Create

Serie A के मुकाबले के दौरान हेडर से चोटिल हुए इब्राहिमोविच, अंपायर पर निकाला गुस्सा

चोट लगने के बाद अंपायर से दूसरी टीम के खिलाफ सजा की मांग करते इब्राहिमोविच।
चोट लगने के बाद अंपायर से दूसरी टीम के खिलाफ सजा की मांग करते इब्राहिमोविच।

स्वीडिश प्रोफेशनल फुटबॉलर और एसी मिलान क्लब के हिटमैन के नाम से मशहूर ज्लाटान इब्राहिमोविच इटली की सीरी ए लीग के एक मुकाबले में बुरी तरह चोटिल हो गए। बोलोना के खिलाफ मैच के दौरान इब्राहिमोविच को बोलोना के गैरी मेडेल का हेडर लगा जिस कारण उनकी बाईं आंख के ऊपर का हिस्सा चोटिल हो गया और बीच मैदान इब्राहिमोविच का खून भी निकलने लगा। हालांकि इसके तुरंत बाद उन्हें और मेडेल को मेडिकल अटेंशन मिला।

इब्राहिमोविच और मेडेल मैच खत्म होने से थोड़ी देर पहले कुछ यूं टकराए।
इब्राहिमोविच और मेडेल मैच खत्म होने से थोड़ी देर पहले कुछ यूं टकराए।

सीरी ए इटली की टॉप डिविडन लीग है और एसी मिलान इस लीग में फिलहाल टॉप पर चल रही है, लेकिन टीम को 12वें स्थान पर मौजूद बोलोना ने गोलरहित ड्रॉ पर रोक लिया जिसकी वजह से पहले नंबर पर बैठी एसी मिलान के 67 अंक हैं और दूसरे नंबर की नेपोली के 66 अंक हैं। ऐसे में मिलान का टॉप का फासला नीचे की बाकि टीमों से कम हो गया। फैंस का मानना है कि अगर बोलोना के खिलाफ मैच के दौरान अंपायर ने इब्राहिमोविच की चोट पर सही से गौर किया होता तो मिलान को पेनेल्टी का मौका मिलना चाहिए था और वो जीत भी जाती। इसी कारण इब्राहिमोविच की चोट की वजह से मिलान के फैंस और ज्यादा खफा हैं।

चोट लगने के बाद मेडेल (तस्वीर में) और इब्राहिमोविच को ट्रीटमेंट मिला।
चोट लगने के बाद मेडेल (तस्वीर में) और इब्राहिमोविच को ट्रीटमेंट मिला।

अपने घर में खेल रही मिलान को बोलोना ने काफी अच्छी टक्कर दी और पहले हाफ में टीम गोल करते-करते रह गई। हालांकि मिलान ने ज्यादा मौके बनाए लेकिन बोलोना के डिफेंस ने काफी बेहतर काम किया लेकिन दोनों टीमें पहले हाफ के बाद दूसरे हाफ में भी गोल के लिए तरसती दिखीं। 69वें मिनट में इब्राहिमोविच को टीम मैनेजर ने मैदान पर उतारा ताकि वो कोई कमाल दिखा कर टीम को बढ़त दिला दें। थोड़ी ही देर में बोलोना के डिफेंडर गैरी मेडेल से एक गेंद हेडर के जरिए लेने के चक्कर में इब्राहिमोविच की बाईं आंख के ऊपर का हिस्सा बुरी तरह जख्मी हो गया। इब्राहिमोविच ने अंपायर से काफी अपील की कि मेडेल की वजह से उन्हें चोट लगी जिसके लिए उन्हे सजा मिलनी चाहिए। दर्शकों को भी उम्मीद थी कि अंपायर मिलान के पक्ष में पेनेल्टी जैसा कोई कदम उठाएंगे, लेकिन क्योंकि मेडेल खुद भी चोटिल हुए थे इसलिए अंपायर ने उन्हे न कोई कार्ड दिखाया न ही टीम को कोई सजा मिली।

Quick Links

Edited by निशांत द्रविड़
Be the first one to comment