्शन से एक अलग स्थान बनाया है, लेकिन पुराने जमाने के महान खिलाड़ियों की चेल्सी के इतिहास में एक अलग ही जगह है।

चेल्सी एफसी के 'लेजेंड्स ऑफ द ब्रिज' सीरीज के नए एपिसोड में चेल्सी के उत्साही फैन और बॉलीवुड सुपरस्टार 1960 और 1970 के दशक के महान ब्लूज स्ट्राइकर पीटर ओसगुड के बारे में चर्चा कर रहे हैं। फील्ड पर ओसगुड एक प्रभावशाली और पुराने तरीके के नंबर 9 खिलाड़ी थे और उनके प्रतिभा ने उन्हें चेल्सी के इतिहास का अहम हिस्सा बनाया।

1950 के दशक में चेल्सी ने शानदार खिलाड़ियों की एक टीम बनाई और 1955 में पहली बार इंग्लिश प्रीमियर लीग का खिताब जीता। हालाँकि FA कप का खिताब अभी भी टीम से दूर था और टीम के विरोधी और फुटबॉल पंडित भी इंग्लिश फुटबॉल के सबसे अहम ट्रॉफी को नहीं जीतने की वजह से चेल्सी को निशाने पर लिए हुए थे।

FA कप की निराशा के बीच, चेल्सी की टीम में पीटर ओसगुड का आना एक ताज़ा हवा के झोंके की तरह था और यह क्लब के इतिहास का टर्निंग पॉइंट साबित हुआ। मुख्य टीम में शामिल होने से पहले चेल्सी के रिज़र्व के तौर पर ओसगुड का प्रदर्शन बेहतरीन था और उन्होंने 20 मैच में 30 गोल किये।

Peter Osgood
Peter Osgood

अपने प्रतिभा के अलावा पीटर ओसगुड अपने धैर्य और दृढ़ संकल्प के कारण भी पहचाने गए। 1966 में यह युवा फॉरवर्ड चोटिल हुए और ऐसा लगा कि उनके करियर का अंत हो जाएगा लेकिन उन्होंने हार नहीं मनाई और एक साल बाद नए जोश के साथ वापसी की।

पीटर ओसगुड के एक साल तक टीम से बाहर रहने के कारण चेल्सी के प्रदर्शन पर भी काफी फर्क पड़ा। ओसगुड टीम के सबसे प्रमुख खिलाड़ियों में शुमार थे और 1970 में उन्होंने अकेले दम पर टीम को FA कप में जीत दिलाई। वह टूर्नामेंट के इतिहास में हर राउंड में गोल करने वाले नौ खिलाड़ियों में से एक भी बने।

ओसगुड 10 साल तक चेल्सी की टीम के साथ रहे और मैदान के अंदर एवं बाहर, दोनों जगह उनका जीवन काफी रोमांचक रहा। उन्हें 'किंग ऑफ स्टैमफोर्ड' का निकनेम दिया गया और वह चेल्सी के इतिहास के स्पेशल खिलाड़ियों में अभी भी शुमार हैं।

मार्च 2006 में पीटर ओसगुड का देहांत हुआ और उनके बेहतरीन करियर की यादों को ध्यान में रखते हुए उनके पसंदीदा मैदान - स्टैमफोर्ड ब्रिज के बाहर उनकी मूर्ति लगाई गई है। इंग्लैंड के स्ट्राइकर निश्चित तौर पर चेल्सी के महानतम खिलाड़ियों में एक हैं और पांच दशक पहले मैदान पर उनका जादू देखने को मिला था।

Quick Links

Edited by निशांत द्रविड़