बरगद के दूध के फायदे और नुकसान - Bargad Ke Dudh Ke Fayde Aur Nuksan

बरगद के दूध के फायदे और नुकसान ( फोटो - Sportskeeda Hindi )
बरगद के दूध के फायदे और नुकसान ( फोटो - Sportskeeda Hindi )

पुराने समय से बरगद के पेड़ (Banyan Tree) से जुड़ी कई बातें हमने सुनि होंगी। इस पेड़ को अधिकतर लोग पूजा के कार्य में लाते हैं। ये पेड़ से जुड़ी कई मान्यताएं भी हैं। लेकिन कम ही लोग जानते होंगे कि इस पेड़ को बहुत से आयुर्वेदिक दवाइयों के उपयोग में भी लिया जाता है। ये पेड़ बहुत सी बीमा रीको खत्म करने के काम भी आता है। यही नहीं इस पेड़ के पत्तों से लेकर जड़ो तक आयुर्वेद में ये बहुत उपयोगी होता है। जिस तरह से बरगद के पेड़ की हर चीज काम में आती है उसी तरह बरगद से निकलने वाला दूध भी बहुत काम का होता है। इसके दूध के सेवन से बहुत सी बीमारियों में फायदा मिलता है। आइए जानते हैं बरगद के पेड़ के दूध के फायदे और नुकसान।

बरगद के पेड़ के दूध के फायदे

वात पित्त और कफ में फायदेमंद (Beneficial in Vata, Pitta and Kapha) - बरगद के पेड़ से निकला दूध थंडर तासीर का होता है। ये शरीर की गर्मी को निकालने में मदद करता है। इसके सेवन से शरीर में हुए वात पित्त कफ के दोष को दूर करने में मदद मिलती है।

स्किन का रखें रोगमुक्त (keep skin disease free) - बरगद के पेड़ का दूध शरीर से सभी विषाक्त पदार्थों को दूर करता है। ये चेहरे पर हुई फुंसी और दाग धब्बे को ठीक करता है। इससे खून भी साफ होता है।

हड्डियों को बनाए मजबूत (keep bones strong) - बरगद के पेड़ के दूध में कैल्शियम की मात्रा होती है जिससे हड्डियां मजबूत होती हैं। इसके दूध में एंटीबायोटिक गुण मौजूद होते हैं। जो शरीर को वायरस से बचाता है।

चोट पर लगाएं इसका दूध (Milk for bruises) - बरगद के पेड़ का दूध कसेला और तासीर में ठंडा होता है। जिसको चोट वाली जगह पर लगाने से खून आना बंद हो जाता है।साथ ही कटी फटी जगह को ये जल्दी भरने में मदद करता है।

बरगद पेड़ के दूध से होने वाला नुकसान

बरगद के पेड़ का दूध उन लोगों को सेवन नहीं करना चाहिए, जिन्हें किसी प्रकार की एलर्जी रहती है। या इसके इस्तेमाल करने से कोई एलर्जी होने लगे। अगर आप किसी भी प्रकार की दवा का इस्तेमाल कर रहे हैं, तो इसके इस्तेमाल से पहले एक बार डॉक्टर से संपर्क जरूर करें, ताकि इसका किसी भी प्रकार का कोई दुष्प्रभाव देखने को न मिले।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Edited by Shilki