Create

मसूड़े की सूजन के 4 घरेलू उपाय - Masude Ki Sujan Ke 4 Gharelu Upay

मसूड़े की सूजन के 4 घरेलू उपाय (फोटो - sportskeedaहिन्दी)
मसूड़े की सूजन के 4 घरेलू उपाय (फोटो - sportskeedaहिन्दी)

मसूड़ों में सूजन की समस्या किसी को भी हो सकती है। यह मसूड़ों की बीमारी का एक बहुत ही सामान्य रूप है, लेकिन बहुत लोगों को इसका अनुभव नहीं हो पाता है। इसके सामान्य लक्षण जैसे लालिमा, जलन और सूजन आदि हैं। अन्य लक्षण जैसे दांतो का ढीला पड़ना, मसूड़ों से खून आना, साँसों में बदबू महसूस होना आदि। मसूड़ों के सूजन का आम कारण दातों में मैल जमना और मुंह की सफाई न रखना है। कुछ कारक मसूड़ों की सूजन को और बढ़ा सकते हैं जैसे अत्यधिक मात्रा में तंबाकू का सेवन, धूम्रपान, बढ़ती उम्र, डायबिटीज, टूटे दांत, शुष्क मुंह, प्रेगनेंसी और खराब आहार आदि। यदि मसूड़ों की सूजन का इलाज ना किया जाए तो यह स्वास्थ्य को हानि पंहुचा सकती है। इस लेख में मसूड़े की सूजन के घरेलू उपाय (home remedies for gingivitis) बताये गए हैं, आइये इन्हें विस्तार से जानें।

मसूड़े की सूजन के 4 घरेलू उपाय

1. नमक-पानी से कुल्ला करें (Rinse your mouth with salt water)

मसूड़ों और दांतों को मजबूत रखने के लिए नमक-पानी एक सही विकल्प माना जाता है। इसके लिए, एक गिलास पानी में थोड़ा सा नमक डाल कर गर्म करें और उस पानी से कुल्ला करें। इससे मसूड़ों और दांतों की गंदगी साफ होती है। दातों में संक्रमण व मसूड़ों की कमजोरी दूर करने में यह नुस्खा उपयोगी है। नमक-पानी के घोल से मसूड़ों में जमे प्लाक को निकाला जा सकता है।

2. नीम की पत्तियां (Neem leaves)

आयुर्वेद के अनुसार, नीम हर तरह के बैक्टीरिया को नष्ट करता है। यदि कोई व्यक्ति प्रतिदिन नीम का दातुन करता है तो उसे दांत और मसूड़ों से संबंधित कोई समस्या नहीं हो सकती हैं। दांतों और मसूड़ों में दर्द होने पर नीम की पत्तियों का पेस्ट बनाकर मसूड़ों और दांतों पर लगाएं, कुछ समय के बाद गर्म पानी से कुल्ला कर लें।

3. लहसुन (Garlic)

लहसुन एक नेचुरल पेनकिलर के तौर पर उपयोगी हो सकता है, यह कई बीमारियों में लाभदायक माना जाता है। यह पेन किलर का काम करने के साथ बैक्टीरिया को भी खत्म करता है। मसूड़े में दर्द होने पर लहसुन के कुछ कलियों को पीसकर पेस्ट बना लें और उस लेप को दांत और मसूड़ों पर लगाएं।

4. अमरूद की पत्तियों का उपयोग (Guava leaves)

अमरूद की पत्तियां बैक्टीरिया या इन्फेक्शन को फैलने से रोकथाम में मदद करती हैं। अमरूद की पत्तियों में एंटी-बैक्टीरियल गुण पाए जाते हैं जो मसूड़ों पर प्लाक की लेयर को बनने नहीं देते हैं।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Edited by Vineeta Kumar
Be the first one to comment