हल्दी के फायदे और नुकसान - Haldi ke fayde aur nuksan

जानिए क्या है हल्दी के फायदे और नुकसान
जानिए क्या है हल्दी के फायदे और नुकसान

हल्दी का सेवन करना हर तरह से सेहत के लिए फायदेमंद होता है। हल्दी चोट, घावों, सूजन, इंफेक्शन, सर्दी जुकाम आदि को दूर करने के साथ ही कई और समस्याओं के उपयोग में ली जाती है। वहीं, कच्ची हल्दी को दूध में उबालकर पीने रोग प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत करने का सबसे आसान घरेलू उपाय माना गया है। हालांकि, हर किसी को हल्दी के फायदे नहीं मिल पाते। कई लोगों को इससे नुकसान भी होता है। ऐसे में कई ऐसी हेल्थ से जुड़ी समस्या है जिसमें हल्दी नुकसान पहुंचा सकता है।

हल्दी के औषधीय गुण (medicinal properties of turmeric)

हल्दी में विटामिन सी, विटामिन बी 6, आयरन, कैल्शियम, डाइटरी फाइबर, सोडियम, प्रोटीन, जिंक, मैग्नीज, पोटैशियम पाए जाते हैं जो सेहत के लिए बेहद ही फायदेमंद होते हैं। इसके साथ ही हल्दी में एक बहुत जरूरी तत्व करक्यूमिन पाया जाता है जो हेल्दी बनाने में मदद करता है।

हल्दी के फायदे Benefits of Turmeric in Hindi

इम्यून सिस्टम

इम्यून सिस्टम को मजबूत करने के लिए हल्दी काफी फायदेमंद होती है। हल्दी में मौजूद करक्यूमिन नामक कंपाउंड इम्युनोमॉड्यूलेटरी प्रभाव प्रदर्शित कर सकता है, जो इम्यून सिस्टम को स्वस्थ रखने वाले टी और बी सेल की कार्यप्रणाली में सुधार करने में मददगार साबित हो सकता है।

एंटीबैक्टीरियल और एंटीसेप्टिक गुण

एक शोध की मानें तो हल्दी में एंटीसेप्टिक और एंटी बैक्टीरियल गुण पाए जाते हैं, जो संक्रमण से बचाने में काफी मदद करते हैं।

एंटी इंफ्लामेटरी गुण

सूजन संबंधी समस्याओं से राहत दिलाने में हल्दी काफी उपयोगी मानी गई है। एक शोध में बताया गया है कि, हल्दी में एंटी इंफ्लामेटरी गुण मौजूद होते हैं, जो सूजन से राहत दिलाने में उपयोगी होते हैं।

कैंसर से लड़ने के गुण

कई अध्ययन में यह भी पाया गया है कि हल्दी में मौजूद करक्यूमिन नामक यौगिक में एंटी-कैंसर गुण पाया जाता है। यह गुण कई तरह के कैंसर, जैसे प्रोस्टेट कैंसर, स्तन कैंसर, पेट के कैंसर और अग्नाशय के कैंसर के जोखिम को कम करने में सहायक हो सकता है।

हल्दी के नुकसान Side Effects Of Turmeric in hindi

पथरी के रोग

पथरी की समस्या होने पर हल्दी का सेवन नहीं करने की सलाह दी जाती है। इससे ये समस्या और भी बढ़ सकती है। इसलिए कहा जाता है कि इस समस्या में डॉक्टर की सलाह लेने पर ही हल्दी का सेवन करना चाहिए।

डायबिटीज के मरीज

डायबिटीज के मरीजों को भी हल्दी की सीमित मात्रा में सेवन करने की सलाह दी जाती है। डायबिटीज के रोगियों को ब्लड शुगर को कंट्रोल करने और खून को पतला करने वाली दवाएं दी जाती हैं। ऐसे में हल्दी का ज्यादा सेवन करने से शरीर में खून की मात्रा कम हो सकती है।

नाक से खून

हल्दी खून का थक्का जमने की प्रक्रिया को धीमा करता है। ऐसे में जिन्हें अचानक नाक या शरीर के दूसरे हिस्सों से खून बहने की समस्या हो उन्हें हल्दी का सेवन कम ही करना चाहिए।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।