Create
Notifications

बार्सिलोना में आखिरी दिनों के बर्ताव को याद करके रो पड़े लुईस सुआरेज

लुईस सुआरेज
लुईस सुआरेज
Vivek Goel
visit

लुईस सुआरेज ने बार्सिलोना क्‍लब के अपने अंतिम दिनों को याद किया तो रो पड़े। लुईस सुआरेज ने खुलासा किया कि बार्सिलोना में अंतिम दिनों में उन्‍हें ट्रेनिंग में हिस्‍सा लेने की अनुमति तक नहीं मिली थी। लुईस सुआरेज अब एटलेटिको मैड्रिड के साथ जुड़ चुके हैं। विश्‍व कप क्‍वालीफायर में गुरुवार को चिली पर 2-1 की शानदार जीत दर्ज करने के बाद उरुग्‍वे के फॉरवर्ड लुईस सुआरेज ने कहा, 'वह बहुत कठिन दिन थे। मैं रोया क्‍योंकि उस समय मेरे साथ बर्ताव सही नहीं था।'

लुईस सुआरेज ने आगे कहा, 'मुझे क्‍लब का संदेश नहीं मिला कि मेरा विकल्‍प तलाश रहे हैं ताकि चीजें सही तरह से मिश्रित की जा सकें। मुझे सबसे ज्‍यादा बुरा इस बात का लगा कि उन्‍होंने मेरे साथ बर्ताव अच्‍छा नहीं किया। हर किसी को स्‍वीकार करना होता है कि हर चीज का अंत आता है।' लुईस सुआरेज ने बार्सिलोना में 6 साल बिताए और 198 गोल के साथ बार्सिलोना के तीसरे सबसे ज्‍यादा गोल करने वाले खिलाड़ी बने। लुईस सुआरेज की मदद से बार्सिलोना ने चार ला लीगा खिताब, चार घरेलू कप और 2015 चैंपियंस लीग खिताब अपने नाम किया। मगर लुईस सुआरेज की विदाई अनुबंध से एक साल पहले ही हो गई।

बार्सिलोना के नए कोच रोनाल्‍ड कोएमैन ने बताया कि लुईस सुआरेज अब टीम की योजना में शामिल नहीं हैं। तो ऐसे में लुईस सुआरेज को टीम के तीन प्री-सीजन मैचों से पहले टीम से बाहर कर दिया गया। फिर लुईस सुआरेज फ्री ट्रांसफर पर एटलेटिको जाने को राजी हुए।

लुईस सुआरेज की विदाई पर भड़के मेसी

लुईस सुआरेज ने कहा, 'हर किसी को नहीं पता कि क्‍या हुआ, लेकिन सबसे खराब बात थी ट्रेनिंग पर जाना और पूरे ग्रुप से अलग भेज दिया जाना क्‍योंकि मुझे प्रैक्टिस मैचों में खेलने की अनुमति नहीं थीं। मेरी पत्‍नी जानती है कि मैं कितना नाखुश था और वह मुझे दोबारा मुस्‍कुराता हुआ देखना चाहती थी और जब एटलेटिको से जुड़ने का मौका मिला, जिसे मैंने स्‍वीकार किया।'

लुईस सुआरेज ने एटलेटिको की ग्रेनेडा पर 6-1 से जीत में दो गोल दागे। 33 साल के लुईस सुआरेज ने बार्सिलोना से जाते समय बहुत की भावुक प्रेस कांफ्रेंस की थी। लुईस सुआरेज के साथी लियोनेल मेसी ने क्‍लब के बर्ताव पर जमकर भड़ास निकाली थी। सुआरेज ने कहा, 'मैं हैरान नहीं था कि मेसी ने सार्वजनिक मेरा साथ दिया क्‍योंकि मैं उन्‍हें बहुत अच्‍छे से जानता हूं। उन्‍हें मेरे दर्द का अंदाजा था। मुझे लात मारकर बाहर निकाला गया, जिसने मुझे सबसे ज्‍यादा दुख पहुंचाया। जिस तरह चीजें हुई, वो सही नहीं थी और मेसी को पता है कि मैंने और मेरे परिवार ने क्‍या सहा।'


Edited by Vivek Goel
Fetching more content...
Article image

Go to article
App download animated image Get the free App now