Create

ISL : आज से होगा देश की सबसे बड़ी फुटबॉल लीग का आगाज, जानें कौन सी टीमें ले रही हैं भाग

देश की सबसे बड़ी फुटबॉल लीग ISL का आठवां सीजन आज से शुरु होगा।
देश की सबसे बड़ी फुटबॉल लीग ISL का आठवां सीजन आज से शुरु होगा।
Hemlata Pandey

देश की सबसे बड़ी फुटबॉल लीग इंडियन सुपर लीग यानि ISL के आठवें सीजन की शुरुआत 19 नवंबर से होने जा रही है। साल 2014 में शुरु हुई ये लीग पिछले 8 सालों में काफी ज्यादा मजबूत हो गई है और लगातार इससे फुटबॉल को देश में ज्यादा से ज्यादा प्रशंसक मिल रहे हैं। आठवें सीजन का पहला मुकाबला पिछले सीजन की उपविजेता ATK मोहन बगान और केरल ब्लास्टर्स के बीच खेला जाएगा।

ISL ऑल इंडिया फुटबॉल फेडरेशन (AIFF) और उनके कमर्शियल पार्टनर Football Sports Development Limited के द्वारा इस पूरी लीग का आयोजन किया जाता है। पिछले सीजन की तरह ही इस बार भी 11 टीमें इस टूर्नामेंट में भाग ले रही हैं। 19 नवंबर से शुरु हो रही लीग का फाइनल मार्च 2022 में खेला जाएगा। आपको बताते हैं भाग ले रही टीमों के बारे में -

1) ATK मोहन बगान - देश के सबसे पुराने एथलेटिक क्लब की मोहन बगान और ATK के मर्जर से बनी इस टीम ने अपने नए रूप में पहला सीजन पिछले साल खेला था। ISL का 2014, 2016 और 2019-20 का सीजन कोलकाता के नाम रहा था। जबकि टीम 2020-21 के सीजन में फाइनल में मुंबई सिटी के हाथों हारी थी।

2) बेंगलुरु FC - बेंगलुरु FC की टीम 2017-18 सीजन में फाइनल में चेन्नईयन FC के हाथों हार गई थी, लेकिन टीम ने जोरदार वापसी कर 2018-19 का खिताब अपने नाम किया। क्लब ने स्कॉटलैंड के फुटबॉल क्लब रेंजर्स के साथ भी पार्टनरशिप की है।

3) चेन्नईयन FC - चेन्नई की यह टीम टूर्नामेंट की सबसे मजबूत टीमों में शामिल है। चेन्नईयन FC ने 2015 में पहली बार ISL ट्रॉफी जीती, इसके बाद 2017-18 सीजन भी चेन्नई के नाम रहा। 2019-20 में चेन्नईयन ने फाइनल में जगह बनाई थी जहां उन्हें ATK ने मात दी। हालांकि पिछला सीजन चेन्नई के लिए काफी खराब रहा था, लेकिन टीम इस बार पहले की लय में वापस आकर खिताब जीतना चाहेगी। इस क्लब के मालिकों में बॉलीवुड स्टार अभिषेक बच्चन और क्रिकेटर एम एस धोनी भी शामिल हैं।

4) FC गोवा - फुटबॉल क्लब गोवा का को प्यार से फैंस The Gaurs भी कहते हैं।2015 और 2018-19 ISL सीजन में गोवा की टीम फाइनल में पहुंची, लेकिन दोनों बार उसे फाइनल में हार का सामना करना पड़ा। 2019-20 में टीम लीग स्टेज में टॉप पर रही थी और पहली ISL विनर्स शील्ड भी जीती। पिछले सीजन में गोवा ने प्ले ऑफ में जगह बनाई थी, लेकिन सेमिफाइनल में मुंबई के हाथों मात मिली। यह क्लब AFC चैंपियंस लीग के ग्रुप स्टेज के लिए क्वालिफाय करने वाला पहला भारतीय फुटबॉल क्लब है। इस क्लब के मालिकों में विराट कोहली भी शामिल हैं।

5) हैदराबाद FC - 2019-20 के सीजन में पुणे की टीम की फ्रेंचाइज खत्म होने के बाद हैदराबाद नई फ्रेंचाइज बनकर ISL का हिस्सा बनी। अपने पहले सीजन में टीम 18 में से सिर्फ 2 ही मैच जीत पाई और 10 टीमों में आखिरी पायदान पर रही। 2020-21 के सीजन में टीम ने बेहतर प्रदर्शन किया और 5वें स्थान पर सीजन खत्म किया।

6) जमशेदपुर FC - साल 2017 में बना ये क्लब 2017-18 सीजन से ISL का हिस्सा बना और टीम 5वें स्थान पर रही। 2018-19 में भी जमशेदपुर ने लीग टेबल में 5वां स्थान हासिल किया। 2019-20 में आठवें स्थान पर फिनिश करने वाले इस क्लब ने पिछले सीजन में लीग टेबल में छठा स्थान हासिल किया। क्लब का मालिकाना हक टाटा स्टील के पास है।

