Create
Notifications

लिवरपुल के लिए खुशखबरी, आर्सेनल ट्रिप से पहले ट्रेनिंग में लौटे रॉबर्टो फर्मिनो

रॉबर्टो फर्मिनो
रॉबर्टो फर्मिनो
Vivek Goel

लिवरपुल के फॉरवर्ड रॉबर्टो फर्मिनो घुटने की चोट के बाद शनिवार को आर्सेनल के खिलाफ होने वाले प्रीमियर लीग मुकाबले से पहले ट्रेनिंग पर लौट आए हैं। फर्मिनो ने चोट के कारण लिवरपुल के आखिरी तीन मैचों में शिरकत नहीं की थी। मगर सोमवार को वह ग्रुप ट्रेनिंग सेशन पर लौटे। क्‍लब ने फर्मिनो के प्रैक्टिस करते हुए फोटो अपनी वेबसाइट पर अपलोड किए हैं। ब्राजीली खिलाड़ी फर्मिनो ने इस साल 27 लीग मैचों में 6 गोल दागे और पांच गोलों में सहायक की भूमिका निभाई।

बहरहाल, लिवरपुल खिलाड़‍ियों की चोटों से जूझ रही है। उसके सेंट्रल डिफेंडर्स वर्जिल वान इक, जो गोमेज (दोनों घुटने की चोट) जोएल माटिप (एड़ी) और मिडफील्‍डर जॉर्डन हेंडरसन (ग्रोइन) चोटों से जूघ्‍ रहे हैं। लिवरपुल ने पिछले सीजन में 30 साल का सूखा खत्‍म करके पहली बार इंग्लिश शीर्ष खिताब अपने नाम किया था। हालांकि, चोटों और खराब फॉर्म के कारण वह 46 अंकों के साथ सातवें स्‍थान पर पहुंच गया है। वह मैनचेस्‍टर सिटी से 25 अंक पीछे है।

लिवरपुल के पास बड़ा मौका

लिवरपुल के पास प्रीमियर लीग में शीर्ष चार में अपनी जगह पक्‍की करने का एक बाहरी मौका है। वह चेल्‍सी से पांच अंक पीछे है और इसलिए आर्सेनल के खिलाफ मैच नहीं हार सकती। नॉर्थ लंदन की यात्रा के बाद लिवरपुल को चैंपियंस लीग क्‍वार्टर फाइनल के पहले चरण में रीयल मैड्रिड का सामना करना पड़ेगा। जर्गेन क्‍लॉप की टीम लिवरपुल प्रीमियर लीग में सातवें स्‍थान पर है और उसके खिताब की रक्षा करना नामुमकिन लग रहा है।

बड़ी चिंता यह है कि लिवरपुल का चैंपियंस लीग में जगह बनाने पर भी खतरा मंडरा रहा है। लिवरपुल टॉप-4 से पांच अंक पीछे है क्‍योंकि लीग में पिछले पांच मैचों में उसे तीन में शिकस्‍त सहनी पड़ी है। सादियो माने का मानना है कि लिवरपुल को अंत तक कड़ी टक्‍कर देने की कोशिश करनी चाहिए न कि यह मानकर बैठ जाएं कि उनके हाथ से खिताब फिसल गया है।

सादियो माने का मौजूदा प्रदर्शन भी प्रभावी नहीं है। उन्‍होंने सभी स्‍पर्धाओं में 37 मैच खेले, जिसमें 12 गोल दागे और 6 में सहायक की भूमिका निभाई। माने ने कहा, 'हमें स्थिति का सामना करना पड़ेगा और विश्‍वास करना नहीं रोकना होगा। हमें लड़ने की जरूरत है, अपना प्रोत्‍साहन और आगे बढ़ने के जज्‍बे को जिंदा रखना जरूरी है। आज आप फाइटर होते हो बहाने नहीं बना सकते। हम यहां हल खोजने आए हैं। टीम वालों के साथ होने से हमेशा ऊर्जा मिलती है।'


Edited by Vivek Goel

Comments

Quick Links:

More from Sportskeeda
Fetching more content...