Create
Notifications

अस्थमा अवलेह के फायदे- Asthma Awaleha ke fayde 

अस्थमा अवलेह के चौंकाने वाले फायदे
अस्थमा अवलेह के चौंकाने वाले फायदे
Ritu Raj
visit

अस्थमा (दमा) सांस से जुड़ी बीमारी है। सांस की नली में सूजन या संकुचन होने के चलते मरीज को सांस लेने में तकलीफ होती है। फेफड़ों पर दबाव व सांस फूलने लगती है। खांसी व सीने में जकड़न के साथ ही सोते वक्त घर्र-घर्र की आवाज भी आती है। अस्थमा किसी भी उम्र में हो सकती है। कई दिनों तक जुकाम, खांसी या सांस लेने में दिक्कत की वजह से संक्रमण होता है। शरीर जब बार-बार एलर्जी वाली चीजों से संपर्क में आता है तो अस्थमा का अटैक होता है। अस्थमा के प्रभाव को भी कई घरेलू उपचार के जरिए कम किया जा सकता है। इसके साथ आयुर्वेद में भी इसका इलाज संभव है। ऐसे ही एक दवा है जिसका नाम है अस्थमा अवलेह (Asthma Awaleha kaise karti hai kaam) जो काफी कारगर मानी गई है।

आगे बढ़ने से पहले बताते चलें कि, अस्थमा के मरीजों को सिर्फ दवा पर ही निर्भर नहीं रहना चाहिए। इलाज के साथ-साथ एक्सरसाइज और योग (Exercise and yoga for Asthma) को भी अपने नियमित जीवन में शामिल करें। इससे काफी आराम मिलता है। साथ ही नेचुरल डाइट लें, जैसे- फल, कच्ची सब्जियां,सलाद, अंकुरित भोजन आदि।

अब अस्थमा अवलेह (Amastha Awaleha) की बात करें तो इसे स्वांस रोगों में अत्यंत लाभकारी माना गया है। इसमें कई सारी ऐसी जड़ी-बूटियां मिलाकर बनाई जाती हैं जो अस्थमा और सांस संबंधी समस्याओं से बचाने में मदद करती हैं।

अस्थमा अवलेह लेने से इन समस्याओं से मिलती है राहत |Amastha Awaleha Benefits

-इसके सेवन से सांस फूलने की समस्या से छुटकारा मिल सकता है।

-सीने में जकड़न की समस्या दूर हो सकती है।

-एलर्जी होने की संभावना कम होते जाती है।

-इम्यूनिटी के लिए भी फायदेमंद है।

-फेफड़े के इंफेक्शन से बचाती है।

इन जड़ी-बूटियों को मिलाकर बनाया जाता है अस्थमा अवलेह (Asthma Awaleha is prepared by mixing these herbs)वासा, कंटकारी, यष्टिमधु, दशमूल, भृंग, पुष्करमूल, कचूर, बहेड़ा, हल्दी, चित्रक, गाजबान, गिलोय, लिसोड़ा, तुलसी, मुस्तक, बबूलछाल, काकड़ासिंगी, सोंठ, मरीच, पीपली, रुदन्ति, दालचीनी, लॉन्ग, इलायची, तेजपत्ता, केसर, आमला पिष्टी, पूह, स्टक, और शीशम का तेल मिलाकर अस्थमा अवलेह को तैयार किया जाता है।

कैसे करें इस्तेमाल | How to use Amastha Awaleha

अस्थमा मरीजों को एक अस्थमा अवलेह को गुनगुने पानी में मिलाकर सेवन करने की सलाह दी जाती है। इसके लिए एक चम्मच अस्थमा अवलेह को गुनगुने पानी में मिलाकर पीने से फायदा होगा। इसका इस्तेमाल बच्चे और बड़े दोनों ही कर सकते हैं। इसके साथ ही इसका कोई साइड इफेक्ट भी नहीं बताया गया है।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।


Edited by Ritu Raj
Article image

Go to article
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now