Create

प्राणायाम योग के 3 फायदे - Pranayam Yoga Ke Fayde

प्राणायाम योग के 3 फायदे (फोटो - sportskeedaहिन्दी)
प्राणायाम योग के 3 फायदे (फोटो - sportskeedaहिन्दी)
reaction-emoji
Vineeta Kumar

आज के आधुनिक समय में लोग बढ़ते वजन, चेहरे के खो चुके निखार और तनाव भरे जीवन से परेशान हैं। ऐसे में आप परेशान ना हो, आपको अपने फिटनेस रूटीन में केवल प्राणायाम योग (Pranayam yoga) को शामिल करने की ज़रुरत है। प्राणायाम योग एक ऐसा योग अभ्यास है जो हमारे शरीर के हर एक सेल को ऊर्जा पहुंचाने में मददगार है। प्राणायाम एक संस्कृत भाषा से बना शब्द है और यह 'सांस नियमन का अभ्यास' करने पर केंद्रित आसन है। इस योग का उदेश्य सही ढंग से सांस लेने का अभ्यास करना है।

प्राणायाम योग आसन हमारे शरीर को स्वस्थ बनाये रखने में मददगार है। यह योग मस्तिष्क, नसों, ग्रंथियों और अन्य आंतरिक अंगों के लाभ लिए आवश्यक होता है क्योंकि यह हमारे पूर्ण शरीर में ऑक्सीजन का संचार सही ढंग से करने में मदद करता है। ऑक्सीजन भी हमारे शरीर के लिए अन्य पोषक तत्वों से कम नहीं होती। शरीर में ऑक्सीजन की कमी को दूर करने के लिए भी प्राणायाम योग करना फायदेमंद होता है। इस लेख में प्राणायाम योग के फायदों के बारे में बात की गयी है।

प्राणायाम योग के 3 फायदे

1. तनाव कम करने में मददगार (Helpful in reducing stress)

प्राणायाम ने स्वस्थ युवा वयस्कों में तनाव के स्तर को कम करने में मदद की है। शोधकर्ताओं ने अनुमान लगाया कि प्राणायाम योग तंत्रिका तंत्र को शांत करता है, जिससे आपकी तनाव प्रतिक्रिया में सुधार होता है और शरीर में पर्याप्त ऑक्सीजन संचार में इसका सकारात्मक प्रभाव देखा गया है। ऑक्सीजन आपके मस्तिष्क और तंत्रिकाओं सहित आपके महत्वपूर्ण अंगों के लिए ऊर्जा है।

2. नींद की गुणवत्ता में सुधार करने में सहायक (Improves sleep quality)

प्राणायाम के तनाव से राहत देने वाले प्रभाव भी आपको सोने में मदद कर सकते हैं। प्राणायाम ऑब्सट्रक्टिव स्लीप एपनिया (obstructive sleep apnea) वाले लोगों में नींद की गुणवत्ता में भी सुधार करता है। इसके अतिरिक्त, अध्ययन में पाया गया कि प्राणायाम का अभ्यास करने से खर्राटे और दिन में नींद आने की समस्या ठीक होती है।

3. हाई ब्लड प्रेशर को नियंत्रित करे (Reduces high blood pressure)

हाई ब्लड प्रेशर या उच्च रक्तचाप, तब होता है जब आपका ब्लड प्रेशर अस्वस्थ स्तर पर पहुंच जाता है। यह हृदय रोग और स्ट्रोक जैसी कुछ संभावित गंभीर स्वास्थ्य स्थितियों के जोखिम को बढ़ाता है। हाई ब्लड प्रेशर के लिए तनाव एक प्रमुख जोखिम कारक है। प्राणायाम विश्राम को बढ़ावा देकर इस जोखिम को कम करने में मदद कर सकता है।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।


Edited by Vineeta Kumar
reaction-emoji

Comments

Fetching more content...