Create
Notifications

पायरिया क्या है? जानिये 7 लक्षण और 3 घरेलू इलाज  - Symptoms And Home Treatment For Pyorrhea

पायरिया के लक्षण और घरेलू इलाज (फोटो - sportskeedaहिन्दी)
पायरिया के लक्षण और घरेलू इलाज (फोटो - sportskeedaहिन्दी)
reaction-emoji
Vineeta Kumar

पायरिया (Pyorrhea), जिसे पेरियोडोंटाइटिस (periodontitis) भी कहा जाता है, मुंह के मसूड़े को प्रभावित करने वाली एक बहुक्रियात्मक बीमारी है। यह बैक्टीरिया के कारण होने वाली एक सूजन है, जो मुंह से दुर्गंध (मुंह की खराब गंध), मसूड़े की कमजोरी और दांतों के नुकसान का कारण बन सकती है। जब हमारे मसूड़े पायरिया से पीड़ित होते हैं, तो पूरा मुंह खतरे की स्थिति में होता है जिसमें उसे विशिष्ट उपचार और देखभाल की आवश्यकता होती है। यह लेख पायरिया के लक्षण और उनके घरेलू इलाज के बारे में बताने जा रहा है।

पायरिया क्या है? जानिये 7 लक्षण और 3 घरेलू इलाज

पायरिया के लक्षण : Symptoms Of Pyorrhea In Hindi

पायरिया के कई तरह के लक्षण हो सकते है, जैसे:

1. मसूड़ों से खून बहना, खासकर जब आप अपने दाँत ब्रश करते हैं।

2. सूजन और मसूड़े की लाली, यानी मसूड़े की सूजन,

3. मुंह से दुर्गंध या मुंह में लगातार खराब स्वाद आना,

4. दांतों का ढीला हो जाना,

5. तापमान में बदलाव के प्रति दांतों की संवेदनशीलता,

6. दांतों में सेंसिटिविटी महसूस करना,

7. चबाते समय बेचैनी और दर्द महसूस होना।

पायरिया के घरेलू इलाज : Home Treatments Of Pyorrhea In Hindi

1. हल्दी और सरसों का तेल (Turmeric and Mustard Oil)

हल्दी में एंटी-बैक्टीरियल गुण होते है जो इस समस्या में मददगार होते हैं। उपयोग के लिए - हल्दी के साथ सरसों के तेल का मिश्रण तैयार करें, इस मिश्रण को दिन में दो बार मसूड़ों पर लगाकर हलके हाथों से मालिश करें। कुछ देर ऐसा करने के बाद गुनगुने पानी से कुल्ला कर लें।

2. नीम का रस (Neem Juice)

नीम औषधीय गुणों से भरपूर होता है। यह मसूड़ों व दांतों की समस्या से लड़ने में उपयोगी है। उपयोग के लिए - नीम की ताज़ी पत्तियों का रस निकालकर, इसे मसूड़ों पर लगाएं। इसे 10 से 15 मिनट लगे रहने दें, फिर गुनगुने पानी से कुल्ला करें। पायरिया की समस्या होने पर यह प्रक्रिया आप रोज़ाना दिन में एक बार कर सकते हैं।

3. नारियल व तिल का तेल (Coconut and sesame oil)

नारियल के तेल में मौजूद गुणों के कारण इसका उपयोग पायरिया की समस्या के साथ-साथ आयल पुल्लिंग की प्रक्रिया में भी किया जाता है। आपको बता दें कि पायरिया से छुटकारा पाने के लिए नारियल के तेल के साथ तिल का तेल भी मिलाया जाता है। उपयोग के लिए - इनका मिश्रण तैयार करके मसूड़ों और उसके आसपास पर लगाएं और 15 मिनट लगे रहने के बाद गुनगुने पानी से धो लें।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।


Edited by Vineeta Kumar
reaction-emoji

Comments

Fetching more content...