Create
Notifications

अर्जुन के छाल की चाय पीने के 5 फायदे- Arjun Ke Chaal Ki Chai Pine Ke Fayde

अर्जुन के छाल की चाय पीने के फायदे (फोटो-Sportskeeda hindi)
अर्जुन के छाल की चाय पीने के फायदे (फोटो-Sportskeeda hindi)
Rakshita Srivastava

अर्जुन की छाल (Arjun Chaal) एक जड़ी बूटी है, जिसका उपयोग आयुर्वेद में औषधि के रूप में किया जाता है। साथ ही अर्जुन की छाल का सेवन सेहत के लिए भी काफी फायदेमंद माना जाता है। क्योंकि अर्जुन की छाल में टैनिन, पोटैशियम, कैल्शियम जैसे तत्व पाए जाते हैं, साथ ही इसमें एंटी बैक्टीरियल, एंटीऑक्सीडेंट, एंटी इंफ्लेमेटरी और एंटीमाइक्रोबियल गुण भी मौजूद होता है, इसलिए अगर आप अर्जुन के छाल से बनी चाय का सेवन करते हैं, तो इससे कई स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं दूर होती है। आइए जानते हैं अर्जुन के छाल की चाय पीने के क्या-क्या फायदे होते हैं।

अर्जुन के छाल की चाय पीने के 5 फायदे

1- हृदय (Heart) को स्वस्थ बनाए रखने के लिए अर्जुन के छाल से बनी चाय का सेवन काफी फायदेमंद साबित होता है। क्योंकि अर्जुन की छाल खून को पतला करने में मददगार साबित होती है। इसलिए अगर आप इसका सेवन करते हैं, तो इससे ब्लड वेसल्स, आर्टरीज में ब्लॉकेज की समस्या नहीं होती है।

2- डायबिटीज (Diabetes) के मरीजों के लिए अर्जुन के छाल की चाय का सेवन काफी फायदेमंद माना जाता है। क्योंकि अर्जुन के छाल की चाय का सेवन करने से ब्लड शुगर लेवल कंट्रोल रहता है।

3- महिलाओं को पीरियड्स (Periods) के समय पेट में दर्द और ऐंठन की शिकायत हो जाती है। लेकिन अगर महिलाएं अर्जुन के छाल से बनी चाय का सेवन करती हैं, तो इससे दर्द और ऐंठन की समस्या से छुटकारा मिलता है।

4- अर्जुन की छाल के चाय का सेवन हड्डियों (Bones) के लिए भी काफी फायदेमंद माना जाता है। क्योंकि अर्जुन के छाल में कैल्शियम और मैग्नीशियम की अच्छी मात्रा पाई जाती है। इसलिए अगर आप अर्जुन के छाल की चाय का सेवन करते हैं, तो इससे हड्डियां मजबूत होती है।

5- सर्दी-खांसी (Cold and Cough) की शिकायत होने पर अर्जुन के छाल की बनी चाय का सेवन काफी लाभदायक साबित होता है। क्योंकि इस चाय को पीने से सर्दी-खांसी जैसी बीमारी से तुरंत छुटकारा मिलता है।

अर्जुन के छाल की चाय बनाने का तरीका

अर्जुन के छाल की चाय बनाने के लिए सबसे पहले एक पैन में एक या दो कम पानी ले लेना चाहिए, फिर उसमें आधा चम्मच अर्जुन के छाल का पाउडर मिलाना चाहिए, इसके बाद पानी को उबलने देना चाहिए, जब पानी अच्छे से उबल जाए, तो उसके 5 मिनट बाद गैस बंद कर देना चाहिए, फिर चाय का स्वाद बढ़ाने के लिए उसमें शहद मिलाकर सेवन करना चाहिए।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।


Edited by Rakshita Srivastava

Comments

Fetching more content...