Create
Notifications
New User posted their first comment
Advertisement

भारतीय महिला फुटबॉल टीम ने दो साल में जबरदस्‍त प्रगति की - मेमोल रॉकी

फुटबॉल
फुटबॉल
Vivek Goel
SENIOR ANALYST
Modified 30 Sep 2020, 21:57 IST
न्यूज़
Advertisement

हेड कोच मेमोल रॉकी ने एक अंतरराष्‍ट्रीय वर्चुअल कांफ्रेंस को संबोधित करते हुए कहा कि भारतीय महिला फुटबॉल टीम ने पिछले दो सालों में गजब की प्रगति की है। अखिल भारतीय फुटबॉल फेडरेशन (एआईएफएफ) ने इस कोचिंग कांफ्रेंस का आयोजन किया था, जिसमें मेमोल रॉकी का विषय था 'भारत में महिलाओं का फुटबॉल।' 

2017 में हेड कोच पद पर नियुक्‍त हुईं मेमोल रॉकी ने कहा, 'हमारी यात्रा बस शुरू हुई है। एआईएफएफ और भारतीय सरकार को धन्‍यवाद देना चाहूंगी, जिनके समर्थन से पिछले दो सालों में भारतीय महिला फुटबॉल टीम ने जबरदस्‍त प्रगति की है। हमने दोनों तरह लंबे और छोटे समय के लिए योजना बनाई है और हमें हर तरह से इसमें समर्थन मिल रहा है।'

नवंबर 2018 में भारतीय महिला फुटबॉल टीम इतिहास में पहली बार ओलंपिक क्‍वालीफायर्स के दूसरे राउंड में पहुंची थी। सफलता को टर्निंग प्‍वाइंट बताते हुए मेमोल ने मैचों और टूर्नामेंटों की संख्‍या बढ़ने व उनकी टीम के 2019 में ज्‍यादा खेलने के लाभ बताए और इसका सकारात्‍मक प्रभाव भी बताया।

मेमोल रॉकी ने कहा, 'पिछले दो सालों में हमने मजबूत टीम का निर्माण किया। ज्‍यादातर खिलाड़ी युवा हैं। हमें सही पहचान मिली- ज्‍यादा कैंप, ज्‍यादा मैच और ज्‍यादा तैयारी का समय। हमने कई ऊंची रैंक वाली टीमों के खिलाफ प्रतिस्‍पर्धी मैच खेले। किसी भी खिलाड़ी को इतने मैच कभी खेलने को नहीं मिले, जितने 2019 में मिले थे। हमारा पहला शिविर करीब चार महीने लंबा रहा और हमें सभी तरह की जरूरतें व उपकरण मुहैया कराए गए। जैसे रहने की अच्‍छी जगह, अच्‍छी ट्रेनिंग पिच और महिला खिलाड़‍ियों के लिए विशेष डिजाइन बनी वाली किट।'

मेमोल रॉकी ने बताया भारतीय महिला फुटबॉल टीम को किससे मिला असली फायदा

मेमोल ने विस्‍तार से बताया कि गुणी टीमों के खिलाफ खेलने से भारतीय महिला फुटबॉल टीम को क्‍या फायदा मिला। भारत ने 2019 की शुरूआत में हांगकांग और इंडोनेशिया के खिलाफ दोस्‍ताना मैच खेले। भारत ने कई मैचों में से चार मुकाबले जीते। फिर भुवनेश्‍वर में चार देशों के हीरो गोल्‍ड कप की मेजबानी और तुर्की में टूर्नामेंट खेलना, जिसमें रोमानिया के खिलाफ मैच शामिल है। मेमोल रॉकी ने कहा कि इन मुकाबलों से टीम का विश्‍वास काफी बढ़ा है।

मार्च में भारत पांचवीं बार सैफ चैंपियंस बना, जहां फाइनल में उसने नेपाल को 3-1 से मात दी। फिर ओलंपिक क्‍वालीफायर्स में दूसरे राउंड से आगे बढ़ने के करीब आया, लेकिन म्‍यांमार से गोल अंतर से पीछे रह गया।

Published 30 Sep 2020, 21:57 IST
Advertisement
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now
❤️ Favorites Edit