Create
Notifications

सेंधा नमक खाने के फायदे और नुकसान- Sendha Namak ke nuksan

सेंधा नमक खाने के फायदे और नुकसान(फोटो:freepik)
सेंधा नमक खाने के फायदे और नुकसान(फोटो:freepik)
reaction-emoji
Ritu Raj

सेंधा नमक का ज्यादातर इस्तेमाल व्रत के समय में किया जाता है। यह लगभग हर भारतीय किचन में मिल जाता है। इसके इस्तेमाल से कई बड़े फायदे होते हैं। शरीर में मैग्नीशियम की कमी होने की वजह से कई तरह की बीमारियां पैदा होती हैं जैसे कि डायबिटीज, दिल और किडनी से संबंधित दूसरी समस्याएं आदि। शरीर को स्वस्थ और बीमारियों को दूर रखने के लिए सेंधा नमक का इस्तेमाल किया जाता है। लेकिन आज हम इसके फायदे और नुकसान के बारे में।

सेंधा नमक के फायदे | Benefits of Rock Salt in Hindi

सबसे पहले तो यह बता दें कि, सेंधा नमक को सबसे शुद्ध नमक माना जाता है क्योंकि, इसमें किसी तरह की कोई मिलावट या रसायन नहीं होती है। यह नमक पहाड़ों में पाया जाता है जिसकी वजह से इसे प्राकृतिक औषधि के रूप में भी देखा जाता है। इसमें लोहा, कैल्शियम, पोटेशियम, जिंक और दूसरे कई ऐसे तत्व पाए जाते हैं जिसकी जरूरत हमारे शरीर को होती है। जैसा की हम सब जानते हैं कि, किसी भी चीज का अगर ज्यादा इस्तेमाल किया जाए तो उसका फायदा के बजाय नुकसान होता है। सेंधा नमक में भी ऐसा ही होता है, जहां यह कई बीमारियों को दूर भगाता है तो इसके अधिक इस्तेमाल करने से शरीर को नुकसान भी पहुंचता है।

मांसपेशियों में ऐंठन की समस्या

शरीर में मांसपेशियों व नर्वस सिस्टम के सही प्रकार से काम करने के लिए इलेक्ट्रोलाइट्स की जरूरत होती है। अगर ये असंतुलित होता है तो मांसपेशियों में ऐंठन की समस्या उत्पन्न हो जाती है। ऐसे में सेंधा नमक के इस्तेमाल से इलेक्ट्रोलाइट्स के स्तर को संतुलित किया जा सकता है। नहाते वक्त पानी में सेंधा नमक मिलाकर उसमें कुछ देर प्रभावित जगह को रख सकते हैं या फिर गुनगुने पानी में थोड़ा सा सेंधा नमक मिलाकर पीने से भी फायदा मिलता है।

पाचन समस्याओं के लिए

बदहजमी, कब्ज, सीने में जलन, खट्टी डकार व गैस से राहत पाने के लिए भी सेंधा नमक का इस्तेमाल किया जा सकता है। ये खनिज और विटामिन से भरा होता है जो पाचन को बेहतर बनाने में मदद करता है।

गले में खराश

गले में खराश है तो सेंधा नमक का इस्तेमाल करें इसमें जो गुण पाए जाते हैं वो इससे राहत दिलाने में मदद करते हैं। साथ ही खांसी की भी समस्या में राहत मिलता है। गुनगुने पानी में थोड़ा सा सेंधा नमक डालकर गुनगुना करने से राहत मिलती है।

मसूड़ों के लिए

मसूड़ों से खून आना मसूड़ों की बीमारी की ओर संकेत करते हैं। अगर मसूड़ों में सूजन, प्लाक जमने या किसी अन्य समस्या की वजह से मसूड़ों से खून आ रहा है तो हल्ले गुनगुने पानी में सेंधा नमक मिलाकर नियमित तौर पर कुल्ला करें कुछ दिनों में राहत मिल जाएगा।

मेटाबॉलिज्म बढ़ाने

शरीर को फुर्तीला बनाए रखने के लिए मेटाबॉलिज्म सबसे अहम प्रक्रिया होती है। मेटाबॉलिज्म को बढ़ाने के उपाय के तौर पर सेंधा नमक उपयोगी साबित हो सकता है। इससे शरीर की कार्यप्रणाली में सुधार हो सकता है। इसके अलावा स्वस्थ हृदय के लिए भी सेंधा नमक का इस्तेमाल किया जाता है।

सेंधा नमक के नुकसान | Side Effects of Rock Salt

सेंधा नमक ही नहीं बल्कि किसी भी चीज का ज्यादा इस्तेमाल करने से शरीर को नुकसान पहुंच सकता है। इसलिए इसका लंबे समय तक इस्तेमाल नहीं करना चाहिए।

1. सामान्य सफेद नमक के मुकाबले सेंधा नमक में आयरन (आयोडीन) की मात्रा सबसे कम होती है। इसलिए, अगर लंबे समय तक सिर्फ सेंधा नमक का ही इस्तेमाल किया जाए, तो इससे शरीर में आयोडीन की कमी हो सकती है, जो घेंघा रोग का भी कारण बन सकती है।

2. इसके अधिक सेवन से ब्लड प्रेशर के लेवल हाई हो सकते हैं।

3. सेंधा नमक की अधिक मात्रा सूजन का कारण बन सकती है।

4. इसके अलावा इसके ज्यादे इस्तेमाल से वॉटर रिटेंशन की भी समस्या हो सकती है


Edited by Ritu Raj
reaction-emoji

Comments

Fetching more content...