चैंपियंस लीग: एटलैटिको को हराकर रियाल मैड्रिड ने 11वीं बार ट्रॉफी जीती

मिलान में देर रात खेले गए चैंपियंस लीग के फाइनल में रियाल मैड्रिड ने पैनल्टी शूट आउट (5-3) की बदौलत एटलैटिको मैड्रिड को मात दी। ये 11वां मौका है जब रियाल मैड्रिड ने चैंपियंस लीग ट्रॉफी अपने नाम की। रियाल और एटलैटिको दोनों ही टीमें निर्धारित समय तक 1-1 की बराबरी पर थी। उसके बाद एक्सट्रा टाइम में दोनों ही टीमें गोल करने में कामयाब नहीं हो पाई। जिसके बाद मैच का फैसला पैनल्टी शूट आउट से हुआ। पैनल्टी शूट आउट के दौरान शुरुआती 6 शॉट्स पर दोनों ही टीमों ने स्कोर किया। रियाल की ओर से लूकास वास्केज़, मार्सैलो, गैराथ बेल ने स्कोर किया तो वहीं एटलेटिको की तरफ से ग्रीज़मैन, गाबी और साउल ने गोल कर स्कोर को 3-3 कर दिया। रियाल की तरफ से चौथा पैनल्टी स्ट्रॉक लेने आए सर्जियो रामोस कामयाब रहे और स्कोर लाइन 4-3 हो गई। एटलेटिको के पास स्कोर को बराबर करने का मौका था, लेकिन उनके खिला़ड़ी जुआनफ्रान पैनल्टी से चूक गए। जिससे 4-4 पैनल्टी के बाद रियाल की टीम 4-3 से आगे हो गई। रियाल की ओऱ से पांचवी पैनल्टी लेने क्रिस्टियानो रोनाल्डो आए। उन्होंने कोई भी गलती नहीं करते हुए बॉल को गोल पोस्ट में दागा और रियाल को 11वां बार चैंपियंस लीग का चैंपियन बनाया। इससे पहले मैच की शुरुआत में रियाल ने 1-0 की बढ़त बना ली थी। रियाल मैड्रिड की ओर से सर्जियो रामोस ने 15वें मिनट में गोल किया। पहले हाफ का खेल खत्म होने तक रियाल 1-0 से आगे थी। दूसरे हाफ में कारास्को ने एटलेटिको की ओर से 79वें मिनट में गोल कर स्कोर को 1-1 कर दिया। इसके बाद दोनों ही टीमें गोल कर पाने में नाकाम रही और मैच का फैसला पैनल्टी शूटआउट के जरिए हुआ, जिसमें रियाल मैड्रिड, एटलेटिको मैड्रिड पर भारी पड़ी। इस खिताबी जीत के बाद रियाल के कोच जिनेडिन जिडा़न सातवें ऐसे फुटबॉलर बन गए हैं, जिन्होंने बतौर खिलाड़ी और कोच चैंपियंस लीग ट्रॉफी जीती है। ये क्रिस्टियानो रोनाल्डो के करियर का तीसरा चैंपियंस लीग खिताब है। उन्होंने 2 बार रियाल मैड्रिड जबकि 1 बार मैनचेस्टर यूनाइटेड के साथ ट्रॉफी जीती है। मैच के बाद रियाल के कोच जिडान ने क्रिस्टियानो रोनाल्डो की जमकर तारीफ की।

Edited by Staff Editor