1958 के बाद पहली बार फुटबॉल विश्व कप में हिस्सा नहीं लेगी इटली

2018 में होने वाले फुटबॉल विश्व कप से 4 बार की चैंपियन इटली की टीम बाहर हो गई है। स्वीडन के खिलाफ क्वालीफायर मुकाबले में उन्होंने ड्रॉ खेला और स्वीडन के खिलाफ पिछला मैच 0-1 से हारने के कारण नुकसान हुआ । इसकी वजह से इटली की टीम क्वालीफाई नहीं कर पाई। 1958 के बाद ये पहली बार होगा जब इटली की टीम फीफा विश्व कप में हिस्सा नहीं लेगी। वहीं स्वीडन की टीम ने साल 2006 के बाद पहली बार विश्व कप के लिए क्वालीफाई किया। मैच में इटली ने स्वीडन पर दबाव बना कर रखा लेकिन वो गोल नहीं कर सके। सैन सिरो में इटली की टीम को सपोर्ट करने करीब 74 हजार फुटबॉल फैंस मौजूद थे लेकिन इटली मैच में एक भी गोल नहीं कर सकी और फैंस को निराश होना पड़ा। ये तीसरी बार है जब इटली की टीम विश्व कप में नहीं खेलेगी। इससे पहले 1930 वर्ल्ड कप और 1958 वर्ल्ड कप में भी इटली ने हिस्सा नहीं लिया था। वहीं इटली के इस निराशाजनक प्रदर्शन के बाद मशहूर गोलकीपर जियानलुगी बुफोन के करियर का अंत हो गया। इटली की टीम अगर क्वालीफाई करती तो वो रिकॉर्ड छठी बार विश्व कप में हिस्सा लेते। मैच के बाद बुफोन की आंखों में आंसू थे और उन्होंने कहा कि आइ एम सॉरी।

Edited by Staff Editor