कब्ज में करी पत्ते खाने के फायदे

कब्ज में करी पत्ते खाने के फायदे (sportskeeda Hindi)
कब्ज में करी पत्ते खाने के फायदे (sportskeeda Hindi)

करी पत्ते का इस्तेमाल अक्सर लोग खाने में इस्तेमाल करते हैं। करी पत्ता खाने को स्वादिष्ट बनाने के साथ-साथ कई तरह की बीमारी से छुटकारा भी दिलाता है। करी पत्ते में विटामिन सी, फास्फोरस, आयरन और कैल्शियम आदि की पर्याप्त मात्रा होती है, जो शरीर को हेल्दी रखने में मदद करते हैं। आयुर्वेद में भी करी पत्ते का इस्तेमाल कई बीमारियों में औषधि के रूप में किया जाता है। कब्ज की समस्या में करी पत्ते का सेवन रामबाण माना जाता है। आइए जानते हैं कब्ज में करी पत्ते खाने के फायदे।

youtube-cover

कब्ज में करी पत्ते के फायदे- Curry Leaves Benefits in Constipation in Hindi

करी पत्ते में कई ऐसे गुण पाए जाते हैं जो शरीर की कई गंभीर समस्याओं से छुटकारा दिलाने में बहुत फायदेमंद होते हैं। अगर किसी को पेट और पाचन से जुड़ी परेशानी है तो इसे दूर करने के लिए करी पत्ते का नियमित रूप से सेवन करना बहुत फायदेमंद होता है। ऐसा इसलिए क्योंकि इसमें मौजूद एंटी-बैक्टीरियल गुण पेट में इन्फेक्शन की समस्या को दूर करते हैं। इसके अलावा करी पत्ते में मौजूद कर्मिनेटिव गुण कब्ज से छुटकारा दिलाने में बहुत उपयोगी माने जाते हैं। वहीं, अगर किसी के पेट में सूजन, डायरिया और अपच जैसी परेशानी हो तो इसके लिए भी करी पत्ते का सेवन बहुत फायदेमंद माना जाता है। करी पत्ते में मौजूद एंटी-बैक्टीरियल, कर्मिनेटिव और एंटी-ऑक्सीडेंट गुण पेट से जुड़ी परेशानियों से छुटकारा दिलाने में बहुत उपयोगी होते हैं।

कब्ज की समस्या में कैसे करें करी पत्ते का सेवन?- How To Use Curry Leaves in Constipation in Hindi

कब्ज की समस्या होने पर करी पत्ते का सेवन आप कई तरीके से कर सकते हैं। कब्ज की परेशानी में मलत्याग करने में परेशानी के साथ पेट में दर्द और अपच की समस्या हो सकती है। ऐसे में रोजाना सुबह के समय 8-10 करी पत्ते को साफ करके पानी में उबालें। फिर अच्छी तरह से उबालने के बाद इसका सेवन करें। कुछ दिनों तक ऐसा करने से कब्ज की समस्या में बहुत फायदा मिलेगा।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Edited by Naina Chauhan