लिवरपूल की बुराई करने पर फैंस के निशाने पर आए मैनचेस्टर सिटी के मैनेजर पेप गुआरडिओला 

मैनचेस्टर सिटी के मैनेजर पेप के मुताबिक लिवरपूल का प्रीमियर लीग इतिहास अच्छा नहीं रहा है।
मैनचेस्टर सिटी के मैनेजर पेप के मुताबिक लिवरपूल का प्रीमियर लीग इतिहास अच्छा नहीं रहा है।

हाल ही में चैंपियंस लीग के सेमीफाइनल में स्पेनिश क्लब रियाल मेड्रिड के सामने जीता हुआ मैच हारने वाली मैनचेस्टर सिटी के मैनेजर पेप गुआरडिओला सोशल मीडिया पर जबरदस्त ट्रोलिंग का शिकार हो रहे हैं। चैंपियंस लीग से बाहर होने वाली मैनचेस्टर सिटी इंग्लिश प्रीमियर लीग में खिताब के लिए इंग्लिश क्लब लिवरपूल से कड़ी टक्कर झेल रही है। ऐसे में पेप ने लिवरपूल पर ऐसा बयान दिया कि लिवरपूल के फैंस ने उन्हें और मैनचेस्टर सिटी का मजाक उड़ाना शुरु कर दिया।

3 दिन पहले सिटी प्रीमियर लीग में 83 अंक लेकर टॉप पर थी। इसके बाद लिवरपूल ने टॉटनहैम के खिलाफ ड्रॉ खेला और उसके भी 83 अंक हो गए और वो गोल डिफरेंस के आधार पर नंबर 1 बन गई। लेकिन सिटी ने अगले ही दिन न्यूकासल को 5-0 से हराने के बाद लिवरपूल पर 3 अंकों की बढ़त बना ली। मैच के बाद पेप ने बयान दिया कि देश में सभी लिवरपूल का साथ देते हैं। लेकिन पेप ने ये लाइन भी जोड़ दी कि प्रीमियर लीग इतिहास में लिवरपूल ने ज्यादा कुछ नहीं किया है क्योंकि टीम के पास 30 साल के इतिहास में सिर्फ 1 ट्रॉफी है।

पेप के इस बयान के बाद फैंस का गुस्सा सोशल मीडिया पर जमकर फूटा और उन्होंने पेप से सवाल किया कि लिवरपूल के पास भले ही 1 प्रीमियर लीग टाइटल हो लेकिन उनकी मैनचेस्टर सिटी के पास तो एक भी चैंपियंस लीग का खिताब नहीं है। सिटी पिछले सीजन पहली बार चैंपियंस लीग फाइनल में पहुंची थी जहां चेल्सी ने उसे हराया था। ऐसे में फैंस ट्विटर पर #0UCL यानी शून्य चैंपियंस लीग खिताब का हैशटैग ट्रेंड कर पेप और सिटी का मजाक उड़ाते दिखे।

लिवरपूल 6 बार चैंपियंस लीग का खिताब जीत चुकी है इस सीजन भी फाइनल में पहुंच चुकी है। लिवरपूल ने पिछले पांच सालों में तीसरी बार फाइनल में स्थान पक्का किया है और आखिरी बार 2018-19 में चैंपियन बनी थी। वहीं एक भी चैंपियंस लीग खिताब ना जीत पाने वाली सिटी के पास कुल 5 प्रीमियर लीग खिताब हैं।

सिटी की टीम पिछले चार सीजन में 3 बार प्रीमियर लीग का खिताब जीत चुकी है जबकि इस बार भी सिटी टॉप दावेदार है। लेकिन फैंस का मानना है कि पेप सिर्फ प्रीमियर लीग जीतकर खुश दिख रहे हैं जबकि उनका ध्यान टीम को यूरोपीय क्लब फुटबॉल की सबसे बड़ी ट्रॉफी दिलाने पर होना चाहिए। पेप ने साल 2016 में सिटी का मैनेजर पद संभाला था।

इसके बाद 2017 में टीम राउंड ऑफ 16 में ही बाहर हो गई, जबकि 2018, 2019, 2020 में टीम क्वार्टरफाइनल से आगे नहीं बढ़ी। वहीं 2021 में टीम उपविजेता रही और इस बार रियाल के खिलाफ हारकर सेमीफाइनल से बाहर हो गई।

मीडिया और फैंस से मिल रहे ज्यादा समर्थन के पेप के कमेंट पर लिवरपूल के मैनेजर ह्रगन क्लॉप भी हंस पड़े और माना कि चैंपियंस लीग से हारकर बाहर होने पर पेप को थोड़ी दिक्कत जरूर महसूस हो रही है।

Quick Links

Edited by Prashant Kumar
App download animated image Get the free App now