Create

छोटे बच्चों को कब्ज होने पर खिलाएं लौकी, जानें 5 फायदे : Baccho Ko Kabj Hone Par Khilaye Loki

छोटे बच्चों को कब्ज होने पर खिलाएं लौकी, जानें 5 फायदे (फोटो - sportskeeda hindi)
छोटे बच्चों को कब्ज होने पर खिलाएं लौकी, जानें 5 फायदे (फोटो - sportskeeda hindi)

कई बार बच्चों को गैस और एसिडिटी की समस्या हो जाती है। ऐसे में लौकी का सेवन उनके लिए एक बेहतरीन विकल्प है। लौकी का इस्तेमाल (lauki benefits for toddlers) लंबे समय से पेट के इलाज में मदद करता है। लौकी के सेवन से थकान और शरीर की गर्मी को कम करने में मदद मिलती है। ये पेट को ठंडा करता है और शरीर को कई फायदे पहुंचाता है। तो, आइए जानते हैं बच्चों को लौकी खिलाने के फायदे।

बच्चों को लौकी कैसे खिलाएं?

1. बच्चों को लौकी का सूप पिलाएं।

2. आप बच्चों को मीठे के रूप में लौकी का हलवा और लौकी की खीर बना कर खिला सकते हैं।

3. साथ ही आप अपने बच्चों को लौकी की स्मूदी बना कर दे सकते हैं।

4. इसके अलावा अगर आपके बच्चे लौकी सब्जी पसंद नहीं करते तो उन्हें आप लौकी का पराठा बना कर खिलाएं

बच्चों के लिए लौकी के फायदे-Bottle gourd benefits in hindi

पेट के लिए फायदेमंद - लौकी पेट के लिए बहुत फायदेमंद होता है। बच्चों में पेट का इंफेक्शन और पेट दर्द की समस्या ज्यादा होती है। ऐसे में लौकी का फाइबर पाचन क्रिया को स्वस्थ रखता है और ये आंत के कीड़ों को मारने में मदद करता है।

लिवर के लिए फायदेमंद - कुछ बच्चों की लिवर बचपन से कमजोर होता है। ऐसे में बच्चों के लिए लिवर मजबूत करने में लौकी मददगार है। लौकी विटामिन सी से भरपूर है और लौकी खिलाने से विषाक्त पदार्थों को निकालने में मदद मिलती है।

यूरिन इंफेक्शन से बचाता है - शिशुओं में यूरिन इंफेक्शन काफी आम है। लौकी इस यूरिन इंफेक्शन को कम करने में मददगार है। लौकी शरीर में हाइड्रेशन को बढ़ता है जिससे यूरिन इंफेक्शन खतरा कम हो जाता है।

विटामिन और खनिजों से है भरपूर - लौकी विटामिन और खनिजों का एक अच्छा स्रोत है जैसे विटामिन सी, विटामिन बी, विटामिन ए, विटामिन ई, आयरन और फोलेट है जो बच्चे के विकास के लिए बेहद जरूरी है।

कब्ज और दस्त का इलाज करता है - लौकी के सेवन से शिशुओं में कब्ज और दस्त को कम करने में मदद मिलती है। साथ ही इसमें पानी की अच्छी मात्रा भी होती है।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Edited by Naina Chauhan
Be the first one to comment