Create

गौमूत्र के 3 फायदे और 3 नुकसान - Gomutra Ke 3 Fayde Aur 3 Nuksan

गौमूत्र के 3 फायदे और 3 नुकसान (फोटो - sportskeedaहिन्दी)
गौमूत्र के 3 फायदे और 3 नुकसान (फोटो - sportskeedaहिन्दी)

गौमूत्र (cow's urine) को आयुर्वेद में लाभकारी माना गया है। गौमूत्र के सेवन से लगभग 108 से अधिक रोगों को ठीक किया जा सकता है। यक़ीनन, गौमूत्र पीने से शरीर को बहुत फायदे मिलते हैं। गौमूत्र में हार्मोन और मिनरल पाए जाते हैं जो सेहत के लिए फायदेमंद होते हैं। आपकी जानकारी के लिए, अन्य उत्पादों जैसे ही देसी गाय का गौमूत्र बाजार में आसानी से मिल सकता है। यह लेख गौमूत्र के फायदे और नुकसान (Advantages and disadvantages of cow urine) के बारे में है।

गौमूत्र के 3 फायदे और 3 नुकसान

गौमूत्र के फायदे : Benefits of Cow Urine In Hindi

1. सूजन को दूर करने में सहायक (helpful in reducing inflammation)

गौमूत्र के सेवन से शरीर में हो रही सूजन को दूर किया जा सकता है। शरीर के किसी भी हिस्से में सूजन आने पर गौमूत्र का सेवन किया जा सकता है। पेट में दर्द होने पर गौमूत्र को पिया जाए तो पेट दर्द में आराम मिल सकता है।

2 मांसपेशियों को मजबूत बनाए (strengthen muscles)

गौमूत्र पीने से मांसपेशियों को मजबूती मिलती है। बुजुर्ग लोगों के लिए गौमूत्र का सेवन फायदेमंद होता है। बढ़ती उम्र के साथ हड्डियां कमजोर ना पड़े और उन्हें मजबूती दिलाने के लिए गौमूत्र का सेवन लाभदायक माना जाता है।

3. खून को शुद्ध करने में उपयोगी (Useful in purifying blood)

जिन लोगों का खून अशुद्ध और जिन्हें मुंहासों की समस्या अधिक रहती है वह लोग गौमूत्र का सेवन जरूर करें। गौमूत्र के सेवन से खून शुद्ध होता है। यह मुंहासों की समस्या से भी छुटकारा दिला सकता है। अशुद्ध खून से ही मुंहासे होते हैं और छुटकारा पाने के लिए गौमूत्र का सेवन फायदेमंद होता है।

गौमूत्र के नुकसान: Disadvantages of Cow Urine In Hindi

1. गौमूत्र के अधिक सेवन से पेट खराब हो सकता है, उल्टी हो सकती है। इसलिए गौमूत्र का सेवन अधिक ना करें और गर्भवती महिलाओं के लिए गौमूत्र का सेवन नुकसानदायक होता है। कृपया इस विषय पर अपने डॉक्टर से संपर्क जरूर करें।

2. दर्द, दस्त, खुजली, थकान, कंधे का दर्द और बुखार आदि की समस्या गौमूत्र के सेवन से हो सकती है। लेकिन यह समस्याएं ज्यादातर लंबे समय से या फिर गंभीर बीमारियों से जूझ रहे लोगों में देखी गई हैं।

3. 6 से 8 घंटे के बाद गौमूत्र विषैला होने लगता है। इसी कारण गाय से इसे प्राप्त करने के बाद इसमें तुरंत पानी मिलाने की सलाह दी जाती है।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Edited by Vineeta Kumar
Be the first one to comment