क्या है अस्थमा? जानिए इसके कारण, लक्षण और घरेलू उपचार

अस्थमा के कारण, लक्षण और घरेलू उपचार (फोटो - sportskeedaहिन्दी)
अस्थमा के कारण, लक्षण और घरेलू उपचार (फोटो - sportskeedaहिन्दी)

अस्थमा (Asthma) यानी कि दमा, सामान्य श्वास को प्रभावित करता है और यह स्थिति फेफड़ों से उत्पन्न श्वसन अव्यवस्था की वजह से होती है। अस्थमा के कारण व्यक्ति को साँस लेने में कठिनाई होती है। यह फेफड़ों में वायुमार्ग से जुड़ी एक बीमारी है। दमा होने पर श्वास नलियों में सूजन होकर श्वसन मार्ग सिकुड़ जाता है। इन वायुमार्गों यानी ब्रॉनकायल टयूब्स के माध्यम से हवा फेफड़ों के अन्दर और बाहर जाती है और अस्थमा में यह वायुमार्ग सूजे हुए रहते हैं। इस लेख में हम अस्थमा के कारण, लक्षण और घरेलू उपचार के बारे में चर्चा करेंगे।

क्या है अस्थमा? जानिए इसके कारण, लक्षण और घरेलू उपचार - Asthma Causes, Symptoms And Home Remedies In Hindi

अस्थमा के कारण : Causes Of Asthma In Hindi

- दमा से ग्रसित माता-पिता के बच्चों में दमा होने की संभावना भी बढ़ जाती है

- जिन लोगों को बचपन में वायरल संक्रमण का खतरा होता है, उन्हें दमा होने का खतरा अधिक होता है।

- अहितकार जीवाणु के पर्याप्त रूप से संपर्क में नहीं आने की वजह से शिशुओं में कमजोर प्रतिरोधी स्थिति उत्पन्न होती है और जिस वजह से बाद के वर्षों में बच्चें दमा की चपेट में आ जाते हैं।

- बार बार न सहने वाले पदार्थ, शरीर में थोड़ी सूजन या अन्य असुविधा का कारण बनने वाले पदार्थ के साथ नियमित संपर्क दमा की संभावना को बढ़ाता है।

अस्थमा के लक्षण : Symptoms Of Asthma In Hindi

- अस्थमा से पीड़ित व्यक्ति को बलगम वाली या सूखी खांसी होना सबसे आम लक्षण है। अस्थमा के शुरूआती लक्षण ही खांसी या सूखी खांसी होना है।

- सीने में जकड़न भी अस्थमा के ही लक्षण हैं। अस्थमा होने पर सीने में जकड़न हर उम्र के मरीज को महसूस होती है, इस दौरान सांस लेने में तकलीफ भी होती है और सांस लेते समय घरघराहट की आवाज भी आती है।

- अस्थमा से पीड़ित व्यक्ति को ठंडे मौसम में अधिक परेशानी होती है। साथ ही व्यायाम के दौरान उनकी तबियत और अधिक खराब होने लगती है।

- अस्थमा के रोगियो को सांस लेने में तकलीफ होती है जिसकी वजह से रोगी जोर-जोर से सांस लेते हैं, ऐसे में उन्हे थकान महसूस होती है। इतना ही नहीं कई बार तो स्थिति इतनी खराब हो जाती है और रोगी को उल्टी भी आने लगती है।

अस्थमा के लिए घरेलू उपचार (Home Remedies For Asthma In Hindi)

- अदरक का एक चम्मच ताजा रस, एक कप मेथी का काढ़ा और स्वादानुसार शहद इस मिश्रण में मिलाएँ। दमा के मरीजों के लिए यह मिश्रण लाभदायक है।

- 30ml दूध में लहसुन की पाँच कलियाँ उबालें और इस मिश्रण का हर रोज सेवन करने से अस्थमा का जड़ से इलाज होता है।

- अस्थमा से अनेक लोग पीड़ित रहते हैं। अगर आप भी अस्थमा से पीड़ित हैं तो आपके लिए बहुत ही आसान उपाय है। अस्थमा का जड़ से इलाज करने के लिए आप पानी में अजवाइन डालकर इसे उबालें और इस पानी से उठती भाप लें। यह अस्थमा का जड़ से इलाज करता है।

- मेथी के कुछ दानों को एक गिलास पानी के साथ तब तक उबालें जब तक पानी एक तिहाई न हो जाए। इस पानी में शहद और अदरक का रस मिलाकर रोज सुबह-शाम सेवन करें। यह अस्थमा का सफल उपचार का तरीका है।

- अस्थमा का जड़ से इलाज करने के लिए आप करेला का प्रयोग कर सकते हैं। करेला का एक चम्मच पेस्ट शहद और तुलसी के पत्ते के रस के साथ मिला कर खाने से अस्थमा में फायदा होता है।

- अस्थमा में कच्चे प्याज का सेवन लाभदायक होता है। प्याज में मौजूद सल्फर फेफड़ों की जलन और अन्य समस्याओं को कम करने में सक्षम होता है। प्याज अस्थमा का सफल उपचार करता है।

youtube-cover

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Edited by Vineeta Kumar