Create

शिकंजी पीने के 3 फायदे - Shikanji Peene Ke 3 Fayde

शिकंजी पीने के 3 फायदे (फोटो - sportskeedaहिंदी)
शिकंजी पीने के 3 फायदे (फोटो - sportskeedaहिंदी)

भारत में गर्मियों का मौसम खिल-खिलाती धुप के साथ तेज गर्मी भी लाता है और इस चिड़चिड़ी गर्मी से निजात पाने के लिए लोग कई तरह के कोल्ड ड्रिंक्स का सेवन करते हैं। लेकिन क्या वे स्वास्थ्य के लिए सही हैं? ऐसे में नेचुरल पदार्थों से बनी शिकंजी ड्रिंक का सेवन किफायती और सेहत के लिए अच्छा माना जाता है। शिकंजी गर्मियों के सबसे आम और सबसे पसंदीदा पेय में से एक है। यह नींबू पानी के परिवार से होती है। इसे शिकंजवी और शिकंजेबीन, शिकंजी के रूप में जाना जाता है, इस पेय की मूल सामग्री में नींबू या नीबू का रस, अदरक का रस, पुदीना, हींग, बर्फ और पानी और अन्य सामग्री जैसे नमक और जीरा शामिल होते हैं। यह लेख आपको शिकंजी के फायदों से अवगत कराने में सहायक है।

शिकंजी पीने के 3 फायदे

1. वज़न घटाने मे मददगार (Helps In Weight Loss)

गर्मियों में शिकंजी के सेवन से वजन नियंत्रित करने में मदद मिलती है। यह शरीर के एक्स्ट्रा फैट को कम करने में सहायक होती है। शिकंजी में मौजूद नींबू विटामिन C का अच्छा स्रोत होता है और यह फैट बर्न करने और टॉक्सिन्स को बाहर निकालने में मदद करता है। यह आपके पेट को भरा हुआ महसूस करवाता है जिसके कारण भूख कम लगती है। ऐसे में आप आसानी से वजन कम कर सकते हैं।

2. इम्युनिटी बढ़ाए (Boost immunity)

इम्युनिटी बूस्ट करने के लिए शिकंजी उपयोगी है। आजकल के कठिन समय में इम्युनिटी का ख्याल रखना ज़रूरी होता है। शिकंजी के सेवन से इम्युनिटी को बूस्ट मिलता है। एक स्वस्थ शरीर के लिए इम्युनिटी का मजबूत होना जरूरी होता है। ऐसे में शिकंजी में मौजूद विटामिन C हमारी मदद करती है। इसमें मौजूद एंटीबैक्टीरियल और एंटीऑक्सिडेंट्स गुण बैक्टीरिया और वायरस से लड़ने में मदद करते हैं तथा बीमारियों से भी बचाव करते हैं।

3. पाचन को मजबूती दे (Strengthens Digestion)

शिकंजी खाना पचाने में बहुत कामगार होती है। यदि गर्मियों के मौसम में खाना पचने में परेशानी हो तो शिकंजी का सेवन जरूर करना चाहिए। शिकंजी में नींबू का रस पाचन शक्ति को बढ़ावा देता है और साथ में जीरा-पुदीना, हींग के गुण खाना पचाने में बहुत मदद करते हैं। शिकंजी के इंग्रेडिएंट्स इसे गुणकारी बनाते हैं।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Edited by Vineeta Kumar
Be the first one to comment