लहसुन की कली खाने के फायदे - Lahsun ki kali Khane ke fayde

ये है लहसुन की कली खाने के बेमिसाल फायदे
ये है लहसुन की कली खाने के बेमिसाल फायदे

Benefits of Eating Garlic Cloves in hindi: स्वादिष्ट खाने में हम लहसुन का खूब इस्तेमाल करते हैं। लहसुन का पेस्ट के तौर पर या फिर इसकी कली का भी सेवन करते हैं। अगर नियमित रूप से लहसुन के कली का सेवन किया जाए तो कई सारी बीमारियों से दूर रहा जा सकता है। लहसुन में कई सारे पोषक तत्व पाए जाते हैं। इसमें एलकिन नामक औषधीय तत्व होते हैं जिनमें, एंटीऑक्सीडेंट, एंटीफंगल और एंटीवायरल गुण पाए जाते हैं। लहसुन में विटामिन-B और विटामिन-ण पर्याप्त मात्रा में पाया जाता है। साथ ही इसमें सेलेनियम, मैगनीज कैल्शियम जैसे भी तत्व पाए जाते हैं।

लहसुन की कली खाने के फायदे

पाचन क्रिया रहेगी मजबूत (Digestion will remain strong)

नियमित रूप से खाली पेट लहसुन का सेवन करने से पाचन क्रिया मजबूत बनी रहती है। इसके सेवन से भोजन आसानी से पच जाते हैं। इसके सेवन से पाचन विकार की समस्या नहीं होती है। साथ ही वजह भी कंट्रोल में रहता है।

लहसुन शरीर को करे डिटॉक्सीफाई (Garlic detoxifies the body)

शरीर को डिटॉक्सीफाई करने के लिए लहसुन अच्छा विकल्प है। नियमित रूप से लहसुन के कली का सेवन करने से शरीर से विषाक्त पदार्थ आसानी से बाहर निकल जाता है। साथ ही डायबिटीज और कैंसर जैसी बीमारियों से दूर रहते हैं।

डायबिटीज रोगियों के लिए फायदेमंद है लहसुन (Garlic is beneficial for diabetics)

आजकल गलत खानपान और अनियमित लाइफस्टाइल के चलते कई सारी बीमारियां तेजी से लोगों को अपनी चपेट में ले रही हैं। डायबिटीज भी उसमें से एक है जो इन दिनों कम उम्र में भी हो जा रही है। ऐसे में सुबह खाली पेट लहसुन के सेवन आपके शरीर में रक्त शर्करा का स्तर बैलेंस में रहता है। इससे डायबिटीज जैसी बीमारियों से बच सकते हैं।

सर्दी खांसी में लहसुन के फायदे (Benefits of garlic in cold cough)

लहसुन के सेव से सर्दी खांसी दूर रहती है। साथ ही जुकाम और अस्थमा जैसी बीमारी भी नहीं होती है। इसके लिए नियमित रूप से लहसुन की कली का खाली पेट सेवन करना चाहिए।

कोलेस्ट्रॉल रहता है कंट्रोल (Cholesterol remains under control)

लहसुन में कई सारी औषधीय गुण होते हैं जो हमारी कोलेस्ट्रॉल को सही रखने में मदद करते हैं। अगर नियमित रूप से खाली पेट सेवन करें तो शरीर में खराब कोलेस्ट्रॉल ठीक हो जाता है। जिसके चलते हृदय संबंधित बीमारियों से बच सकते हैं।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Edited by Ritu Raj