होम्योपैथिक के फायदे - Benefits of Homeopathy 

होम्योपैथिक के फायदे - Benefits of Homeopathy
होम्योपैथिक के फायदे - Benefits of Homeopathy

होलिस्टिक दृष्टिकोण (Holistic approach) से, प्रत्येक रोगी अलग होता है और इसके लिए व्यक्तिगत मूल्यांकन (Assessment) और उपचार (treatment) की आवश्यकता होती है। होम्योपैथी एकमात्र औषधीय उपचार है जो किसी भी बीमारी के इलाज में ज़रूरी सभी आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए मौजूद है। होम्योपैथी पारंपरिक चिकित्सा (Conventional medicine) से अलग है, इसमें रोगी की भावनाओं और व्यक्तित्व को अत्यधिक महत्व दिया गया है। होम्योपैथ चिकित्सक के लिए रोगी के साथ उनके तनाव के स्तर, व्यक्तिगत विशेषताओं, पारिवारिक चिकित्सा इतिहास (Family medical history) आदि के बारे में गहराई से जांच-पड़ताल करता है। ताकि ज़रुरत के अनुसार उपचार समय से किया जा सके। रोगी की स्थिति के आधार पर दवाओं को आमतौर पर एक नियमित पावर तक डायलुट (Dilute) किया जाता है। यह बाकी दवाओं की तुलना में पैसो के मामले में सस्ता और असरदार भी है। वर्ल्ड हेल्थ आर्गेनाईजेशन (WHO) के अनुसार दुनिया की दूसरी सबसे बड़ी चिकित्सीय प्रणाली के रूप में मान्य है।

होम्योपैथिक औषधियों में प्रयोग होने वाले प्राकृतिक पदार्थ – Natural substances used in homeopathy medicines

ताजा/सूखी जड़ी-बूटियां (Shrubs-herbs), एक्टिवेटिड चारकोल (activated charcoals), विनेगर (vinegar), कैफीन, सफेद आर्सेनिक (white arsenic), इवी (Poisonous Ivy), कुछ अन्य पौधे।

इन स्वास्थ्य समस्याओं में सबसे अधिक प्रयोग – Commonly used in these health problems

डिप्रेशन, एलर्जी, अस्थमा, माइग्रेन, तनाव सिरदर्द, पाचन समस्याएं, एंग्जायटी डिसऑर्डर्स (anxiety disorder), स्किन डिसऑर्डर्स (skin disorder), डर्मेटाइटिस (dermatitis), गठिया (arthritis), थकान, थायरॉयड, पीसीओडी/पीसीओएस (PCOD/PCOS) आदि उन स्वास्थय समस्याओं में से हैं जिनका इलाज होमियोपैथी में पूरी तरह से है।

होम्योपैथी के कुछ लाभ – Some benefits of homeopathy

  1. व्यक्तिगत रूप से रोगी के हर पहलु को ध्यान में रख कर उसका इलाज किया जाता है, हर रोगी का शरीर अलग होता है उनका इलाज भी अलग ही होता है।
  2. नेचुरल उत्पादों की कम डोज़ का उपयोग किया जाता है और दवाओं को रोगी की हालत के हिसाब से फेरबदल कर इलाज किया जाता है।
  3. अंदर से एलर्जी का इलाज करने में मदगार - होम्योपैथी रोगी को धैर्य से समझ के ही किसी भी एलर्जी का उपचार करती है ताकि वे अंदरूनी समस्या तक पहुंच सके, कभी-कभी इसमें समय भी लग सकता है।
  4. होम्योपैथी पेनकिलर के रूप में - दर्द कम करने और जड़ से ख़तम करने होमियोपैथी एक सुरक्षित उपाय है।
  5. साइड इफेक्ट से सुरक्षित - होम्योपैथी के कोई भी साइड इफ़ेक्ट ना होने की वजह से वे एक सफल उपाय के रूप में उभरता है।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Edited by Vineeta Kumar