COOKIE CONSENT
Create
Notifications
Favorites Edit
Advertisement

वर्ल्ड कप 2018: अर्जेंटीना को हराकर क्वार्टर फाइनल में पहुंचा फ्रांस, पुर्तगाल भी हारा

26   //    01 Jul 2018, 02:50 IST

19 साल के किलियाने एम्बापे के तेज तर्रार खेल की मदद से विश्व कप अंतिम 16 के रोमांचक मुकाबले में फ्रांस ने अर्जेंटीना को 4-3 से हराया। इस जीत के साथ फ्रांस ने क्वार्टर फाइनल में प्रवेश कर लिया है। एम्बापे ने मैच के 64वें और 68वें मिनट में शानदार गोल किया। एम्बापे ने अपनी आक्रामकता से सभी को प्रभावित किया।
फ्रांस की टीम ने अपने स्टार स्ट्राइकर एंटोइन ग्रिजमान की बदौलत 13वें मिनट में पेनल्टी के सहारे किए गए गोल से 1-0 की बढ़त बना ली। अर्जेंटीना के लिए 41वें मिनट में एंजेल डि मारिया ने गोल दागा। उन्होंने 35 गज की दूरी से खूबसूरत गोल कर टीम का स्कोर 1-1 से बराबर किया। दूसरे हाफ के 48वें मिनट में अर्जेंटीना के गैब्रियल मकार्डो ने गोल किया। उन्होंने कप्तान लियोनल मेस्सी के शॉट को गोल पोस्ट में पहुंचाया। हालांकि यह बढ़त ज्यादा देर नहीं रही और बेंजामिन पवार्ड ने 57वें मिनट में गोल कर स्कोर 2-2 से बराबर कर दिया।
इस मैच में एम्बापे फ्रांस के लिए खेवनहार साबित हुए। उन्होंने 64वें और 68वें मिनट में गोल दागकर टीम को अजेय बढ़त दिला दी। इस मैच में अर्जेंटीना की टीम ने काफी लचर प्रदर्शन किया। पिछले मैच में नायक रहे मार्को रोजो भी आज कोई कमाल नहीं कर पाए। रोजो ने मैच के शुरूआती मिनटों में ही एम्बापे को बॉक्स के अंदर गिरा दिया जिससे फ्रांस को पेनल्टी मिली। इस पेनल्टी को ग्रिजमान ने गोल में बदला। मैच में अर्जेंटीना की टीम शुरू से ही दबाव में दिख रही थी। आज के मैच में उसके डिफेंस में बिखराव दिख रहा था।
दूसरी तरफ एम्बापे मैच के दौरान अपनी फुर्ती से सबको हैरान कर रहे थे। उन्होंने अर्जेंटीना के डिफेंस को ध्वस्त कर दिया। पहले हाफ में गेंद पर कब्जा जमाने के मामले में अर्जेंटीनी खिलाड़ी आगे रहे लेकिन वे मौकों का फायदा नहीं उठा सके। गैब्रियल मकार्डो ने अर्जेंटीना के लिए 48वें मिनट में दूसरा गोल किया। फ्रांस का आक्रमण इतना तेज था कि 57वें मिनट में ही उन्होंने बराबरी कर ली। लुकास हार्नांडिज के क्रॉस पर पवार्ड ने हाफ वॉली को नेट के ऊपरी हिस्से में पहुंचाकर टीम को बराबरी दिलाई। इसके बाद एम्बापे ने बॉक्स के भीतर से 64वें मिनट में बाएं पैर से शॉट लगाया जो अर्जेंटीनी गोलकीपर के नीच से निकलता हुआ नेट में पहुंच गया। महज चार मिनट बाद ही एम्बापे ने दूसरा गोल कर फ्रांस को अंतिम आठ मे पहुंचा दिया। उन्होंने यह गोल ग्रिजमान, पोग्वा और ओलिवर गिरोड की मदद से दागा।
अर्जेंटीना के लिए तीसरा गोल सर्गियो एगुएरो ने इंजुरी टाइम में किया। फ्रांस और अर्जेंटीना बारहवीं बार एक दूसरे के सामने थे। दक्षिण अमेरिकी देश ने पिछले 11 मैचों में से छह में जीत दर्ज की थी जबकि दो मुकाबले ड्रॉ रहे थे।

