मुंह के छालों के लिए बेस्ट है बहेड़ा : Muh Ke Chalo Ke Liye Best Hai Baheda

मुंह के छालों के लिए बेस्ट आयुर्वेदिक नुस्खा है बहेड़ा (फोटो - sportskeeda hindi)
मुंह के छालों के लिए बेस्ट आयुर्वेदिक नुस्खा है बहेड़ा (फोटो - sportskeeda hindi)

अक्‍सर लोगों को मुंह के छालों की समस्‍या हो जाती है। यह समस्या देखने में छोटी होती है, लेकिन दर्द से भरी होती है। ऐसे में मुंह में छालों की समस्‍या को दूर करने के ल‍िए आप बहेड़ा का इस्‍तेमाल कर सकते हैं। बहेड़ा मुख्‍य रूप से ये मैदानी और पहाड़ी क्षेत्र में पाए जाने वाला पेड़ है। जानते हैं छालों (अल्‍सर) की समस्‍या को दूर करने के ल‍िए बहेड़ा को इस्‍तेमाल करने का तरीका।

मुंह के छालों के लिए बेस्ट है बहेड़ा : Muh Ke Chalo Ke Liye Best Hai Baheda In Hindi

बहेड़ा के फूल का इस्‍तेमाल (Use of baheda flower) - बहेड़ा के फूल से अल्‍सर जैसी समस्‍या को दूर किया जा सकता हैं। इसके लिए पहले बहेड़ा के फूल और पत्‍तों को सुखा लें और म‍िक्‍सी में पीस लें। इसके बाद इससे जो चूर्ण तैयार होगा उसमें गुड़ म‍िला लें और इस चूर्ण को सुबह-शाम इस्‍तेमाल करें। इससे अल्‍सर की समस्‍या या कफ की समस्‍या दूर होगी।

बहेड़ा के बीज का इस्‍तेमाल (Use of baheda seed) - बहेड़ा के सूखे फलों के बीज का इस्‍तेमाल आप अल्‍सर (Ulcer) की समस्‍या को दूर करने के ल‍िए कर सकते हैं। इसके लिए बहेड़ा के बीज को पीस लें और अल्‍सर पर लगाएं। इससे अल्‍सर के दर्द और आसपास के ह‍िस्‍से में नजर आ रही सूजन से राहत म‍िलेगी।

बहेड़ा की छाल का पेस्‍ट (Baheda bark paste) - मुंह के अल्‍सर को ठीक करने के लिए बहेड़ा की छाल का पेस्‍ट बनाकर उसे लगाएं। इससे अल्सर ठीक होने लगेगा और सूजन कम होगी।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Edited by Naina Chauhan