Create

पपीते के पत्ते के जूस के फायदे 5 और 3 नुकसान : Papite ke patte ke juice ke 5 fayde or 3 nuksan 

पपीते के पत्ते के जूस के 5 फायदे और नुकसान
पपीते के पत्ते के जूस के 5 फायदे और नुकसान

पपीता (Papaya) खाने में स्वादिष्ट और स्वास्थ्य के लिए बहुत लाभकारी होता है। पाचन के लिए पपीते का सेवन करना बेहद ही फायदेमंद माना जाता है। पपीता में कई पोषक तत्व पाए जाते हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं जिस तरह पपीता फायदेमंद होता है उसी तरह पपीते के पत्ते भी बहुत गुणकारी होते हैं। इसके पत्ते डेंगू जैसी बीमारी से लड़ने में भी काम आते हैं। पपीते के पत्ते में पेप्सिन एंजाइम होते हैं जो हमारे पाचन को मजबूत करने का काम करते हैं, इसके साथ ही इसमें एल्काइन भी पाया जाता है, जिससे बालों में होने वाली डैंड्रफ (Dandruff) को और बालों को झड़ने से रोकता है। आइए जानते हैं पपीते के पत्तों के जूस के फायदे और नुकसान-

पपीते के पत्ते के रस के फायदे

डेंगू में पपीते के पत्ते के फायदे - डेंगू (Dengue) एक गंभीर बीमारी हैं जिसमें शरीर के प्लेटलेट (Platelet) बहुत जल्दी गिरने लग जाते हैं। डेंगू वायरस के कारण लोगों को बुखार हो जाता है यह बुखार हर वर्ष कई लोगों की जिंदगी छीन लेता है, डेंगू में तेज बुखार, दाने और तेज सिरदर्द, जोड़ों व मांसपेशियों में दर्द, और आंख में दर्द की समस्या होती है। डेंगू बुखार प्लेटलेट की मात्रा को इतना गिरा देता है की उससे लोगो की जान पर बन आती है। इससे बचने के लिए पपीते के पत्तों को पीस कर उसका रस निकाल कर उसका सेवन करने से प्लेटलेट काफी तेजी से बढ़ने लगते हैं जिससे मरीज को जल्द आराम मिलता है।

एंटी मलेरिया - पपीते के पत्ते, फल, बीज और जड़ में एंटीमलेरियल (Antimalarial) गुण पाए जाते हैं जो मलेरिया को ठीक करने के काम आता है। इसके पत्ते के एंटीमलेरियल गुण रक्त में मौजूद पैरासाइट्स को खत्म करने का काम करते हैं ।

बालों का झड़ना होगा कम - पपीते के पत्तों का सेवन करने से बाल मजबूत होते हैं और नए बाल आते हैं। इसका सेवन बालों (Hair) में हो रही डैंड्रफ को भी खत्म करता है। पपीते के पत्तों में एंटी फंगल (Antifungal) गुण होते हैं जो स्कैल्प में होने वाली फंग्स को होने से रोकती है।

पाचन को करे दुरुस्त- पपीते की पत्तियों में कारपैन के रासायनिक यौगिक होते हैं, जो पाचन क्रिया में बाधा डालने वाले माइक्रोऑर्गेनिज्मको को खत्म करने का काम करता है। जिससे पाचन क्रिया में सुधार होता है। इससे गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल डिसऑर्डर जैसे इर्रिटेबल बॉवेल सिंड्रोम से राहत मिलती है।

इम्यूनिटी बढ़ाए - इम्यूनिटी बढ़ाने में पपीते की पत्तियों का बहुत बड़ा योगदान होता है। इसमें इम्यूनोमॉड्यूलेटरी (Immunomodulatory) गुण पाए जाते हैं जिसकी मदद से आपका इम्यूनिटी लेवल बढ़ता है और यह कई बीमारियों से बचाता भी है।

पपीते के पत्ते के जूस के नुकसान

पपीते के जूस के फायदे तो बहुत होते हैं लेकिन इसका ज्यादा सेवन कई बार नुकसान भी पहुंचा सकता है।

गर्भवती (pregnant) महिलाओं को इसका सेवन भूलकर भी नहीं करना चाहिए, क्योंकि इससे गर्भपात (Abortion) हो सकता है।

पपीते के पत्तों के जूस का सेवन बांझपन का कारण भी बन सकता है।

पपीते के पत्तो के रस से कुछ लोगों को एलर्जी भी हो सकती है, इसलिए इसका सेवन बहुत ध्यानपूर्वक करना चाहिए।

कैसे करें पपीते के पत्ते के रस का सेवन-

पपीते के पत्ते का जूस का सेवन आप ताजा बनाकर ही करें। इसके लिए पपीते के पत्ते लें और उसे अच्छी तरह से साफ कर ले, फिर इसे पीस कर इसका रस निकाल लें और इसका सेवन करें। स्वाद में यह कड़वा होता है लेकिन स्वास्थ्य के लिए बहुत फायदेमंद होता है।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Edited by Shilki
Be the first one to comment