FIFA World Cup 2018: रूस के उन स्टेडियमों पर एक नजर जहां फीफा विश्व कप के मैच खेले जाएंगे

14 जून से रूस में फुटबॉल का महाकुंभ फीफा विश्व कप शुरु हो रहा है। फीफा विश्व कप के मैच रुस के 11 शहरों के 12 स्टेडियम में खेले जाएंगे। रूस के अधिकतर स्टेडियम अपनी विविधताओं के लिए जाने जाते हैं जैसे कि सेंट पीटर्सबर्ग जो एक दम उत्तर में स्थित है वहां गर्मियों में सूरज डूबता नहीं है। वहीं सोची शहर समंदर के किनारे होने के कारण अधिकांश समय नम ही रहता है। आइये एक नज़र डालते हैं इन्हीं 12 स्टेडियमों पर - #1 लुजह्निकी स्टेडियम - मॉस्को शहर में स्थित 81, 000 लोगों की क्षमता वाला ये स्टेडियम 24 बिलियन रूबल की लागत से बना है। 1950 में रूस की खेल भावना का प्रदर्शन करने के लिए बने इस स्टेडियम में फीफा विश्व कप का फाइनल मुकाबला खेला जाएगा। फुटबॉल विश्व कप के लिए तैयार करने के लिए इसके मैदान के पुराने स्टैंड और 1980 ओलंपिक के ट्रैक भी हटा दिए गए हैं। बढ़ी हुई क्षमता के साथ इसे 11 नवम्बर को फिर से खोला गया जब एक मैत्री मैच में अर्जेंटीना ने रूस को 1-0 से हरा दिया। हालांकि इस स्टेडियम तक पहुंचने के लिए वाहन सुविधा की दिक्कतें बनी हुई हैं। #2 स्पार्टाक स्टेडियम - 2017 के रूस प्रीमियर लीग का गवाह बना ये मैदान 2014 में बनकर तैयार हुआ। इस स्टेडियम में कंफेडरेशन कप , चैंपियंस लीग के मैच भी खेले जा चुके हैं , इसीलिए ये जाना पहचाना नाम बन चुका है। ये इकलौता ऐसा स्टेडियम है जो बिना सरकार की आर्थिक मदद के बना है। मध्य मॉस्को से यहां के लिए यातायात की सुविधा काफी बेहतर हैं, लेकिन लंबे जाम में सबवे की सलाह दी जाती है। #3 सेंट पीटर्सबर्ग स्टेडियम - यह स्टेडियम रूस के खूबसूरत और ऐतिहासिक शहर सेंट पीटर्सबर्ग में स्थित है। इस स्टेडियम की दर्शक क्षमता 68,134 है, जिसके निर्माण में 73.5 करोड़ डॉलर खर्च हुआ। इस स्टेडियम के निर्माण कार्य के दौरान एक हादसे में आठ मजदूरों की भी मौत हो गई थी। फीफा विश्व कप 2018 के सेमीफाइनल मैच इसी अंतरिक्ष यान की तरह दिखने वाले स्टेडियम में खेले जाएंगे। #4 फिश्ट स्टेडियम - रूस के सोची में स्थित इस स्टेडियम की क्षमता 47,700 दर्शकों की है। इसे बनाने में 40 करोड़ डॉलर की लागत आई , जबकि इसे फिर से फुटबॉल मैच के लिए तैयार करने में 6.8 करोड़ का खर्चा आया था। ये स्टेडियम 2014 विंटर ओलंपिक के उद्घाटन समारोह की मेजबानी कर चुका है। हालांकि ये स्टेडियम शहर से 4 घण्टे दूर है। #5 कज़ान एरेना - रूस के कज़ान शहर में स्थित इस स्टेडियम की क्षमता 44,779 दर्शकों की है और इसके निर्माण में 25 करोड़ डॉलर का खर्च आया है। इस स्टेडियम का सफर काफी विविधताओं से भरा रहा है। फुटबॉल कंफेडरेशन कप के आयोजन के साथ-साथ कई उद्घाटन समारोह , यहां तक कि 2015 में विश्व तैराकी चैंपियनशिप का