गोरखमुंडी के 4 फायदे और 3 नुकसान

गोरखमुंडी के फायदे और नुकसान (फोटो - sportskeeda hindi )
गोरखमुंडी के फायदे और नुकसान (फोटो - sportskeeda hindi )

आयुर्वेद में कई तरह की जड़ी बूटियों का इस्तेमाल किया जाता है। जिसमें से एक है, गोरखमुंडी। इस जड़ी बूटी का इस्तेमाल यूनानी चिकित्सा के लिए कई तरह की बीमारियों में किया जाता है। इस जड़ी बूटी का नाम शायद ही लोग जानते होंगे। आपके बता दें कि गोरखमुंडी एक तरह का पौधा होता है। सर्दियों के मौसम में इस पौधे में फूल आते हैं और इसके फूलों का रंग बैंगनी होता है। इस पौधे की ऊंचाई 30-60 सेमी तक होती है और यह जमीन पर फैला होता है। साथ ही, इसके फूल गोल घुंडियों वाले होते हैं, जिसे मुण्डी कहा जाता है। इसकी जड़, फूल और पत्तियों का उपयोग कई रोगों से बचाव के लिए किया जाता है। अभी हमने जाना गोरखमुंडी पौधे के बारे में। अब आगे लेख में जानें इसके फायदे और नुकसान के बारे में।

गोरखमुंडी के 4 फायदे - 4 Benefits of Gorakhmundi

कुष्ठ रोग में मददगार (Helpful in Leprosy) - कुष्ठ रोग में गोरखमुंडी के बहुत से फायदे देखे गए हैं। दरअसल इसमें पाए जाने वाला एंटी-माइक्रोबियल और एंटी-बैक्टीरियल कुष्ठ रोग से लड़ने में सक्षम होता है। ये संक्रमण को दूर करने में मददगार साबित होता है।

फोड़े में दिलाए राहत (Relief in Boils) - गोरखमुंडी में एंटी-माइक्रोबियल, एंटी बैक्टीरियल और एंटी-फंगल गुण होते हैं, जो बैक्टीरिया और फंगस से राहत दिलाने के साथ फोड़े की स्थिति में सुधार करने में उपयोगी हो सकते है। दरअसल बैक्टीरिया और फंगस के वजह से फोड़े होते हैं। इसलिए ये कहना गलत नहीं होगा कि गोरखमुंडी का उपयोग इसके लिए लाभकारी हो सकता है।

पाइल्स में फायदेमंद (Beneficial in Piles) - आजकल खानपान और बदलती दिनचर्या के चलते बवासीर की शिकायत बहुत से व्यक्तियों में देखी जा सकती है। ऐसे में गोरखमुंडी का सेवन फायदेमंद हो सकता है। एक शोध के अनुसार पाइल्स की दवाइयों में गोरखमुंडी का उपयोग भी किया जाता है। इसमें मौजूद फाइटोकंपाउंड्स इस समस्या से राहत दिलाने में सहायता कर सकते हैं

डायबिटीज की बीमारी में लाभदायक (Beneficial in Diabetes) - एनसीबीआई की साइट पर बताए गए एक शोध के हिसाब से गोरखमुंडी के अर्क में एंटी-हाइपरग्लाइसेमिक गुण पाया जाता है, जो रक्त में शुगर के स्तर को सही रखने में मददगार साबित हो सकती है। साथ ही, इसके तने वाले भाग के इथेनॉल अर्क में एंटी-डायबिटिक (anti diabetic) प्रभाव होता है, जो मधुमेह की समस्या से बचाव में मदद कर सकता है।

गोरखमुंडी के नुकसान - Disadvantages of Gorakhmundi

गोरखमुंडी के सेवन से कुछ लोगों में एलर्जी Allergy की समस्या हो सकती है। इसलिए इसका उपयोग सलाह सहित ही करें।

इसमें मौजूद कैडमियम नामक रासायनिक तत्व, हाई ब्लड प्रेशर high blood pressure व किडनी kidney डैमेज का कारण बन सकती है।

गोरखमुंडी का उपयोग गर्भावस्था के दौरान न करें। इस दौरान ये हानिकारक हो सकता है।

youtube-cover

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Edited by Shilki
App download animated image Get the free App now