दिमाग की नसों के 5 आयुर्वेदिक इलाज - Dimaag Ki Naso Ke 5 Ayurvedic Ilaaj

दिमाग की नसों के 5 आयुर्वेदिक इलाज (फोटो - sportskeedaहिंदी)
दिमाग की नसों के 5 आयुर्वेदिक इलाज (फोटो - sportskeedaहिंदी)

गलत खान-पान, जीवनशैली में परिवर्तन या एक्सरसाइज की कमी के कारण शरीर की नसों में ब्लॉकेज हो सकती है। यह समस्या आम है, लेकिन कुछ स्थितियों में यह कष्टदायक हो सकती है। दिमाग की नसों (Brain Nerves) में ब्लॉकेज होने का मतलब होता है कि दिमाग तक खून का प्रवाह बंद हो जाना है। उलटी, चक्कर या बैलेंस बिगड़ना जैसे लक्षण पीछे की नस ब्लॉक होने के संकेत हैं और यदि आगे की नस बंद हुई हो तो लकवा, बोलने में समस्या होना, साफ़ बोलना, दोनों आँखों से कम दिखाई देना आदि लक्षण होते हैं। आइये इस लेख के माध्यम से दिमाग की बंद नसों के आयुर्वेदिक इलाज को जानें।

दिमाग की नसों के 5 आयुर्वेदिक इलाज

1. दूध और लहसुन (Milk And Garlic)

दूध और लहसुन नसों की ब्लॉकेज में मददगार होते हैं। दूध में लहसुन मिलाकर सेवन करना नसों की ब्लॉकेज खोलने के लिए असरदार उपाय है। उपयोग के लिए - एक कप दूध में 2 से 3 लहसुन की कलियों को साथ उबालें और नियमित रूप से इसका सेवन करें।

2. अनार का रस (Pomegranate Juice)

अनार का रस दिमाग की नहीं बल्कि पूरे शरीर की नसों की ब्लॉकेज खोलने में सहायक होता है। प्रतिदिन 1 गिलास अनार का जूस पीने से शरीर में ब्लड सर्कुलेशन सही ढंग से होगा और इसमें सुधार होगा।

3. बादाम (Almond)

बादाम खाने से दिमाग की नसों में हुई ब्लॉकेज खुल जाती है। यह दिमाग की अन्य समस्याओं में भी सहायक होता है। प्रतिदिन 8 से 10 बादाम का सेवन करना लाभदायक होता है।

4. विटामिन B12 (Vitamin B12)

विटामिन B रेड ब्लड सेल के निर्माण में मदद करता है। यह नसों को स्वस्थ रखता है, इसकी कमी के कारण से नसों में दर्द हो सकता है। विटामिन B12 युक्त खाद्य पदार्थों का सेवन करें।

5. हल्दी (Haldi)

हल्दी नसों की ब्लॉकेज और अन्य समस्याओं के लिए उपयोगी होती है। इसमें करक्यूमिन मौजूद होता है जो एक प्रकार का दर्दनिवारक है। हल्दी को चाय, दूध, पानी या सब्जी आदि में मिलाकर इस्तेमाल किया जा सकता है। इसमें एंटी-इंफ्लेमेटरी, एंटी-ऑक्सीडेंट गुण होते हैं, जो इसे इतना असरदार बनाते हैं।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Edited by Vineeta Kumar
App download animated image Get the free App now