ISL जीतने पर ATK मोहन बगान का कोलकाता में भव्य स्वागत, CM ने किया सम्मान

ATK मोहन बगान के खिलाड़ियों के साथ ISL की ट्रॉफी थामे पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बैनर्जी।
ATK मोहन बगान के खिलाड़ियों के साथ ISL की ट्रॉफी थामे पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बैनर्जी।

इंडियन सुपर लीग का 2022-23 सीजन खिताब जीतने वाली ATK मोहन बगान के खिलाड़ियों का अपने शहर कोलकाता लौटने पर भव्य स्वागत किया गया। रविवार को टीम के कोच और खिलाड़ियों से मिलने के लिए कोलकाता एयरपोर्ट के बाहर फैंस की भीड़ जमा हो गई। सोमवार को राज्य की मुख्यमंत्री ममता बैनर्जी ने मोहन बगान एथलेटिक क्लब में जाकर टीम के कोच, खिलाड़ियों और मैनेजमेंट का सम्मान किया।

रविवार को कोलकाता एयरपोर्ट से होटल जाते हुए ATK मोहन बगान की बस के चारों ओर फैंस अपने वाहनों में बैठकर साथ चलते रहे और खुशी से चिल्लाते दिखे। इस सीजन टीम ने बेहतरीन प्रदर्शन करते हुए खिताब जीता। शनिवार को गोवा के जवाहरलाल नेहरू स्टेडियम में हुए सीजन के फाइनल मैच में ATK मोहन बगान ने बेंगलुरु एफसी को पेनेल्टी शूटआउट में 4-3 से हराकर खिताब अपने नाम किया। ATK और मोहन बगान के मर्जर के बाद यह इस क्लब का पहला लीग खिताब था। फाइनल के बाद टीम के मैनेजमेंट की ओर से ऐलान किया गया था कि अगले सीजन से क्लब का नाम बदलकर मोहन बगान सुपर जायंट्स कर दिया जाएगा।

देश में सबसे लोकप्रिय क्लब फुटबॉल लीग बन चुकी इंडियन सुपर लीग के पहले सीजन को Atletico de Kolkata क्लब ने जीता था जो आगे चलकर ATK फुटबॉल क्लब में तब्दील हुआ। साल 2016 का सीजन भी क्लब ने Atletico de Kolkata के रूप में जीता। 2019-20 में क्लब का नाम ATK किया गया। 2020-21 में मोहन बगान एथलेटिक क्लब के फुटबॉल विंग के साथ ATK का मर्जर हुआ और क्लब का नया नाम ATK मोहन बगान किया गया।

2020-21 में ही लीग में ATK मोहन बगान के रूप में क्लब पहली बार शामिल हुआ और इस साल क्लब उपविजेता बना। 2021-22 में पिछले सीजन टीम सेमीफाइनल तक पहुंची। लेकिन इस बार खिताब जीतकर क्लब ने अपने हजारों फैंस को खुश कर दिया। हालांकि मोहन बगान एथलेटिक क्लब के फैंस ATK के साथ हुए मर्जर से खुश नहीं थे, और इसका लगातार विरोध करते रहे। यही कारण है कि अब नए सीजन से क्लब के नाम से ATK हटाने का फैसला लिया गया है।

Quick Links

App download animated image Get the free App now