ATK मोहन बगान ने जीता इंडियन सुपर लीग का खिताब, फाइनल में बेंगलुरु को पेनेल्टी शूटआउट में दी मात

जीत के बाद ट्राफी के साथ जश्न मनाती ATK मोहन बागान की टीम।
जीत के बाद ट्राफी के साथ जश्न मनाती ATK मोहन बागान की टीम।

ATK मोहन बगान ने इंडियन सुपर लीग का 2022-23 सीजन का खिताब जीत लिया है। ATK ने फाइनल में बेंगलुरु एफसी को पेनेल्टी शूटआउट में मात दी। गोवा के जवाहरलाल नेहरू स्टेडियम में हुए खिताबी मुकाबले में स्कोर फुल टाइम पर 2-2 से बराबर रहा, और पेनेल्टी शूटआउट में ATK ने 4-3 से जीत हासिल की। ATK मोहन बगान के रूप में क्लब का यह पहला खिताब है, जबकि 2018-19 में खिताब जीत चुकी बेंगलुरु का यह तीसरा फाइनल था।

फाइनल मैच शुरु होते ही दोनों टीमों के बीच काफी तीखे तेवर दिखे। पहले ही मिनट में बेंगलुरु एफसी के शिवा साल्थी ATK के दो खिलाड़ियों के बीच में आ गए जिस कारण उनकी नाक में गहरी चोट लग गई। सुनील छेत्री पहले ही मिनट में बतौर सब्स्टिट्यूट मैदान में भेजे गए। 14वें मिनट में बेंगलुरु के रॉय कृष्णा की गलती के कारण ATK को पेनेल्टी का मौका मिला और पेत्रोतास ने इसे गोल में बदला। इसके बाद काफी इंतजार के बाद पहले हाफ के अंत के करीब सुनील छेत्री ने बेंगलुरु को मिली पेनेल्टी को गोल में बदला।

मैच के 78वें मिनट में सुरेश सिंह के कॉर्नर को रॉय कृष्णा ने गोल में बदला और बेंगलुरु को 2-1 से आगे कर दिया। 85वीं मिनट में ATK को पेनेल्टी का मौका मिला जिसे पेत्रोतास ने ही गोल में बदलते हुए स्कोर 2-2 से बराबर कर दिया। 90 मिनट तक जब स्कोर बराबर रहा तो मैच एक्स्ट्रा टाइम में गया लेकिन अगले 30 मिनट में भी कोई टीम गोल न कर सकी और मुकाबला पेनेल्टी शूटआउट में गया।

शुरुआती दोनों पेनेल्टी किक दोनों ही टीमों ने सफलता से ली। बेंगलुरु की तीसरी पेनेल्टी किक को ATK के गोलकीपर विशाल कैथ ने रोक दिया और टीम के तीसरे प्रयास को नसीरी ने गोल में बदल ATK को 3-2 से आगे कर दिया। बेंगलुरु की चौथी किक सुनील छेत्री ने सफलता से ली लेकिन ATK ने भी चौथी किक मनवीर सिंह की बदौलत सफलता से ली और 4-3 से आगे हो गए। बेंगलुरु को किसी भी हाल में अपनी पांचवी पेनेल्टी गोल में बदलनी थी, लेकिन पाब्लो पेरेज चूक गए और ATK मोहन बगान ने खिताब जीत लिया।

पेनेल्टी शूटआउट तक जाने वाला यह इस लीग का तीसरा फाइनल था। खास बात यह रही कि इस सीजन के दोनों सेमीफाइनल के विजेता का निर्णय भी पेनेल्टी शूटआउट से हुआ था। 2014 में शुरु हुई इस लीग का पहला खिताब Atletico de Kolkata ने जीता था और टीम 2016 में भी चैंपियन बनी। 2019-20 में इसी क्लब ने बतौर ATK खिताब जीता।

2020-21 में ATK और मोहन बगान के फुटबॉल सेक्शन का मर्जर हुआ जिसके बाद ATK मोहन बगान नाम से क्लब बना। तब टीम ने फाइनल में जगह बनाई थी जहां मुंबई ने उन्हें मात दी थी। पिछले सीजन में ATK मोहन बगान सेमीफाइनल में हार गई थी, लेकिन अब इस सीजन को जीतकर क्लब ने खिताब अपने नाम कर लिया है। जीत के बाद क्लब के मैनेजमेंट ने ऐलान किया कि अगले सीजन से इसका नाम बदलकर मोहन बगान सुपर जायंट्स कर दिया जाएगा।

Quick Links

Edited by Prashant Kumar
App download animated image Get the free App now