Create
Notifications
New User posted their first comment
Advertisement

भारतीय फुटबॉल टीम में गुरप्रीत और संदेश के साथ आगे भी धमाल करना है: आदिल खान

आदिल खान
आदिल खान
Vivek Goel
SENIOR ANALYST
Modified 16 Dec 2020, 12:30 IST
न्यूज़
Advertisement

भारतीय फुटबॉल टीम के डिफेंडर आदिल खान ने अनुभवी गोलकीपर गुरप्रीत सिंह और डिफेंडर संदेश झिंगन की जमकर तारीफ की और कहा कि इन दोनों की बदौलत टीम को मजबूत डिफेंसिव ईकाई बनाने में मदद मिली। आदिल खान ने कहा कि वह भाग्‍यशाली हैं कि गुरप्रीत और संदेश से उन्‍हें मदद मिलती है। आदिल खान ने कहा, 'मैं भाग्‍यशाली हूं कि राष्‍ट्रीय टीम में ऐसे साथी मिले हैं। दुर्भाग्‍यवश हम आईएसएल में एक टीम के लिए नहीं खेल सकते, लेकिन राष्‍ट्रीय टीम में हमने भारत के लिए शानदार डिफेंसिव दीवार बनाई है।'

यह पूछने पर कि गोलकीपर और डिफेंडर के साथ कैसा रिश्‍ता है तो गोवा के डिफेंडर आदिल खान ने जवाब दिया, 'राष्‍ट्रीय टीम में हमने साथ में ट्रेनिंग शुरू की और जब से हम एक-दूसरे को बेहतर ढंग से जानना शुरू कर पाए। संदेश झिंगन बहुत ऊंचा बोलते हैं। वह सभी खिलाड़‍ियों को मार्गदर्शन देते हैं और मैं सीनियर होने के बावजूद, उन्‍हें बात करने का अवसर देता हूं क्‍योंकि वह मुझसे ज्‍यादा ऊंची आवाज में बात करते हैं और अच्‍छे से मार्गदर्शन देते हैं। मुझे यह भी पता है कि वह कितने शक्तिशाली और मजबूत हैं। जब भी मैं गलती करता हूं तो मुझे पता है कि वो कवर करने आएगा और शायद उसे भी यह बात पता है। मैं उनके साथ ज्‍यादा मैच खेलना चाहता हूं। जब भी वो सेंट्रल डिफेंडर के रूप में रहते हैं तो मैं ज्‍यादा सुरक्षित महसूस करता हूं।'

आदिल खान ने गिनाई गुरप्रीत सिंह की खूबियां

आदिल खान ने 6 फुट 5 इंच कद वाले गुरप्रीत सिंह की शांत उपस्थिति के बारे में बात की। खान ने कहा, 'गुरप्रीत का टीम में होना लगता है कि सुरक्षा है और आपको पता है कि अगर आपने कोई गलती की, तो वो उसे कवर करने के लिए है। हमने कतर के खिलाफ गुरप्रीत का सर्वश्रेष्‍ठ प्रदर्शन देखा ही था। उनका एटीट्यूड और सकारात्‍मकता शानदार थी। वह आने वाले कई सालों तक भारत के सर्वश्रेष्‍ठ गोलकीपर्स में से एक रहने वाले हैं।' 32 साल के आदिल खान ने बताया कि वह डेविड बैकहम को लंबे समय से अपना आदर्श मानते थे। फिर महेश गवली ने उनके दिल पर गहरी छाप छोड़ी।

आदिल खान ने कहा, 'मैं अपने जवानी के दिनों में डेविड बैकहम को बहुत फॉलो करता था, लेकिन जब मैंने डिफेंडर की पोजीशन पर खेलना शुरू किया तो महेश गवली भाई मेरे आदर्श बन गए। कई सालों तक वह भारत के महानतम डिफेंडरों में से एक रहे, जिन्‍हें भारत के लिए मैंने खेलते हुए देखा। काफी शांत, प्रतिभाशाली और शानदार व्‍यक्ति। मैं उनके सबसे बड़े फैंस में से एक हूं। मैं लॉकडाउन से कुछ महीने पहले उनसे मिला और वो अब भी शीर्ष स्‍तर पर फुटबॉल खेलने के लिए पर्याप्‍त फिट हैं।'

Published 16 Dec 2020, 12:30 IST
Advertisement
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now
❤️ Favorites Edit