भी आयोजन यहां पर हो चुका है। #6 समारा एरेना - रूस के समारा शहर में स्थित इस स्टेडियम की दर्शक क्षमता 44,807 है। इसके निर्माण में 31 करोड़ डॉलर का खर्च आया है। समारा शहर में वोल्गा नदी के तट पर बने इस स्टेडियम का गुंबद शीशे से बना है, जिस पर रूस के स्पेस प्रोग्राम में समारा का इतिहास दिखाया गया है। शहर के बाहर बने इस स्टेडियम में फीफा विश्व कप के क्वार्टर फाइनल मुकाबले खेले जाएंगे। #7 निज्नी नोवगोरोद स्टेडियम - निजनी नोवगोरोद में स्थित इस स्टेडियम की क्षमता 45,331 दर्शकों की है, जिसके निर्माण में 30.7 करोड़ डॉलर की लागत आई। डिजाइन के मामले में यह रूस के प्रभावशाली स्टेडियम्स में से एक है। इस स्टेडियम से ओका और वोल्गा नदी के दृश्य दिखते हैं जो कि इसी शहर में आकर मिलती हैं। इस स्टेडियम में भी फीफा विश्व कप 2018 के क्वार्टर फाइनल मुकाबले खेले जाएंगे। #8 रोस्तोव एरेना - रूस के रोस्तोव-ऑन-डॉन शहर में स्थित इस स्टेडियम की दर्शक क्षमता 45,145 लोगों की है। इसके निर्माण में 33 करोड़ डॉलर का खर्च आया है। हालांकि यहां ग्रुप मैच खेलने के लिए आने वाली टीमों के लिए तापमान एक समस्या बन सकता है। इस टूर्नामेंट के बाद ये स्टेडियम एफसी रोस्तोव का घरेलू मैदान होगा जिन्होंने 2016 के चैम्पियंस लीग के ग्रुप चरण में बायरन म्युनिख को हराया था। #9 वोल्गोग्राद एरेना - रूस के वोल्गोग्राद शहर में स्थित इस स्टेडियम की क्षमता 45,568 दर्शकों की है। इस स्टेडियम के निर्माण में 30 करोड़ डॉलर का खर्च आया था। एक समय स्टालिनग्राद के नाम से पहचाने जाने वाले वोल्गोग्राद शहर की तरह इस स्टेडियम में भी युद्ध का इतिहास दिखता है। #10 येकातेरिनबर्ग स्टेडियम - येकातेरिनबर्ग शहर में स्थित इस स्टेडियम की दर्शक क्षमता 35,696 है। जिसके पुनर्निर्माण में 22 करोड़ डॉलर का खर्च आया। यूराल पर्वत की गोद में बसे येकातेरिनबर्ग शहर का यह स्टेडियम अपने असामान्य डिजाइन के लिए प्रसिद्ध है। इस स्टेडियम की अस्थाई क्षमता मात्र 12, 000 रखी गई है जिससे कि विश्व कप मैचों में दर्शकों के लिए सीट की कीमत कम रखी जा सके। #11 मोरदोविया एरेना - के सरांस्क शहर में स्थित इस स्टेडियम की दर्शक क्षमता 44, 442 है। इस स्टेडियम के निर्माण में 29.5 करोड़ डॉलर का खर्च आया है। सिर्फ तीन लाख की आबादी वाले इस शहर को फीफा विश्व कप 2018 के मेजबान के रूप में चुना जाना आश्चर्यजनक है। विश्व कप के बाद इसे अस्थायी तौर पर 25000 दर्शकीय क्षमता में तब्दील कर दिया जाएगा। #12 कैलिनिनग्राद स्टेडियम - रूस के कैलिनिनग्राद शहर में स्थित इस स्टेडियम में 35,212 दर्शक बैठ सकते हैं। इस स्टेडियम के निर्माण में 30 करोड़ डॉलर का खर्च आया है। पोलैंड और लिथुआनिया के बीच स्थित कैलिनिनग्राद शहर रूस के बाकी हिस्सों से कटा हुआ है।

Edited by Staff Editor