मटके का पानी पीने से मिलते हैं ये 7 स्वास्थ्य लाभ

मटके का पानी पीने से मिलते हैं ये 7 स्वास्थ्य लाभ
मटके का पानी पीने से मिलते हैं ये 7 स्वास्थ्य लाभ

क्या आप हाइड्रेटेड और स्वस्थ रहने के लिए प्राकृतिक तरीके की तलाश कर रहे हैं? मटके के पानी से आगे नहीं देखो! जल भंडारण की इस पारंपरिक विधि का उपयोग सदियों से दुनिया भर की कई संस्कृतियों में किया जाता रहा है, और इसके कई प्रकार के स्वास्थ्य लाभ हैं। इस लेख में हम जानेंगे कि मटके का पानी पीने के क्या फायदे हैं और यह आपको स्वस्थ रहने में कैसे मदद कर सकता है।

मटके का पानी पीने से मिलते हैं ये 7 स्वास्थ्य लाभ : 7 Health Benefits Of Drinking Pot Water In Hindi

youtube-cover

मटके का पानी क्या है?

मटके का पानी वह पानी होता है जो मिट्टी के बर्तन या जग में जमा होता है। मिट्टी का बर्तन झरझरा होता है, जो हवा को प्रसारित करने और पानी को वाष्पित करने की अनुमति देता है, जिसके परिणामस्वरूप कूलर और ताजा पानी होता है। भारत, पाकिस्तान, बांग्लादेश और ईरान जैसे देशों में सदियों से जल भंडारण की इस पद्धति का उपयोग किया जाता रहा है।

मटके का पानी पीने के स्वास्थ्य लाभ

1. प्राकृतिक शीतलन प्रभाव

मटके का पानी पीने के मुख्य लाभों में से एक इसका प्राकृतिक शीतलन प्रभाव है। चूंकि मिट्टी के घड़े के छिद्रों से पानी वाष्पित हो जाता है, यह स्वाभाविक रूप से ठंडा हो जाता है, जिससे यह ताज़ा और प्यास बुझाने वाला हो जाता है।

2. मिनरल से भरपूर

मटके का पानी भी मिनरल से भरपूर होता है. मिट्टी के घड़े में कैल्शियम, मैग्नीशियम और पोटेशियम जैसे खनिज होते हैं, जो पानी में रिसते हैं, जिससे यह खनिजों का एक स्वस्थ स्रोत बन जाता है।

3. पाचन में सुधार करता है

मटके का पानी प्रकृति में क्षारीय होता है, जो आपके पेट में पीएच स्तर को संतुलित करने, पाचन में सुधार और अम्लता को कम करने में मदद कर सकता है।

4. विषहरण करता है

मटके का पानी पीने से भी आपके शरीर को डिटॉक्स करने में मदद मिल सकती है। मिट्टी के बर्तन में खनिज पानी में अशुद्धियों को बांध सकते हैं, जिससे विषाक्त पदार्थों और भारी धातुओं को हटाने में मदद मिलती है।

5. इम्यून सिस्टम को बूस्ट करता है

मटके का पानी भी एंटीऑक्सिडेंट से भरपूर होता है, जो आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ावा देने और पुरानी बीमारियों के जोखिम को कम करने में मदद कर सकता है।

6. जलयोजन

हाइड्रेटेड रहने के लिए मटके का पानी पीना एक अच्छा तरीका है। मटके के पानी का प्राकृतिक शीतलन प्रभाव इसे नियमित नल के पानी की तुलना में अधिक ताज़ा और संतोषजनक बना सकता है, जिससे अधिक पीना और हाइड्रेटेड रहना आसान हो जाता है।

7. प्लास्टिक कचरे को कम करता है

बोतलबंद पानी के लिए मटके का पानी पीना पर्यावरण के अनुकूल विकल्प है। पानी को स्टोर करने के लिए मिट्टी के घड़े का उपयोग करके आप प्लास्टिक कचरे को कम कर सकते हैं और पर्यावरण की रक्षा में मदद कर सकते हैं।

मटके का पानी कैसे तैयार करें

मटके का पानी तैयार करना आसान है। यहां आपको क्या करना है:-

1. मिट्टी के घड़े को इस्तेमाल करने से पहले 12-24 घंटे के लिए पानी में भिगो दें। यह मिट्टी के घड़े को पानी सोखने और अधिक झरझरा बनने में मदद करेगा।

2. बर्तन को पानी से भरें और पीने से पहले कुछ घंटों के लिए बैठने दें। यह पानी को ठंडा करने और मिट्टी के घड़े से खनिजों को अवशोषित करने की अनुमति देगा।

3. प्राकृतिक स्वाद बढ़ाने के लिए आप बर्तन में पुदीना या नींबू जैसी जड़ी-बूटियाँ भी मिला सकते हैं।

**मटके का पानी पीना हाइड्रेटेड रहने का एक स्वस्थ और ताज़ा तरीका है। इसमें प्राकृतिक शीतलन, खनिज संवर्धन, बेहतर पाचन, विषहरण, प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ावा देने और जलयोजन सहित कई प्रकार के स्वास्थ्य लाभ हैं। पानी को स्टोर करने के लिए मिट्टी के घड़े का उपयोग करके आप प्लास्टिक कचरे को कम कर सकते हैं और पर्यावरण की रक्षा में मदद कर सकते हैं। तो, आगे बढ़ें और मटके का पानी आजमाएँ, आपका शरीर आपको धन्यवाद देगा!

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

App download animated image Get the free App now