बदलते मौसम में खांसी-जुकाम दूर करने के 5 आयुर्वेदिक उपचार 

बदलते मौसम में खांसी-जुकाम दूर करने के आयुर्वेदिक उपचार
बदलते मौसम में खांसी-जुकाम दूर करने के आयुर्वेदिक उपचार

बदलता मौसम अपने साथ कई बीमारियों को भी साथ लाता है। सर्दियों का मौसम (Winter Season) शुरू हो रहा है, तो खुद को बीमारियों से बचा के रखने की भी जिम्मेदारी हमारी खुद की ही होती है। इस समय बच्चों पर भी हमें खासा ध्यान देने की जरूरत होती है और न सिर्फ बच्चे बल्कि बुर्जग व्यक्तियों पर भी उतना ही ध्यान देना पड़ता है जितना किसी बच्चे पर। मौसम के बदलते ही बीमारियों आना भी शुरू हो जाती है। इतना ही नहीं हर मौसम अपने साथ अलग तरह की बीमारी भी साथ लाता है। इसके अलावा सर्दियों में खांसी और जुकाम होना तो बहुत आम बात है। ज्यादातर लोग इससे ग्रसित होते हैं। लेकिन इन बीमारियों से हम खुद को आयुर्वेदिक उपचार की मदद से बचा सकते हैं और वो कौन से उपचार हैं आइए जानते हैं इस लेख में-

बदलते मौसम में खांसी-जुकाम दूर करने के आयुर्वेदिक उपचार- Ayurvedic treatment for cough and cold in changing seasons In Hindi

गिलोय और हल्दी और तुलसी (Giloy and Turmeric and Basil ) - खांसी जुकाम में सभी लोग बहुत ज्यादा परेशान हो जाते हैं। ऐसे में क्या किया जाए कि इसे बिना एलोपैथी के ठीक किया जा सके, तो उसके लिए आपको बता दें कि गिलोय, हल्दी और तुलसी का काढ़ा बनाकर पीना बहुत अचूक दवाई है। इससे न सिर्फ सर्दी जुकाम में आराम मिलता है बल्कि बुखार में भी बहुत फायदेमंद होता है।

हल्दी और दूध (turmeric and milk) - हल्दी और दूध लोग बरसों से पीते आ रहे हैं। हल्दी में एंटीऑक्सीडेंट गुण के साथ कई ऐसे गुण भी शामिल होते हैं, जो आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली को सुरक्षित रखने में मदद करते हैं। अगर किसी को सर्दी और खांसी की समस्या हो गई है, तो ऐसे में रात में सोते समय एक गिलास दूध में 1 चम्मच हल्दी डालकर इसका सेवन किया जा सकता है। इसको पीने से बहुत आराम मिलता है।

सरसों के तेल में लहसुन डालकर करें उपयोग (Use mustard oil by adding garlic) - सरसों का तेल वैसे भी शरीर के लिए बहुत हेल्दी माना जाता है और लहसुन एंटीऑक्सीडेंट गुणों से भरपूर होता है। यदि हम सर्दियों के दिनों में लहसुन को सरसों के तेल में गर्म करके उस तेल को पीठ और छाती पर लगाएं। तो इससे शरीर को गर्माहट मिलेगी। जो कि होने वाली बीमारियों से बचा के रखने में मदद करता है। बचे हुए लहसुन को नमक डालकर खाया जा सकता है। ये भी अंदर से गर्मी पहुंचाने का काम करता है।

तुलसी का काढ़ा (Basil decoction) - तुलसी का काढ़ा बनाकर पीना सभी लोग बचपन से सुनते आ रहे हैं। तुलसी में कई तरह के औषधीय गुण मौजूद होते हैं। जिसके सेवन से कई शारीरिक समस्याओं से व्यक्ति दूर रह सकता है। सर्दियों में तुलसी का काढ़ा बनाकर पीने से आप हर तरह से स्वस्थ रह सकते हैं। इसके सेवन से आप सर्दी जुकाम, एलर्जी जैसी समस्याओं से दूर रहते हैं। तुलसी का काढ़ा दिन में एक बार जरूर पीना चाहिए। ये सेहत के लिए बहुत ज्यादा लाभ पहुंचाता है।

अदरक का रस और शहद (Ginger Juice and Honey) - अदरक में कई तरह के एंटीऑक्सीडेंट गुण पाए जाते हैं। वहीं शहद भी प्रचुर मात्रा से भरपूर होता है। सर्दियों में यदि शहद और अदरक के रस का सेवन किया जाए, तो इससे खांसी और जुकाम को ठीक किया जा सकता है। एक चम्मच शहद में एक चम्मच अदरक डालकर पीने से खांसी में बहुत आराम मिलता है। वहीं बहुत ज्यादा खांसी में आप अदरक के एक छोटे टुकड़े को गैस पर, थोड़ा सा भूनकर दांतों के बीच दबा लें और धीरे धीरे इसका रस पीते रहें। इससे खांसी में बहुत आराम मिलता है।

youtube-cover

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Edited by Shilki
App download animated image Get the free App now