कवानी के गोल से उरुग्वे जीता
एक तरफ अर्जेंटीना की टीम अंतिम 16 में फ्रांस से हारकर फीफा विश्व कप 2018 से बाहर हो गई तो दूसरी तरफ पुतार्गाल के करिश्माई फॉरवर्ड क्रिस्टियानो रोनाल्डो के विश्व कप जीतने का सपना अधूरा रह गया। रोनाल्डो की अगुआई में खेल रही पुर्तगाल की टीम को उरुग्वे ने 2-1 से मात दी। उरुग्वे के लिए एडिंसन कवानी ने दो गोल दागे। वहीं पुर्तगाल के लिए एकमात्र गोल पेपे ने किया।
फिश्ट स्टेडियम में खेले गए इस मुकाबले में दोनों टीमों ने बेहतरीन शुरूआत की। स्टार फॉरवर्ड कवानी और लुइस सुआरेज की जुगलबंदी ने जल्द ही उरुग्वे को 1-0 से आगे कर दिया। मैच के सातवें मिनट में सुआरेज ने दाईं छोर से बॉक्स में शानदार क्रॉस दिया जिसे कवानी ने हेडर के सहारे गोल मे बदल दिया। मैच के 11वें मिनट में पुर्तगाल को कॉर्नर मिला। हालांकि जोसे फोंते इसे गोल मे बदलने में नाकाम रहे।
उरुग्वे को 22वें मिनट में अपनी बढ़त दोगुना करने का बेहतरीन मौका मिला। उसे बॉक्स के बाहर फ्री किक मिली जिस पर सुआरेज ने गोल दागने का प्रयास किया लेकिन वे नाकाम रहे। गेंद गोलपोस्ट के ऊपर से निकल गई। पुर्तगाल के रोनाल्डो ने मैच को 32वें मिनट में गोल करने का एक शानदार मौक गंवा दिया। उन्हें फ्री किक मिली थी।
हालांकि दूसरे हाफ में पुतार्गाल ने कुछ तेजी दिखाई और वह दस मिनट के भीतर ही बराबरी गोल करने में कामयाब रहा। 55वें मिनट में पुर्तगाल को कॉर्नर मिला। उसके डिफेंडर राफेल गुरेरो के क्रॉस पर पेपे ने शानदार हेडर लगाते हुए अपनी टीम को बराबरी पर ला दिया।
उरुग्वे ने 62वें मिनट में निर्णायक गोल दागा। कवानी ने बॉक्स के बाईं छोर पर रोड्रिग बेंटाकुर से मिले पास पर बेहतरीन गोल करते हुए उरुग्वे को 2-1 से आगे कर दिया। 67वें मिनट में पुर्तगाल को कॉर्नर मिला लेकिन रोनाल्डो सही हेडर नहीं लगा पाए जिससे टीम बराबरी का गोल नहीं दाग पाई। इसके बाद अंतिम के कुछ मिनटों में रोनाल्डो की टीम ने गोल  दागने के प्रयास किए लेकिन उन्हें कामयाबी नहीं मिली।

ANALYST
संदीप भूषण राष्ट्रीय अखबार जनसत्ता में खेल पत्रकार के तौर पर कार्यरत हैं। इससे पहले वह दैनिक जागरण में भी काम कर चुके हैं। इनके क्रिकेट और हॉकी के साथ ही कबड्डी, फुटबॉल और कुश्ती से जुडे कई लेख राष्ट्रीय अखबारों में छप चुके हैं।
Advertisement
Fetching more content...