The 🔔 has rung - it's time for #HeroISL 2021-22! 🤩@atkmohunbaganfc or @KeralaBlasters - who will begin their journey with a win? Predict 👇#ATKMBKBFC #LetsFootball #ISL #ATKMB #KBFC https://t.co/uF6T87CVMR

7) केरला ब्लास्टर्स - पहले सीजन में केरल की टीम ने फाइनल तक का सफर तय किया जहां उन्हें हार का सामना करना पड़ा। 2016 में भी केरला ब्लास्टर्स उपविजेता रही। टीम के घरेलू मैदान में होने वाले मैचों में आने वाले दर्शकों की तादाद रिकॉर्ड तोड़ रहती है। लेकिन पिछले कुछ सीजन से टीम का प्रदर्शन लगातार खराब हो रहा है। पिछले सीजन में टीम 10वें स्थान पर रही थी। क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर, तेलुगु फिल्मों के सुपरस्टार चिरंजीवी, नागार्जुना जैसे नाम इस क्लब के मालिकों में शुमार हैं।

8) मुंबई सिटी - 2020-21 सीजन की चैंपियन मुंबई ने ISL विनर्स शील्ड भी जीती थी।पिछले सात सीजन में टीम 5 नए हेड कोच तैनात कर चुकी है। पहले सीजन में आठ टीमों में सांतवे स्थान पर रही मुंबई ने हर सीजन में अपने प्रदर्शन को बेहतर करते हुए पिछली बार अपना पहला खिताब जीता है। बॉलीवुड एक्टर रणबीर कपूर टीम के Co-Owners में शामिल हैं।

9) नॉर्थईस्ट यूनाईटेड - यह क्लब ISL की शुरुआत से ही इसका हिस्सा है। क्लब पूर्वोत्तर भारत के सात और सिक्किम राज्य का प्रतिनिधित्व करता है। बॉलीवुड एक्टर जॉन एब्राहम क्लब के मालिक हैं। साल 2015 में टीम प्ले-ऑफ में जाने से चूक गई। पिछले सीजन में टीम ने लगातार 10 मैचों में बिना हार के सफर तय किया जो इनका पर्सनल बेस्ट है और टीम तीसरे स्थान पर रही थी। ऐसे में फैंस को उम्मीद है कि टीम इस सीजन में खिताब जीतने का दम रखती है।

10) ओडिशा FC - ISL की शुरुआत में Delhi Dynamos FC नाम की टीम टूर्नामेंट में भाग लिया करती थी। 2019-20 के सीजन की शुरुआत से पहले इस क्लब ने अपना बेस भुवनेश्वर के कलिंग स्टेडियम में बनाया और ओडिशा FC में बदल गया। टीम के टेक्निकल एडवाइजर मशहूर स्पेनिश फुटबॉल खिलाड़ी डेविड विला हैं। बतौर ओडिशा FC टीम 2019-20 सीजन में लीग स्टेज में 6ठे नंबर पर रही थी जबकि पिछले सीजन में टीम आखिरी स्थान यानि 11वें नंबर पर थी।

11) SC ईस्ट बंगाल - स्पोर्टिंग क्लब ईस्ट बंगाल भारत के सबसे पुराने फुटबॉल क्लब में शामिल है। 2020-21 सीजन में पहली बार ईस्ट बंगाल को ISL में खेलने का मौका मिला था। हालांकि टीम लीग स्टेज पर 9वें स्थान पर रही थी, लेकिन इस बार इस ऐतिहासिक फुटबॉल क्लब का लक्ष्य प्लेऑफ तक जाने का तो होगा ही।

लीग का आधिकारिक पोस्टर। नीता अंबानी लीग की चेयरपर्सन हैं।
लीग का आधिकारिक पोस्टर। नीता अंबानी लीग की चेयरपर्सन हैं।

अभी तक ATK कोलकाता को तीन बार 2014, 2016, 2019-20 सीजन में खिताब जीतने का रिकॉर्ड हासिल है। चेन्नईयन FC 2015 और 2017-8 में, बेंगलुरु 2018-19 में और मुंबई की टीम 2020-21 में ISL की ट्रॉफी जीत चुकी हैं। लीग के विजेता को AFC चैंपियंस लीग में सीधे प्रवेश मिलता है जो एशियाई देशों की टॉप लीग के बीच होने वाली चैंपियनशिप है। भारत में आप स्टार स्पोर्ट्स या हॉटस्टार प्लेटफॉर्म पर ISL के मुकाबले देख सकते हैं।


Edited by निशांत द्रविड़

Comments

Quick Links

More from Sportskeeda
Fetching more content...