Create
Notifications

क्रोहन रोग का ये है आयुर्वेदिक इलाज - Crohn Rog ka ye hai Ayurvedic Ilaj

क्रोहन रोग का ये है आयुर्वेदिक इलाज
क्रोहन रोग का ये है आयुर्वेदिक इलाज
reaction-emoji
Ritu Raj
visit

क्रोहन रोग एक प्रकार का सूजन आंत्र रोग (आईबीडी) है। यह आपके पाचन तंत्र में सूजन का कारण बनता है, जिससे पेट में दर्द, दस्त, थकान, वजन कम होना और कुपोषण जैसी समस्या होती है। क्रोहन रोग के कारण होने वाली सूजन में लोगों में पाचन तंत्र से जुड़ी कई तरह की समस्याएं देखने को मिलती है। यह सूजन अक्सर आंत के अंदर तक फैल जाती है। क्रोहन रोग में काफी तेज दर्द भी हो सकती है। अगर इसका सही समय पर इलाज ना किया जाए तो जान को भी खतरा हो सकता है। हालांकि इसे दवाओं और आयुर्वेदिक इलाज के जरिए ठीक किया जा सकता है। ऐसे में आज हम आपको बताएंगे कि क्रोहन रोग का आयुर्वेदिक इलाज क्या है।

क्रोहन रोग के लक्षण-Crohn Rog ke lakshan in Hindi

क्रोहन रोग, आपकी छोटी या बड़ी आंत किसी भी हिस्से में हो सकती है। अलग अलग लोगों में इसके अलग अलग लक्षण देखने को मिलते हैं। क्रोहन रोग के लक्षण हल्के से लेकर गंभीर तक हो सकते हैं। इसके लक्षण धीरे धीरे देखने को मिलते हैं, लेकिन कभी-कभी अचानक से इसके लक्षण दिखने लगते हैं।

क्रोहण रोग होने पर ये लक्षण देखने को मिल सकते हैं-Crohn Rog hone par ye lakshan dekhne ko mil sakte hain in hindi

दस्त

बुखार

थकान

पेट दर्द और ऐंठन

आपके मल में रक्त

मुंह के छाले

भूख कम लगना और वजन कम होना

त्वचा में एक सुरंग से सूजन के कारण गुदा के पास या आसपास दर्द या पानी निकासी

क्रोहन रोग का आयुर्वेदिक इलाज-ayurvedic treatment for crohn's disease in hindi

हल्दी (ayurvedic treatment for crohn's disease is turmeric)

क्रोहन रोग में हल्दी काफी लाभकारी मानी गई है। हल्दी में मौजूद करक्यूमिन में एंटी-इन्फ्लामेट्री गुण पाचन तंत्र में सूजन और दर्द को कम करने में मदद करते हैं। साथ ही बड़ी और छोटी आंतों की लाइनिंग में दिखाई देने वाली फोड़े को भी कम करता है।

अदरक (Crohn's disease is cured by ginger)

अदरक कई बीमारियों की रामबाण दवा है। आयुर्वेद में अदरक का कई समस्याओं से छुटकारा पाने के लिए इस्तेमाल किया जाता है। इसके साथ ही क्रोहन रोग में भी अदरक असरकारी माना गया है। क्योंकि, अदरक में एंटी-इंफ्लेमेटरी और एंटीऑक्सीडेंट गुण पाए जाते हैं जो आंतों की सूजन को कम करते हैं और पाचन में मदद करते हैं।

गाजर (Carrot is beneficial in Crohn's disease)

पोषक तत्वों से भरपूर गाजर में एंटीऑक्सीडेंट पाए जाते हैं जो, क्रोहन की समस्या से छुटकारा दिलाने में काफी हद तक मदद कर सकते हैं। इसके साथ ही गाजर के सेवन से पाचन से जुड़ी समस्याओं से भी छुटकारा पाया जा सकता है। वहीं गाजर रोग प्रतिरोधक क्षमता को भी मजबूत बनाता है। क्रोहन रोग से पीड़ित मरीजों को इसका सेवन जरूर करना चाहिए।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।


Edited by Ritu Raj
reaction-emoji
Article image

Go to article
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now