Create
Notifications

निर्गुंडी के 5 फायदे : Nirgundi Ke 5 Fayde

निर्गुंडी के 5 फायदे (source- google images)
निर्गुंडी के 5 फायदे (source- google images)
Vineeta Kumar
visit

निर्गुंडी, जिसे पांच पत्तों वाला पवित्र वृक्ष भी कहा जाता है, एक शक्तिशाली आयुर्वेदिक पौधा है। जिसमें उल्लेखनीय चिकित्सीय गुण होते हैं और अस्थमा, मांसपेशियों में ऐंठन और स्ट्रेस सहित कई बीमारियों को ठीक करता है। इसे वैज्ञानिक रूप से "Vetex negundo" कहा जाता है और आमतौर पर इसे बंगाली में "निशिंदा", तेलुगु में "नल्लावल्ली", गुजराती में "नागोड" और तमिल में "नल्लानोची" के रूप में जाना जाता है।

निर्गुंडी पौधे की जड़ों, पत्तियों, फूलों, फलों और छाल का उपयोग जड़ी-बूटियों के मिश्रण में तेल, पेस्ट, जूस और पाउडर के रूप में किया जाता है, जो व्यापक रूप से प्रचलित बुखार से लेकर बहुत ही दुर्लभ कुष्ठ रोग तक के विकारों को ठीक करने के लिए उपयोग किया जाता है। आज, इस जादुई जड़ी बूटी को अमेरिका और ऑस्ट्रेलिया समेत दुनिया भर में प्राकृतिक रूप से प्रचारित और प्रचारित किया जा रहा है, इसलिए वैश्विक आबादी समग्र कल्याण के लिए निर्गुंडी द्वारा प्रदान किए जाने वाले उत्कृष्ट लाभों का लाभ उठा सकती है।

निर्गुंडी के 5 फायदे : Nirgundi Ke 5 Fayde

1. अस्थमा के लक्षणों का उपचार (treats asthma)

निर्गुंडी तेल, नाक व गर्दन और छाती पर एक एंटी-हिस्टामाइन का प्रभाव देता है जो अस्थमा से पीड़ित लोगों को आराम देता है।

2. मासिक धर्म की ऐंठन का इलाज करता है (cures menstrual cramps)

Vitex negundo के फल terpenoids में प्रचुर मात्रा में होते हैं, जो महिला प्रणाली में हार्मोनल असंतुलन को सुधारने में योगदान करते हैं। यह बदले में, बांझपन के इलाज के अलावा, मासिक धर्म में ऐंठन और गर्भाशय फाइब्रॉएड जैसी परेशानी की स्थिति को कम करने में सहायता करता है।

3. चिंता से राहत देता है (reduces stress)

निर्गुंडी फ्लेवोनोइड्स और फैटी एसिड से भरी हुई है, जो बुद्धि को बढ़ावा देती है और मस्तिष्क की स्मृति क्षमता में सुधार करती है। इसके अलावा, वे मूड को भी सुधारते हैं और नींद को नियंत्रित करते हैं, जिससे चिंता, डिप्रेशन और अनिद्रा का इलाज होता है।

4. जोड़ों के दर्द को कम करता है (treats arthritis)

निर्गुंडी जड़ और छाल के अर्क में पर्याप्त मात्रा में मौजूद अल्कलॉइड निशिंदिन में एंटी-इंफ्लेमेटरी और एनाल्जेसिक (दर्द निवारक) गुण होते हैं। यह गठिया वाले लोगों में जोड़ों के दर्द और मांसपेशियों की ऐंठन को कम करने में मदद करता है।

5. तेज बुखार ठीक करता है (treats fever)

निर्गुंडी अपनी समृद्ध विटामिन C सामग्री और प्राकृतिक एंटी-बायोटिक विशेषताओं के कारण, शरीर के उच्च तापमान को कम करने, संक्रमण से लड़ने और प्रतिरक्षा को बढ़ावा देने में मदद करती है। निर्गुंडी के पत्तों को पानी में उबालकर छान लें और बुखार से तुरंत राहत पाने के लिए सेवन करें।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।


Edited by Vineeta Kumar
Article image

Go to article
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now