Create

बबूल का गोंद खाने के 3 फायदे: Babul Ka Gond Khane Ke 3 Fayde 

फोटो- healthunbox
फोटो- healthunbox

बबूल का इस्तेमाल बहुत पहले के समय से होता आ रहा है। लेकिन क्या आप बबूल के गोंद से होने वाले लाभ जानते हैं। बबूल का पेड़ जितना फायदेमंद हैं उतना ही इसके पेड़ से निकलने वाला गोंद भी होता है। लोग अक्सर बबूल गोंद को साधारण पेड़ समझ लेते हैं, लेकिन इसके हर हिस्से का इस्तेमाल आयुर्वेदिक दवा और घरेलू उपचार में किया जाता है। इस पेड़ के गोंद से व्यक्ति को कई लाभ मिलते हैं। जानते हैं बबूल गोंद से मिलने वाले फायदे।

बबूल गोंद में पाए जाने वाले पोषक तत्‍व – Babul Gond Mein Paye Jane Wale Poshak Tatva in Hindi

बबूल गोंद में कई तरह के औषधीय गुण पाए जाते हैं। यह गुण स्‍वास्‍थ्‍य समस्‍याओं को दूर करने के लिए उपयोगी होते हैं। बबूल गोंद में कई तरह के पोषक तत्‍वों पाए जाते हैं जैसे कि गैलेक्‍टोज, ग्लुको रोनिक एसिड, आरबीनोगलैक्‍टन-प्रोटीन कॉम्‍प्‍लेक्‍स, ग्लाइकोप्रोटीन आदि चीजे शामिल होती हैं। इन पोषक तत्‍वों के अलावा इसमे बहुत से एंटीऑक्‍सीडेंट गुण भी शामिल हैं।

बबूल गोंद के फायदे - Babul Gond Ke Fayde In Hindi

कैंसर की रोकथाम के लिए - अगर आप बबूल गोंद को सामान्‍य गोंद समझते हैं तो ऐसी गलती न करें, क्योंकि यह शरीर के कोलेस्‍ट्रॉल को नियंत्रित करने में मदद करता है। वहीं बबूल गोंद कैंसर की बीमारी की रोकथाम करने में मदद करता है। बबूल गोंद में उपस्थित एंटीऑक्‍सीडेंट (Antioxidant) व्यक्ति द्वारा खाये जाने वाले खाद्य पदार्थों द्वारा आने वाले हानिकारक जीवाणुओं को नष्‍ट करके कैंसर की संभावना को कम करते हैं।

शुगर की बीमारी में - अगर किसी व्यक्ति को शुगर की बीमारी है तो, इसके लिए बबूल गोंद फायदेमंद है। शुगर के मरीजों को अक्सर खाने के बाद भी भूख लगती है। इस समस्या से छुटकारा पाने के लिए बबूल गोंद फायदेमंद है। बबूल गोंद में उपथित फाइबर भूख को संतुष्‍ट करने में मदद करते हैं, और आपके खाने की आदत को नियंत्रित करते हैं।

पुरुषों के यौन स्‍वास्‍थ्‍य के लिए - हर पुरुष को अपनी सेहत का ध्यान रखना चाहिए। वहीं बात अगर पुरुषों के यौन स्‍वास्‍थ्‍य की करें तो इसके लिए बबूल की गोंद बहुत ही फायदेमंद होती है। इसके सेवन से किसी प्रकार की हानि नहीं होती।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Edited by Naina Chauhan
Be the first one to comment